नैनीताल में एनएचएम कर्मियों की हड़ताल से कई काम बाधित, नारेबाजी कर सरकार को चेताया

बीते दिनों संगठन पदाधिकारियों की सीएम से हुई वार्ता के बाद भी मांगों को नहीं माना गया है। जिस कारण प्रदेश संगठन के आह्वान पर कर्मचारियों ने चरणबद्ध आंदोलन शुरू कर दिया है। जिले भर के कर्मियों द्वारा सीएमओ दफ्तर में धरना प्रदर्शन कर कार्य बहिष्कार किया जा रहा है।

Prashant MishraTue, 07 Dec 2021 02:43 PM (IST)
10 दिसंबर से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया जाएगा।

जागरण संवाददाता, नैनीताल : राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संगठन के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत कर्मचारियों ने दो दिवसीय कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया है। कर्मचारियों ने सीएमओ दफ्तर के बाहर धरना प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की। साथ ही सरकार को चेताया कि यदि दो दिन के भीतर कार्रवाई नहीं की गई तो 10 दिसंबर से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया जाएगा।

मंगलवार को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संगठन जिला अध्यक्ष डॉ कृष्ण मुरारी गुप्ता के नेतृत्व में तमाम कर्मचारी सीएमओ दफ्तर में एकत्रित हुए। जहां उन्होंने धरना प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कर्मचारियों ने कहा कि लंबे समय से एनएचएम कर्मियों को ग्रेड पे का लाभ देने, राज्यकर्मियों की तरह 60 वर्ष की आयु तक सेवा का लाभ देने, आउटसोर्सिंग के माध्यम से की जा रही नियुक्ति प्रक्रिया पर रोक लगाने और कार्यरत आउट सोर्स और अनुबंधित कर्मियों को राज्य व जिला स्वास्थ्य समिति के माध्यम से नियुक्ति देने समेत तमाम मांगों को लेकर कर्मचारी आंदोलनरत है। पूर्व में कई दौर की वार्ताओं के बाद भी सरकार द्वारा मांगों पर कोई सकारात्मक निर्णय नहीं लिए गए।

बीते दिनों संगठन पदाधिकारियों की सीएम से हुई वार्ता के बाद भी मांगों को नहीं माना गया है। जिस कारण प्रदेश संगठन के आह्वान पर कर्मचारियों ने चरणबद्ध आंदोलन शुरू कर दिया है। डॉ कृष्ण मुरारी गुप्ता ने बताया कि जिले भर के एनएचएम कर्मियों द्वारा सीएमओ दफ्तर में धरना प्रदर्शन कर कार्य बहिष्कार किया जा रहा है। यदि फिर भी सरकार द्वारा मांगों को पूरा नहीं किया गया तो प्रदेश संगठन के आह्वान पर 10 दिसंबर से अनिश्चित कालीन कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया जाएगा। इस दौरान आवश्यकीय सेवा में लगे कर्मचारी की काम ठप कर देंगे। धरना प्रदर्शन के दौरान सरयू नंदन जोशी, मदन मेहरा, बसंत गोस्वामी, दीवान बिष्ट, मेघना, सुरेंद्र बिष्ट, वर्षा बिष्ट, सपना आर्य, सरस्वती, नीलू रावत समेत तमाम कर्मचारी मौजूद रहे।

इन विभागों के कार्य हुए बाधित

एनएचएम कर्मियों के कार्य बहिष्कार में जाने से स्वास्थ्य विभाग की कई सेवाएं चरमरा गई है। कर्मचारियों की कमी के चलते विभाग में कोविड सेम्पलिंग, वैक्सीनेशन, बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण समेत कोविड को लेकर की जाने वाली डेली रिपोर्टिंग और बुलेटिन अपडेट जैसी सेवाएं बाधित हो रही है। सीएमओ डॉ भागीरथ जोशी ने बताया कि स्थाई कर्मियों से किसी तरह व्यवस्था चलाई जा रही है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.