पीएनबी के ग्राहकों को लेनी होगी नई चेकबुक, कुमाऊं में 50 हजार हजार ग्राहकों पर पड़ेगा असर

पीएनबी के ग्राहकों को लेनी होगी नई चेकबुक, कुमाऊं में 50 हजार हजार ग्राहकों पर पड़ेगा असर

पीएनबी यानी पंजाब नेशनल बैंक नए वित्तीय वर्ष से अपनी सेवाओं में बदलाव करने जा रहा है। एक अप्रैल से पीएनबी के ग्राहकों को रुपये ट्रांसफर करने के लिए नए आइएफएससी व एमआइसीआर कोड की जरूरत होगी। पुराने कोड नए वित्तीय वर्ष से काम नहीं करेंगे।

Publish Date:Tue, 26 Jan 2021 06:29 AM (IST) Author: Skand Shukla

जागरण संवाददता, हल्द्वानी : पीएनबी यानी पंजाब नेशनल बैंक नए वित्तीय वर्ष से अपनी सेवाओं में बदलाव करने जा रहा है। एक अप्रैल से पीएनबी के ग्राहकों को रुपये ट्रांसफर करने के लिए नए आइएफएससी व एमआइसीआर कोड की जरूरत होगी। पुराने कोड नए वित्तीय वर्ष से काम नहीं करेंगे। बैंक ने इसके लिए ग्राहकों को जागरूक करना शुरू कर दिया है। पिछले साल एक अप्रैल को ओरिएंटल बैंक आफ कामर्स व यूनाइटेड बैंक आफ इंडिया का पीएनबी में विलय हो गया था। हल्द्वानी में विलय वाले दोनों बैंक के करीब 20 हजार ग्राहकों पर इसका असर पड़ेगा, जबकि कुमाऊं में 50 हजार से अधिक ग्राहक इसके दायरे में आएंगे।

अपनी बैंक शाखा से प्राप्त करें नई चेक बुक
पीएनबी हल्द्वानी के मुख्य शाखा प्रबंधक अशोक तिवारी ने बताया कि मुख्यालय ने इंटरनेट मीडिया के माध्यम से भी ग्राहकों को जागरूक करने का काम किया है। सभी बैंकों को बैंक में आने वाले ग्राहकों को इससे अवगत कराने को कहा जा रहा है। नए नियम के मुताबिक ओरिएंटल बैंक आफ कामर्स और यूनाइटेड बैंक आफ इंडिया की पुरानी चेकबुक, आइएफएससी व एमआइसीआर कोड 31 मार्च तक ही काम करेंगे। इससे पहले ग्राहकों को अपने बैंक से नया कोड व चेकबुक प्राप्त करना होगा। ग्राहक सुविधा के लिए बैंक ने दो टोल फ्री नंबर जारी किए हैं। तिवारी ने बताया कि ग्राहक 18001802222 व 18001032222 पर फोन कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

बैक की पासबुक भी नई लेनी होगी
पीएनबी के मुख्य शाखा प्रबंधक अशोक तिवारी ने बताया कि मार्च तक ग्राहक पुरानी चेक बुक के जरिये लेनदेन कर सकते हैं। किसी सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए पासबुक की फोटो काफी लगाने के लिए भी पुरानी पासबुक 31 मार्च तक ही काम करेगी। तिवारी ने सलाह देते हुए कहा है कि ग्राहक को अपनी सुविधा अनुसार बैंक में जाकर नई पासबुक व चेकबुक प्राप्त करनी चाहिए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.