नैनीताल में पांच साल में करीब डेढ़ करोड़ लाइब्रेरी पर खर्च, फिर भी किताबें फर्श पर

1.34 करोड़ की लागत से जीर्णोद्धार के बाद भी शहर के दुर्गा लाल साह पुस्तकालय की हालत में कुछ खास सुधार नहीं दिखता। आलम यह है कि पांच साल बाद खुले पुस्तकालय में प्रकाश व्यवस्था तक नहीं है।

Skand ShuklaFri, 03 Dec 2021 08:22 AM (IST)
नैनीताल में पांच साल में करीब डेढ़ करोड़ लाइब्रेरी पर खर्च, फिर भी किताबें फर्श पर

नरेश कुमार, नैनीताल : 1.34 करोड़ की लागत से जीर्णोद्धार के बाद भी शहर के दुर्गा लाल साह पुस्तकालय की हालत में कुछ खास सुधार नहीं दिखता। आलम यह है कि पांच साल बाद खुले पुस्तकालय में प्रकाश व्यवस्था तक नहीं है। पुस्तकें रखने के पुख्ता इंतजाम न होने से किताबें फर्श पर पड़ीं धूल फांक रही हैं। ऐसे में एडीबी द्वारा किए गए आधे-अधूरे काम को देख पालिका ने फिलहाल हस्तांतरण को लेकर हाथ खड़े कर दिए हैं।

कंजरर्वेशन ऑफ कल्चर हैरिटेज एंड अर्बन स्पेस मेकिंग योजना के तहत शहर की विभिन्न इमारतों का एडीबी ने जीर्णोद्धार और सुंदरीकरण किया। 2016 में मालरोड स्थित दुर्गालाल साह पुस्तकालय का कार्य भी शुरू किया गया। करीब डेढ़ वर्ष तक चले कार्य के बाद शासन और कार्यदायी ठेकेदार के बीच अनबन के चलते काम आधे में ही रुक गया।

वर्ष 2019 में पुस्तकालय समेत अन्य कार्यों के लिए नए सिरे से टेंडर प्रक्रिया निपटाकर कार्य शुरू करवाया गया मगर पांच वर्ष गुजर जाने के बाद भी पुस्तकालय में कार्य अधूरे हैं। अब डीएम के निर्देशों पर गुरुवार से पुस्तकालय का संचालन शुरू कर दिया गया है। दूसरी ओर, कार्य की गुणवत्ता और खामियों को लेकर खुद पालिका के अधिकारी संतुष्टï नहीं है। तकनीकी खराबी के चलते पुस्तकालय का मुख्य दरवाजा बमुश्किल बंद हो रहा है। भीतर रखी अलमारियां भी पूरी तरह बंद नहीं हो रहीं। फर्नीचर की गुणवत्ता ठीक नहीं है। प्रकाश व्यवस्था भी नहीं।

जमीन पर रखी पुस्तकें खा रही धूल

पुस्तकालय में पुस्तक रखने तक के इंतजाम नहीं है। ऐसे में करीब आधी पुस्तकें जमीन पर पड़ी धूल फांक रही है। इनमें से कुछ तो खासी अहमियत रखती हैं। डीएम नैनीताल धीराज गब्र्याल ने बताया कि पालिका, एडीबी और पर्यटन विभाग के अधिकारियों की संयुक्त टीम द्वारा सर्वे करवाकर रिपोर्ट तैयार करवाई गई है। पुस्तकालय में जो कमियां है, उन्हें दुरुस्त करने को लेकर संबंधित ठेकेदार को निर्देशित किया गया है।

डीएम ने निरीक्षण कर दिए खामियां दूर करने के निर्देश

डीएम धीराज गब्र्याल, पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी, एसडीएम प्रतीक जैन ने गुरुवार को पालिका और एडीबी कर्मियों के साथ पुस्तकालय का निरीक्षण किया। खामियां चिह्नित कर जल्द दूर करने को कहा। ईओ अशोक वर्मा ने बताया कि पूर्व की तरह ही पुस्तकालय ग्रीष्मकाल में सुबह 7:30 से 10, शाम को पांच से आठ जबकि शीतकाल में सुबह आठ से दस और शाम को साढ़े चार से सात बजे तक खोला जाएगा। निरीक्षण के दौरान जिला पर्यटन अधिकारी अरविंद गौड़ भी थे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.