Nainital Weather Forecast : कुमाऊं में चार दिनों से लगातार हो रही है बारिश, जानिए कैसा रहेगा अगले चार दिनों के मौमस का हाल

Nainital Weather Forecast कुमाऊं में पिछले चार दिनों से बारिश का सिलसिला जारी है। मौसम विभाग के मुताबिक गुरुवार को प्रदेश के अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश या गरज के साथ बौछार पडऩे की संभावना है।

Skand ShuklaThu, 22 Jul 2021 08:05 AM (IST)
Nainital Weather Forecast : कुमाऊं में जानिए कैसा रहेगा अगले चार दिनों के मौमस का हाल

जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : Nainital Weather Forecast : कुमाऊं में पिछले चार दिनों से बारिश का सिलसिला जारी है। मौसम विभाग के मुताबिक गुरुवार को प्रदेश के अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश या गरज के साथ बौछार पडऩे की संभावना है। 23 व 24 जुलाई को कुछ जगहों पर हल्की बारिश हो सकती है। ऐसे में इन दोनों दिनों में बारिश से थोड़ी राहत की उम्मीद की जा रही है। मौसम विज्ञानी डा. आरके सिंह ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से 25 व 26 जुलाई को फिर से तेजी बारिश के आसार बन सकते हैं।

चार दिन की बारिश से बदला मानसून का परिदृश्य

पिछले सप्ताह 16 जुलाई को प्रदेश में सामान्य से एक प्रतिशत कम बारिश हुई थी। अब आंकड़ा औसत से 10 प्रतिशत ऊपर पहुंच गया है। पांच दिन पहले प्रदेश के आठ जिलों में औसत से कम बारिश दर्ज की गई थी, यह संख्या घटकर छह पर आ गई। प्रदेश के दो जिलों में तो बारिश की कमी का अंतर मामूली है। एक-दो दिन मानसून इसी तरह बरसते रहा तो बारिश की स्थिति और बेहतर हो जाएगी।

पांच दिन पहले पहुंच गया था मानसून

उत्तराखंड में इस बार पांच दिन पहले (17 जून को) मानसून पहुंच गया था। शुरुआत में अच्छी बारिश के बाद चार सप्ताह तक मानसून कमजोर रहा। 17 जुलाई की रात से फिर मानसून सक्रिय हुआ और प्रदेश पर छा गया। 16 जुलाई की स्थिति के अनुसार कुमाऊं के ऊधमसिंह नगर जिले में औसत से 34 प्रतिशत व नैनीताल में 21 प्रतिशत कम बारिश हुई थी। अब यूएसनगर में स्थिति उलट हो गई है। नैनीताल में भी अंतर मामूली रह गया है।

कुमाऊं में जिलेवार मानसूनी बारिश (मिमी में)

जिला औसत वर्षा बारिश हुई कमी/वृद्धि

अल्मोड़ा 327.9 401.8 23

बागेश्वर 327.9 901.3 175

चम्पावत 542.1 567.8 5

नैनीताल 569.5 558.8 -2

पिथौरागढ़ 610.6 584.4 -4

यूएसनगर 401.5 426.2 6

(नोट: आंकड़े 1 जून से 21 जुलाई के मध्य। कमी/वृद्धि प्रशित में)

प्राकृतिक जल स्रोत होंगे रिचार्ज

जीबी पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय पंतनगर के मौसम विज्ञानी डा. आरके सिंह का कहना है कि इस बार बहुत तबाही वाली बारिश नहीं हुई। लगातार हल्की बारिश होने भूमिगत जलस्तर में सुधार के लिए उपयोगी है। इससे पहाड़ के नौले, धारे जैसे प्राकृतिक जल स्रोत रिचार्ज होंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.