बंद सड़कों को खोलने के लिए लोडर मशीनें लगाएं, जिलाधिकारी ने कपकोट क्षेत्र का किया निरीक्षण

मानसून सत्र के दौरान भी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में हर समय अलर्ट पर रहेंगे। उन्होंने पीएमजीएसवाइ को निर्देश दिए कि भारी वर्षा के कारण पुलिया क्षतिग्रस्त हैं। उन्हें वाहनों की आवाजाही के लिए दुरुस्त किया जाए। बिजली पानी की सुचारू व्यवस्था करने के निर्देश संबंधित विभागों को दिए।

Prashant MishraFri, 30 Jul 2021 03:46 PM (IST)
उपजिलाधिकारी बारिश के कारण हुए नुकसान का मौका मुआयना करेंगे। ताकि प्रभावितों को राहत मिल सकेगी।

जागरण संवाददाता, बागेश्वर: जिलाधिकारी ने शुक्रवार को कपकोट क्षेत्र में भूस्खलन से हुए नुकसान का जायजा लिया। उन्होंने सड़कों की मरम्मत और शीघ्र खोलने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आपदा के कारण नुकसान हुआ है। उसकी रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

जिलाधिकारी ने शामा, लीती, गोगिना, कपकोट, कर्मी, बघर आदि बंद सड़कों का जायजा लिया। उन्होंने सड़कों पर जमा मलबा आदि को लोडर मशीनों के जरिए त्वरित गति से हटाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय जनता को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। मानसून सत्र के दौरान भी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में हर समय अलर्ट पर रहेंगे। उन्होंने पीएमजीएसवाइ को निर्देश दिए कि भारी वर्षा के कारण पुलिया क्षतिग्रस्त हैं। उन्हें वाहनों की आवाजाही के लिए दुरुस्त किया जाए। बिजली, पानी की सुचारू व्यवस्था करने के निर्देश संबंधित विभागों को दिए। उन्होंने कहा कि उपजिलाधिकारी बारिश के कारण हुए नुकसान का मौका मुआयना करेंगे। ताकि प्रभावितों को राहत मिल सकेगी। उन्होंने यह भी कहा कि कोई भी लापरवाही नहीं बरती जाए। आपदा से होने वाले किसी भी नुकसान आदि पर कंट्रोल रूम को सूचित किया जाए। ताकि समय से राहत आदि सुनिश्चित किया जा सकेगा।इस दौरान एसडीएम प्रमोद कुमार, ईई लोनिवि संजय पांडे, पीएमजीएसवाइ अनिल कुमार, बीडीओ गंगा गिरी गोस्वामी, तहसीलदार पूजा शर्मा आदि मौजूद थे।

अपात्रों को किसी भी हाल में नहीं मिलेगा अंत्योदय का लाभ

बागेश्वर: जिला पूर्ति विभाग राशनकार्डों की सर्वे करेगा। जिले में अपात्र अंत्योदय राशनकार्ड का लाभ उठा रहे हैं। जिसको लेकर पूर्ति विभाग सख्त हो गया है। संपन्न लोगों को हिदायत दी है कि वह समय रहते अपना कार्ड बदलें और कार्रवाई से बच सकते हैं।

जिला पूर्ति विभाग के अनुसार जिले में लगातार ऐसे प्रकरण सामने आ रहे हैं कि अपात्र भी अंत्योदय राशनकार्ड का लाभ लिया जा रहा है। विभाग ने सर्वे आदि की कार्रवाई प्रस्तावित की है। जिसमें अपात्रों के पास पीएचएच या अंत्योदय राशन कार्ड पाए जाते हैं, तो उनके खिलाफ नियमानुसार कठोर कार्रवाई हो सकती है। सभी पूर्ति निरीक्षक राशनकार्ड की सर्वे में जुट गए हैं। ऐसे परिवार जिनके परिवार के सदस्य सरकारी नौकरी में लग गए हैं। या ऐसे परिवार जिनकी वार्षिक आय सभी स्रोतों से 1.80 लाख रुपये से अधिक है। वह स्वेच्छा से अपना पीएचएच, अंत्योदय कार्ड जिला पूर्ति विभाग में जमा कर सकते हैं।

पूर्ति निरीक्षकों को निर्देश है कि वह अपात्रों का चिह्निकरण एक माह के भीतर करेंगे। उनके राशनकार्ड भी निरस्त किए जाएंगे। जिला पूर्ति अधिकारी अरुण कुमार वर्मा ने बताया कि अभी केवल राशनकार्ड का निरस्तीरकण की कार्रवाई होगी। आगामी माह में अपात्रों के खिलाफ एफआइआर और वसूली आदि की कार्रवाई भी प्रस्तावित की गई है। उन्होंने पूर्ति निरीक्षकों को साप्ताहिक प्रगति आंख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.