बनभूलपुरा में सुबह से शाम तक मतदाताओं का हुजूम, जमकर हुई वोटिंग

हल्द्वानी, जेएनएन : बनभूलपुरा में सुबह से शाम तक पोलिंग बूथों के अंदर पुरुष व महिला मतदाताओं का हुजूम उमड़ा। तीन केंद्रों में सात बजे मतदान प्रक्रिया खत्म हो पाई। इस दौरान मतदान केंद्रों पर प्रत्याशियों व समर्थकों का जमावड़ा लगा रहा। लोगों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए कई बार पुलिस को हल्का बल भी प्रयोग करना पड़ा।

बनभूलपुरा क्षेत्र में कुल 15 वार्डों के लिए 15 मतदान केंद्र व 54 बूथ बनाए गए थे। प्रशासन ने सभी केंद्रों को अति संवेदनशील घोषित किया गया था। इस नाते रात में ही केंद्रों में भारी पुलिस बल पहुंच गया था। सुबह सात बजे से ही बूथों के बाहर लाइनें लगनी शुरू हो गई थीं। ठीक आठ बजे मतदान शुरू कराया गया। जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया, लोगों की भीड़ बढ़ती गई। 10 बजे तक मतदान केंद्रों के बाहर व भीतर भीड़ जुट गई थी। देर शाम तक यह सिलसिला जारी रहा। भीड़ अधिक होने के कारण मदरसा नैनीताल पब्लिक स्कूल इंदिरानगर, गांधीनगर व ललित महिला इंटर कालेज में छह बजे बाद तक मतदान होता रहा। गांधीनगर के केंद्र में सात बजे मतदान प्रक्रिया समाप्त हो सकी।

देवलचौड़ में मतदान केंद्र के बाहर भिड़े पार्षद प्रत्याशी

देवलचौड़ चौराहे पर स्थित प्राइमरी स्कूल में बने मतदान केंद्र के बाहर पार्षद पद के दो प्रत्याशियों में भिड़ंत हो गई। बहस के बाद गालीगलौज होने पर मारपीट की नौबत आ गई। दोनों के समर्थकों ने बीच-बचाव कर मामला शांत कराया।

ग्रामीण नए वार्डों में शाम को उमड़ी भीड़

नगर निगम में शामिल नए ग्रामीण वार्डों में सुबह की अपेक्षा शाम को मतदाताओं की अधिक भीड़ रही। यहां भी सुबह ही मतदाताओं ने पहुंचना शुरू कर दिया था लेकिन दो बजे के बाद इनकी संख्या तेजी से बढ़ी। शाम पांच बजे तक मतदाता वोट देने पहुंचते रहे। जिस कारण कई केंद्रों में मतदान प्रक्रिया पूरी कराने में छह बजे गए।

तीन बूथों के भीतर प्रत्याशियों के प्रचार से हंगामा

बनभूलपुरा के लाइन नंबर 17 स्थित राजकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय, राजकीय बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यायल में प्रत्याशियों के मतदान केंद्र के भीतर जाकर प्रचार करने पर जमकर हंगामा हुआ। डीएम-एसएसपी के सामने प्रत्याशी व समर्थक एक-दूसरे पर केंद्र के भीतर प्रचार करने का आरोप लगाने लगे। इससे प्रत्याशियों की आपस में व पुलिसकर्मियों से नोकझोंक भी हो गई। अफसरों के सामने हंगामा करने पर पुलिस ने प्रत्याशियों को केंद्रों से बाहर निकाला। केंद्रों के बाहर भी दिनभर पुलिसकर्मी गेट के आगे से प्रत्याशियों व समर्थकों को खदेड़ते रहे। राजकीय बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में एसएसपी ने एक युवक को प्रचार करते पकड़ लिए। एसएसपी के आदेश पर उसका शांतिभंग में चालान किया गया। ललित महिला स्कूल के मतदान केंद्र में प्रचार करते मिले एक युवक को पकड़कर बनभलपुरा थाने लाया गया, हालांकि बाद में उसे हिदायत देकर छोड़ दिया गया। 

