ऊधमसिंह नगर में दिव्यांग से कुकर्म का प्रयास करने वाले को सात साल की सजा

विकास गुप्ता ने बताया कि 12 सितंबर 2017 की सुबह दिव्यांग बालक पार्क के पास बैठा हुआ था। इसी बीच पास में ही चाट की ठेली लगाने वाले काजीबाग काशीपुर निवासी 50 वर्षीय विनोद पुत्र शिव प्रसाद बालक को पकड़कर ले गया और कुकर्म का प्रयास किया।

Prashant MishraFri, 26 Nov 2021 10:30 PM (IST)
25 हजार रुपये के जुर्माने से भी दंडित किया। धनराशि में से 90 फीसद धनराशि पीड़ित बालक को दी जाएगी।

जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : दिव्यांग बच्चे से कुकर्म का प्रयास करने वाले अधेड़ को पाक्सो न्यायाधीश रीना नेगी की अदालत ने सात साल की सजा सुनाई है। इसके अलावा 25 हजार रुपये के जुर्माने से भी दंडित किया। जुर्माने की धनराशि में से 90 फीसद धनराशि पीड़ित बालक को दी जाएगी।

सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता विकास गुप्ता ने बताया कि 12 सितंबर 2017 की सुबह दिव्यांग बालक पार्क के पास बैठा हुआ था। इसी बीच पास में ही चाट की ठेली लगाने वाले काजीबाग, काशीपुर निवासी 50 वर्षीय विनोद पुत्र शिव प्रसाद बालक को पकड़कर ले गया और कुकर्म का प्रयास किया। यह देख अपने बच्चे को स्कूल छोड़कर वापस आ रही पड़ोस की महिला ने चिल्लाना शुरू कर दिया। शोर होने पर कुकर्म का प्रयास कर रहा आरोपित फरार हो गया। मासूम बालक के माता और पिता ने पुलिस को सूचना देते हुए मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने बच्चे का सरकारी अस्पताल में मेडिकल करवाया तो घटना की पुष्टि हो गई। इस पर पुलिस ने आरोपित विनोद को 13 सितंबर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। मामला पॉक्सो न्यायाधीश रीना नेगी की अदालत में चला। जिसमें एडीजीसी विकास गुप्ता ने आठ गवाह पेश कर आरोपित पर आरोपि सिद्ध कर दिया। शुक्रवार को पाक्सो न्यायाधीश रीना नेगी की अदालत ने आरोपित विनोद को सात वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई। साथ ही 25 हजार रुपये जुर्माने की सजा से दंडित किया।

पानी के गड्ढे में डूबकर मासूम की मौत

नानकमत्ता। निर्माणाधीन इंटर कॉलेज के पास बने पानी के गड्ढे में डूबकर मासूम की मौत हो गई। इसका पता चलते ही मृतक के स्वजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 

शुक्रवार देर शाम गुरुद्वारा के गुरुनानक बालिका इंटर कॉलेज के निर्माणाधीन भवन के पास पानी के भरे गड्ढे में बच्चे की नहाते समय डूब कर मौत हो गई। गुरुद्वारा के सेवादारों ने गड्ढे के पास साइकिल कपड़े व चप्पल देखकर गुरुद्वारे में इसकी सूचना दी। जिसके बाद गुरुद्वारा प्रबंधक रंजीत सिंह ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने गड्ढे से बच्चे का शव निकाला। जिसके बाद आसपास एकत्र लोगों से मृतक बच्चे की शिनाख्त का प्रयास किया। इस दौरान लोगों ने उसकी पहचान वार्ड नंबर-3 थाने के पीछे नानकमत्ता निवासी 10 वर्षीय करन सिंह  पुत्र पान सिंह के रूप में हुई। बाद में पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्मार्टम को भेज दिया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.