आद्योगिक सुविधाओं से युक्‍त योजना की खुरपिया फार्म में पीएम मोदी रख सकते हैं आधारशिला

सब कुछ ठीक रहा तो नवरात्रि के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऊधमसिंहनगर जिले के खुरपिया की एक हजार एकड़ भूमि में विकसित किए जा रहे अमृतसर-कोलकाता गलियारे में आद्योगिक बुनियादी सुविधाओं से युक्‍त योजना की आधारशिला रख सकते हैं ।

Skand ShuklaWed, 15 Sep 2021 10:51 AM (IST)
आद्योगिक सुविधाओं से युक्‍त योजना का खुरपिया फार्म में पीएम मोदी रख सकते हैं आधारशिला

जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : खाका तैयार है, अब उसे कल्पनाओं की उड़ान से धरातल पर उतारने की तैयारी की जा रही है। सब कुछ ठीक रहा तो नवरात्रि के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऊधमसिंहनगर जिले के खुरपिया की एक हजार एकड़ भूमि में विकसित किए जा रहे अमृतसर-कोलकाता गलियारे में आद्योगिक बुनियादी सुविधाओं से युक्‍त योजना की आधारशिला रख सकते हैं ।

खुरपिया फार्म की सीलिंग में आई 1512 एकड़ भूमि को न्यायालय के आदेश के बाद वर्ष, 2014 में राजस्व विभाग ने अपने कब्जे में लिया था। उसके बाद 16 अगस्त, 2016 को 1002 एकड़ भूमि को सिडकुल के लिए आरक्षित कर जमीन को सिडकुल के नाम हस्तांतरित कर दिया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब अमृतसर-कोलकाता गलियारे के रुप में उद्योग लगाने का निर्णय लिया गया तो उत्तराखंड का नाम भी उसमें शामिल था। जिस पर खुरपिया फार्म का प्रस्ताव बना कर सरकार द्वारा केंद्र को भेज दिया गया। केंद्र सरकार के मानकों पर खरे उतरने के बाद चयन कर दिया गया।

किच्छा विधायक राजेश शुक्ला ने भी लगातार खुरपिया में उद्योग लगाने के लिए प्रयास किया। बीते दिनों कैबिनेट ने भी इस पर मोहर लगा दी थी, उसके बाद उद्योग लगाने की कवायद ने जोर पकड़ लिया। बीते दिनों सिडकुल के खुरपिया फार्म की भूमि पर अपना कब्जा लेने के बाद तेजी आई और कागजों पर सिडकुल की भूमि का पूरा ड्राफ्ट तैयार करने की कार्यवाहीं शुरु कर दी गई। जिसके चलते कागजों पर खुरपिया में उद्योगों को बसाने का खाका तैयार कर लिया गया है। केंद्र सरकार बहुत जल्द प्रारंभिक बजट के रुप में चार सौ करोड़ के करीब धनराशि आवंटन करने की दिशा में कार्य कर रही है। धन आवंटन के तुरंत बाद ही उद्योगों के लिए बुनियादी सुविधाएं विकसित करने का काम प्रारंभ कर दिया जाएगा।

बिजली घर बनाने की तैयारी

खुरपिया में लगने वाले उद्योगों को सुचारु बिजली की व्यवस्था के लिए बिजली घर स्थापित करने की भी तैयारी कर ली है। इसके लिए सिडकुल के अधिकारियों की पिटकुल के साथ भी बैठक हो चुकी है। इसके साथ ही स्थान का चयन किया जा रहा है।

उद्योग का लाभ स्‍थानीय लोगों को मिलेगा

विधायक किच्छा राजेश शुक्ला का कहना है कि खुरपिया में उद्योग लगने का लाभ स्थानीय जनता को मिलने जा रहा है। अमृतसर-कोलकाता गलियारे के रुप में इसे विकसित किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयास से यह संभव हो पा रहा है। डेढ़ माह के अंदर ही खुरपिया में इन्फ्रास्ट्रक्चर विकसित करने के लिए डेढ़ माह के अंदर प्रथम किश्त के रुप में धन का आवंटन किये जाने की संभावना है।

चल रहा है सर्वे का काम : क्षेत्रीय प्रबंधक सिडकुल

क्षेत्रीय प्रबंधक सिडकुल पंतनगर परितोष वर्मा ने बताया कि खुरपिया को अमृतसर-कोलकाता गलियारे के रूप में विकसित करने की कवायद चल रही है। सर्वे कार्य चल रहा है, उसके बाद भूमि के बेहतर प्रयोग के लिए योजना तैयार कर वहां से पानी की निकासी के लिए ड्राफ्ट तैयार होने के बाद वहां लगने वाले उद्योगों की योजना को अंतिम रूप दिया जा सके।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.