एसएसपी बोले, आपको कोई डरा तो नहीं रहा

बनभूलपुरा क्षेत्र में भ्रमण के दौरान एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी ने मतदाताओं से भी बातचीत की। उन्होंने मतदाताओं से निर्भीक होकर मतदान करने की अपील करने के साथ ही किसी व्यक्ति के डराने-धमकाने पर पुलिस से शिकायत करने की अपील की। उन्होंने खुद भी लोगों से पूछा कि कोई उन्हें डरा तो नहीं रहा है।

जाते समय पकड़े पैर, लौटने पर बने अनजान

मतदान केंद्रों के बाहर प्रत्याशी व समर्थक हाथ जोडऩे से लेकर पैर पकड़कर अपना चुनाव चिह्न और चिह्न संख्या बताकर वोट की अपील करते रहे। वहीं अधिकांश बूथों पर मतदान केंद्रों से लौटते समय प्रत्याशियों व समर्थकों ने मतदाताओं को भाव नहीं दिया। वापस लौटने के दौरान मतदाताओं से अनजानों की तरह व्यवहार दिखाई दिया।

बुजुर्गों में भी मतदान को लेकर उत्साह

युवाओं के साथ बुजुर्गों में भी मतदान को लेकर उत्साह देखा गया। सभी केंद्रों पर बुजुर्ग मतदान करने आते दिखे। उन्हें सहारा देकर परिजन बूथों तक पहुंचा रहे थे।

वोट देकर मुरादाबाद रवाना हुआ दूल्हा

मतदान का महादान करने के लिए दूल्हे भी जागरूक थे। इंदिरानगर के ठोकर के पास रहने वाले सैबी सैफी का रविवार को मुरादाबाद में निकाह था। बारात लेकर निकले सैबी पहले राजकीय इंटर कॉलेज बनभूलपुरा पहुंचे और मतदान किया। इसके बाद वह मुरादाबाद के लिए रवाना हुए। सजे-धजे दूल्हे का मतदान करने आना पूरे दिन क्षेत्र में चर्चा का विषय बना रहा। वहीं सैबी के मतदान को काफी सराहना भी मिली।

बैलेट पेपर को गलत मोडऩे पर सुमित का हंगामा

नैनीताल रोड स्थित एमबीपीजी कॉलेज में कई वार्डों के मतदान हो रहे थे। यहां बूथ नंबर दो में वार्ड सात मल्ला गोरखपुर के लिए मतदान किया जा रहा था। मतदान कर्मी के बैलेट पेपर को गलत तरीके से मोड़कर देने से स्याही दूसरी जगह भी लग रही थी। इसका पता लगने पर कांग्रेस के मेयर प्रत्याशी सुमित हृदयेश ने बूथ पर पहुंचकर जमकर हंगामा काटा। उन्होंने प्रशासनिक अमले के भाजपा की शह पर काम करने का आरोप लगाया। हंगामे की सूचना पर एडीएम हरबीर सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट पंकज उपाध्याय के साथ भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा। सिटी मजिस्ट्रेट ने बैलेट पेपर को गलत तरीके से मोडऩे की पुष्टि होने पर मतदान कर्मी को बदलकर दूसरा कर्मी बैठाया। इस दौरान करीब आधा घंटा बूथ में अफरा-तफरी मची रही।

जोगेंद्र के सीधे बूथ आकर मतदान करने पर अनिल का हंगामा

काठगोदाम बालिका स्कूल में बने मतदान केंद्र में मेयर पद के निर्दलीय प्रत्याशी अनिल कुमार सिंह ने भाजपा प्रत्याशी जोगेंद्र रौतेला पर बूथ के भीतर चुनाव प्रचार करने व बिना लाइन लगाए वोट डालने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। इससे बूथ पर अफरा-तफरी रही। बीएलओ व सुरक्षाकर्मियों के समझाने पर अनिल कुमार सिंह शांत हुए। इसके बाद अनिल को भी बाहर भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें : निकाय चुनाव में कांग्रेस व भाजपा के दिग्गजों की प्रतिष्ठा भी दांव पर

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.