गैरसैंण को स्‍थायी राजधानी बनाने के लिए पहाड़ी आर्मी युवाओं को कर रही है एकजुट

पहाड़ी आर्मी संगठन गैरसैंण को स्‍थाई राजधानी बनाने के मुद्दे पर युवाओं एकजुट करने का काम कर रही है। अभियान के तहत में एक राज्य एक राजधानी नारे के साथ सर्वे का काम किया जा रहा है। युवाओं को राजनीतिक तरीके से संगठन से जोड़ने का प्रयास जारी है।

Skand ShuklaWed, 22 Sep 2021 02:13 PM (IST)
गैरसैंण को स्‍थायी राजधानी बनाने के लिए पहाड़ी आर्मी युवाओं को कर रही है एकजुट

जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : पहाड़ी आर्मी संगठन गैरसैंण को स्‍थाई राजधानी बनाने के मुद्दे पर युवाओं को एकजुट करने का काम कर रही है। अभियान के तहत एक राज्य एक राजधानी नारे के साथ सर्वे का काम किया जा रहा है। इस बहाने युवाओं को राजनीतिक तरीके से संगठन से जोड़ने का प्रयास जारी है।

पर्वतीय अस्मिता, संस्कृति व संसाधनों के रक्षक कैप्शन के साथ पहाड़ी आर्मी का फोकस डिग्री कालेज में पढऩे वाले युवाओं पर हैं। आर्मी की टीम राज्य के डिग्री कॉलेजों में कार्यकर्ता लोगों से बात कर कैंपेन को धार देने में लगी है। मेरी राजधानी गैरसैंण के नाम से शुरू किए गए आंदोलन की कमान युवाओं ने संभाल रखी है। पहाड़ी अस्मिता का सपना दिल में संजोए युवक अपने ठेठ बिंबो से आम युवा को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं।

इंटरमीडिएट में पढ़ने वाले युवा स्नातक के छात्रों से संवाद कर रहे हैं। जिसमें कुछ सीनियर छात्रनेताओं को नेतृत्वकर्ता के रूप में लगाया गया है। जहां भ्रष्टाचार व वादों की राजनीति से इतर कार्य करने की बात कहकर लोगों को जोडऩे की कोशिश हो रही है। एमबीपीजी डिग्री कालेज में हिंदी विभाग के सामने करीब 25 की संख्या में युवाओं की टोली सर्वे का काम कर रही है। युवाओं ने एक पंपलेट पर सवाल लिखा है कि क्या आप गैरसैंण राजधानी से सहमत हैं। हां या नहीं में जबाब लिखने को कहा जा रहा है।

ज्यादातर युवा गैरसैंण को राजधानी के तौर पर देखना चाह रहे हैं। या फिर कुछ युवा नहीं लिखने पर अपने तर्क प्रस्तुत कर रहे हैं। फिलहाल पहाड़ी आर्मी का टीशर्ट पहने युवा भगवा गमछा धारण किए हुए हैं। जिसमें वह खुद को भाजपा और कांग्रेस की राजनीति से अलग बता रहे हैं। एमबीपीजी कालेज में पहाड़ी आर्मी सदस्य हर्षवर्धन जोशी, आयुष कुमार, विनोद सनवाल, सागर रावत, लकी गुप्ता, कमलेश पांडे, गौरव जोशी, नितिन पांडे, संजय कुमार, करन आर्या, संदीप रावत आदि छात्रों को समझाने में लगे हुए हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.