नेपाल के गृह मंत्री पहली बार पहुंचे व्यास गांवपालिका, बोले सीमा के लिए सरकार ने दिया विशेष पैकेज

बटालियन भवन का शिलान्यास करने के बाद गृह मंत्री रामबहादुर थापा ने स्थानीय ग्रामीणों की समस्याएं सुनी

व्यास गांवपालिका तक पहुंचे नेपाल के गृह मंत्री रामबहादुर थापा ने कहा कि जब तक सीमा पर रहने वाले लोगों की समस्याएं समाप्त नहीं होती हैं तब तक हमारी सीमा सुरक्षित नहीं रह सकती है। सीमा के लिए हमारी सरकार ने विशेष पैकेज दिया है।

Skand ShuklaSun, 27 Sep 2020 01:20 PM (IST)

झूलाघाट/ धारचूला जेएनएन : व्यास गांवपालिका तक पहुंचे नेपाल के गृह मंत्री रामबहादुर थापा ने कहा कि जब तक सीमा पर रहने वाले लोगों की समस्याएं समाप्त नहीं होती हैं, तब तक हमारी सीमा सुरक्षित नहीं रह सकती है। सीमा के लिए हमारी सरकार ने विशेष पैकेज दिया है। भारत व चीन की सीमा पर स्थित व्यास गांवपालिका को पर्यटन और व्यापारिक गतिविधि से जोडऩे के लिए अध्यागमन कार्यालय की स्थापना का प्रस्ताव है। थापा गांवपालिका पहुंचने वाले नेपाल के पहले गृह मंत्री है।

शुक्रवार को व्यास गांवपालिका में नेपाल सशस्त्र बल की बटालियन भवन का शिलान्यास करने के बाद गृह मंत्री रामबहादुर थापा ने स्थानीय ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। उन्होंने कहा कि कई वर्षों तक बंद छांगरु में सीमा प्रशासन कार्यालय का संचालन प्रारंभ कर दिया है। पर्यटन और व्यापारिक गतिविधियों को समृद्ध किया जाएगा। उन्होंने कहा कि छांगरु और टिंकर के दूसरी तरफ काली नदी पार भारत ने अपने क्षेत्र में रहने वालों को विभिन्न सेक्टरों में आरक्षण दिया है। इसी तरह की व्यवस्था नेपाल में भी दी जाएगी। उन्होंने इशारे में अपने नक्शे में शामिल किए गए तीन गांवों के ग्रामीणों को प्रलोभन भी दिया। शुक्रवार की रात्रि छांगरु में प्रवास के दौरान उन्होंने ग्रामीणों की समस्याएं सुनी।

 

बोले, व्यास गांव पालिका क्षेत्र में सरकार संचार सेवा को और अधिक मजबूत करने वाली है। इससे पूर्व उन्होंने सीमा का हवाई सर्वे भी किया। इस दौरान उनके साथ प्रतिनिधि सभा सदस्य दार्चुला गणेश ठगुन्ना, गृह सचिव महेश्वर न्यौपाने, सशस्त्र बल के महानिरीक्षक शैलेंद्र थापा, गृह मंत्री के राजनैतिक सलाहकार सूर्च सुवेदी, सुरक्षा सलाहकार इंद्रजीत राई, सशस्त्र प्रहरी के एआइजी रामशरण पौडेल, नेपाल सेना के सहायक रथी पवन राज घिमिरे, वैकल्पिक ऊर्जा प्रबंधन केंद्र के कार्यकारी निदेशक मधुसन अधिकारी थे। जिला मुख्यालय दार्चुला में पत्रकारों के साथ वार्ता करते हुए गृहमंत्री नेपाल सरकार राम बहादुर थापा ने कहा कि सीमा क्षेत्र के नागरिकों के विकास, सुरक्षा के लिए सरकार विशेष प्रयास कर रही है।

 

भारत-चीन सीमा पर सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी

चीन और नेपाल के तेवरों को देखते हुए भारत की सुरक्षा एजेंसियां भी चौकन्नी हैं। चीन ने लिपुलेख सीमा पर अपने सैनिकों की संख्या बढ़ाई है। वहीं नेपाल ने चीन और भारत से लगी व्यास गांवपालिका में अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं। पहली बार इस क्षेत्र में नेपाल सरकार के गृह मंत्री पहुंचे हैं। चीन और नेपाल की गतिविधियों को देखते हुए भारत की सुरक्षा एजेंसियां भी सतर्क हैं। अग्रिम चौकियों पर तैनात आइटीबीपी और सेना के जवान लिपुलेख से मिलम तक लगातार निगरानी रखे हैं। वायुसेना के विमान भी सीमा का जायजा ले रहे हैं। नेपाल में जिस तरह भारत विरोधी हरकतें हो रही हैं उसे देखते हुए नेपाल सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है। भारत नेपाल सीमा पर बहने वाली काली नदी किनारे धारचूला से कालापानी तक लगातार गश्त लगाई जा रही है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.