वैक्‍सीनेशन के साथ ही नैनीताल जिले में कोविड मरीजों की संख्या घटी, एसटीएच में बंद हो गए पांच वार्ड

वैक्‍सीनेशन के साथ ही नैनीताल जिले में कोविड मरीजों की संख्या घटी, एसटीएच में बंद हो गए पांच वार्ड

कोरोना वैक्सीनेशन के साथ ही कोरोना मरीजों की संख्या भी कम होने लगी है। डा. सुशीला तिवारी कोविड अस्पताल में एक महीने पहले कुमाऊं भर से 120 से अधिक कोरोना संक्रमित मरीज भर्ती होने लगे थे वहीं अब यह संख्या 40 तक रह गई है।

Publish Date:Tue, 26 Jan 2021 11:10 PM (IST) Author: Skand Shukla

हल्द्वानी, जागरण संवाददाता : कोरोना वैक्सीनेशन के साथ ही कोरोना मरीजों की संख्या भी कम होने लगी है। डा. सुशीला तिवारी कोविड अस्पताल में एक महीने पहले कुमाऊं भर से 120 से अधिक कोरोना संक्रमित मरीज भर्ती होने लगे थे, वहीं अब यह संख्या 40 तक रह गई है। कोविड-19 मरीजों की संख्या लगातार कम होने पर अस्पताल प्रबंधन भी राहत की सांस ले रहा है। वहीं पांच वार्ड बंद कर दिए गए हैं।

सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में 350 से ज्यादा बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित कर दिए गए थे। अप्रैल के बाद से ही अन्य मरीजों के लिए ओपीडी व आइपीडी सेवा पूरी तरह बंद कर दी गई थी। तब कोरोना मरीजों की संख्या 300 तक पहुंच गई थी। प्रतिदिन 20 से 25 मरीज भर्ती होने लगे थे।

वैक्सीनेशन प्रक्रिया के साथ ही कोरोना मरीजों का ग्राफ कम होने से आम जन से लेकर अस्पताल प्रशासन भी राहत महसूस कर रहा है। चिकित्सा अधीक्षक डा. अरुण जोशी ने बताया कि अब केवल दो वार्ड में ही कोरोना मरीज भर्ती हैं। करीब पांच वार्ड फिलहाल बंद कर दिए हैं। अगर मरीज बढ़ेंगे तो उन्हें खोल दिया जाएगा। वहां पर कार्यरत स्टाफ को दूसरी जगह एडजस्ट कर दिया गया है। 

अन्य मरीजों की संख्या बढ़ी

एसटीएच में इस समय ओपीडी का समय 9 बजे से 11:30 बजे तक ही है। ओपीडी शुरू हो गए एक महीना बीत गया है। शुरुआत में 50-60 मरीज ही उपचार के लिए पहुंच रहे थे, लेकिन अब यह संख्या 300 तक पहुंचने लगी है। 

ओपीडी का समय बढ़ाने पर होगा रहा विचार

चिकित्सा अधीक्षक डा. अरुण जोशी का कहना है कि मरीजों की संख्या को ध्यान में रखते हुए ओपीडी का समय बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। एक-दो सप्ताह में समय बढ़ाया जाएगा। इससे कोराना के अलावा अन्य मरीजों को राहत मिलेगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.