पेयजल मंत्री ले गांव में कोरोना जांच बढ़ाने व संक्रमितों को दवा उपलब्ध कराने को दिए निर्देश

चुफाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोके जाने हेतु सर्व प्रथम सैम्पलिंग को बढ़ाना होगा। जिस भी गांव से लोगों के बीमार होने की सूचना प्राप्त होती है तत्काल उस गांव में मेडिकल टीम भेजकर प्रत्येक बीमार व्यक्ति को दवा उपलब्ध कराई जाए।

Prashant MishraTue, 11 May 2021 05:11 PM (IST)
जो भी मेडिकल सुविधाओं की आवश्यकता है वह यथासमय पूर्ण कर मेडिकल सुविधाएं बढ़ाई जाए।

जागरण संवाददाता, पिथौरागढ़। जनपद में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को रोके जाने हेतु आवश्यक तैयारियां एवं कोरोना संक्रमण को रोके जाने हेतु किए जा रहे कार्यों एवं व्यवस्थाओं के संबंध में मंगलवार को पेयजल, ग्रामीण निर्माण मंत्री उत्तराखंड सरकार विशन सिंह चुफाल ने जिलाधिकारी कार्यालय सभागार में विभिन्न जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की गई।

पेयजल मंत्री चुफाल ने कहा कि जिले में लगातार कोरोना के बढ़ते मामले, एक चिंता का विषय है। हम सभी को इसे नगरीय क्षेत्रों से लेकर ग्रामीण स्तर तक विशेष अभियान चलाकर इसे रोकना होगा। इस हेतु सामुहिक जिम्मेदारी से कार्य करने की आवश्यकता होगी। चुफाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोके जाने हेतु सर्व प्रथम सैम्पलिंग को बढ़ाना होगा। जिस भी गांव से लोगों के बीमार होने की सूचना प्राप्त होती है तत्काल उस गांव में मेडिकल टीम भेजकर सभी व्यक्तियों के कोरोना जांच हेतु सैम्पल लिए जाय तथा प्रत्येक बीमार व्यक्ति को दवा उपलब्ध कराई जाए।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण स्तर पर एएनएम व आशा कार्यकर्ती को पर्याप्त मात्रा में दवा व मेडिकल किट भी मुहैया कराई जाए, ताकि बीमार व्यक्ति तुरंत दवा उपलब्ध कराई जा सके। माननीय मंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम व उसे खत्म करने हेतु जिले में जो भी मेडिकल सुविधाओं की आवश्यकता है वह यथासमय पूर्ण कर मेडिकल सुविधाएं बढ़ाई जाए। इस हेतु धनराशि की किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं है। विधायक निधि के माध्यम से भी धनराशि उपलब्ध कराई जा रही है।

पेयजल मंत्री ने मुख्य चिकित्साधिकारी पिथौरागढ़ को निर्देश दिए कि जिस गांव में कोई कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति आता है, तो तत्काल पूरे गांव से कोरोना के सैम्पल लिए जाय। समीक्षा के दौरान चुफाल ने कहा कि आयुष एवं होम्योपैथी विभाग में जो चिकित्सक जिले में तैनात हैं और वर्तमान में बाहरी ज़िलों में अटैचमेंट में हैं उन्हें तत्काल जिले में वापस बुलाए जाने हेतु शासन को पत्र लिखा जाए, तथा स्वयं भी वह उक्त सम्बन्ध में शासन स्तर पर वार्ता करेंगे।

जिले में ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था एवं उसकी हल्द्वानी में रीफिलिंग में हो रही देरी की समस्या के संबंध में मंत्री ने कहा कि वह उक्त सम्बन्ध में शासन स्तर पर वार्ता कर जनपद पिथौरागढ़ हेतु प्राथमिकता के तहत अलग से एक फर्म सिलेंडर रिफिलिंग हेतु तय किया जाएगा। पेयजल मंत्री ने कहा कि जनता को बचाना हमारी प्राथमिकता है इस हेतु सभी को मिलजुल कर आपसी समन्वय के साथ कार्य करना होगा उन्होंने कहा कि जिले में प्रत्येक आने वाले व्यक्ति की सैम्पलिंग अवश्य हो तथा उनकी सूचना सम्बन्धित तहसील/ब्लाक में गठित निगरानी समिति को भी उपलब्ध कराई जाए और रिपोर्ट आने तक उनकी नियमित निगरानी भी की जाय। उन्होंने कहा कि संक्रमण को रोके जाने हेतु हर संभव प्रयास किए जाय।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.