नैनीताल की आबोहवा पर रहेगी पीसीबी की नजर, पालिका परिसर में स्थापित किया जा रहा एयर मानीटरिंग स्टेशन

इसकी जल्द इंस्टालेशन कर सैंपलिंग शुरू कर दी जाएगी।

पीसीबी द्वारा शहर के वायु प्रदूषण पर पल-पल नजर रखी जाएगी। पीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी डा. आरके चतुर्वेदी ने बताया कि नैनीताल में एयर मानीटरिंग सिस्टम स्थापित करने के प्रस्ताव को देहरादून से मंजूरी मिलने के साथ ही जरूरी उपकरण भी उपलब्ध हो गए हैं।

Publish Date:Thu, 14 Jan 2021 08:45 AM (IST) Author: Prashant Mishra

नरेश कुमार, नैनीताल : सरोवर नगरी में बढ़ते वाहनों के दबाव व अन्य पर्यावरणीय बदलाव के कारण हो रहे वायु प्रदूषण को लेकर प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड (पीसीबी) अलर्ट हो गया है। अब पीसीबी द्वारा पालिका परिसर में एयर मानीटरिंग स्टेशन स्थापित किया जा रहा है। मशीनें इंस्टाल करने के बाद जल्द स्टेशन काम करना शुरू कर देगा।

पर्यटन गतिविधियों का केंद्र होने से नैनीताल में वाहनों का दबाव हमेशा बना रहता है। जिससे बीते कुछ वर्षो से शहर के वायु प्रदूषण में भी बढ़ोत्तरी हो रही है। गर्मियों में शहर के समीपवर्ती क्षेत्रों के जंगलों में लगने वाली आग के कारण भी समस्या और अधिक बढ़ जाती है। शहर में आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान (एरीज) के एसटी रडार केंद्र से वायुमंडलीय हलचल व बढ़ रहे प्रदूषण पर नजर रखी जाती है, लेकिन यह अध्ययन व डाटा एरीज तक ही सीमित रहता है।  अब पीसीबी द्वारा शहर के वायु प्रदूषण पर पल-पल नजर रखी जाएगी। पीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी डा. आरके चतुर्वेदी ने बताया कि नैनीताल में एयर मानीटरिंग सिस्टम स्थापित करने के प्रस्ताव को देहरादून से मंजूरी मिलने के साथ ही जरूरी उपकरण भी उपलब्ध हो गए हैं। जल्द इंस्टालेशन कर सैंपलिंग शुरू कर दी जाएगी।

इन मानकों की होगी जांच

सिस्टम स्थापित होने के बाद हवा में पाल्यूटेड मेटर पीएम-10, पीएम 2.5, सल्फर डाई आक्साइड, कार्बन मोनो आक्साइड, नाइट्रोजन आक्साइड की मात्रा को मापा जाएगा। सैंपल लेकर जांच के लिए हल्द्वानी केंद्र भेजा जाएगा। इससे वाहनों व अन्य पर्यावरणीय बदलाव के कारण वायु प्रदूषण की वास्तविक स्थिति आसानी से पता लग जाएगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.