नैनीताल में चलती कार पर बोल्डर गिरने से गुरुग्राम के पर्यटक की मौत, घायल पत्नी हल्द्वानी रेफर

गुरुग्राम हरियाणा निवासी 55 वर्षीय व्यवसायी हनुमंत तलवार पत्नी 55 वर्षीय मीना तलवार के साथ अपने कार एचआर 26 सीडब्ल्यू- 0789 से कालाढूंगी रोड होते हुए नैनीताल की ओर आ रहे थे। बजून बूढ़ा पहाड़ के समीप पहुंचे ही थे कि पहाड़ी से विशालकाय बोल्डर उनकी कार पर गिर गया

Prashant MishraTue, 20 Jul 2021 07:52 PM (IST)
तलवार दंपती मुक्तेश्वर में घर बनाने के लिए जमीन खरीदने का प्लान बना रहे थे।

जागरण संवाददाता, नैनीताल : जिला मुख्यालय से करीब 13 किमी दूर कालाढूंगी नैनीताल मार्ग पर बजून क्षेत्र में पहाड़ी से विशालकाय बोल्डर चलती कार में जा गिरा, हादसे में कार चालक गुरुग्राम के पर्यटक की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि उसकी पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गई। घायल महिला को प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। पुलिस ने हादसे की सूचना मृतक के स्वजनों को दे दी है।

जानकारी के मुताबिक 21-503, हैरिटेज सिटी एमजी रोड गुरुग्राम हरियाणा निवासी 55 वर्षीय व्यवसायी हनुमंत तलवार पत्नी 55 वर्षीय मीना तलवार के साथ अपने कार एचआर 26 सीडब्ल्यू- 0789 से कालाढूंगी रोड होते हुए नैनीताल की ओर आ रहे थे। बजून बूढ़ा पहाड़ के समीप पहुंचे ही थे कि पहाड़ी से विशालकाय बोल्डर उनकी कार पर गिर गया, जिससे हनुमंत की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गई। हादसे के कुछ ही देर बाद नैनीताल जा रहे रामनगर कोतवाल आशुतोष सिंह और अन्य कर्मियों ने बोल्डर से वाहन पिचका हुआ देखा। जिसके बाद मल्लीताल कोतवाली और मंगोली चौकी पुलिस को सूचना दी गई।

सूचना पर कोतवाल अशोक कुमार, चौकी प्रभारी नरेंद्र कुमार अन्य पुलिस कर्मियों और फायर ब्रिगेड के साथ मौके पर पहुंचे और घायल महिला को वाहन से बाहर निकाला और 108 की सहायता से घायल को बीडी पांडे अस्पताल पहुंचाया गया। पुलिस ने वाहन से शव निकाल मोर्चरी में रखवा दिया है। कोतवाल ने बताया कि मृतक के बेटे को घटना की सूचना दे दी है। स्वजनों के पहुंचने के बाद पंचनामें की कार्रवाई की जाएगी। हादसे के चलते सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लगी रही।

वाहन काटकर निकाला शव

पहाड़ी से गिरे बोल्डर का वेग इतना अधिक था कि वाहन की छत पूरी तरह पिचक गई। जिससे पुलिस को भी शव निकालने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। दमकल कर्मचारियों ने कटर से वाहन के दरवाजे और छत को काटकर शव बाहर निकाला गया।

मददगार साबित हुए चिकित्सक

हादसे के बाद पुलिस तो मौके पर पहुंच गई। मगर महिला की रीढ़ की हड्डी टूट जाने के कारण उसके शरीर में कोई हलचल नहीं थी। जिस कारण फंसे वाहन से निकालना पुलिस के लिए भी चुनौती बन गया। इसी बीच वहां से निकल रहे जिला अस्पताल अल्मोड़ा में तैनात डा. शुभम अग्रवाल और डा. अंशु अग्रवाल वहां पहुंच गए। उन्होंने महिला को वाहन से निकालने के साथ ही उसे मौके पर प्राथमिक उपचार भी दिया।

108 सर्विस की दिखी संवेदनहीनता

महिला को 108 में बैठाने के बाद अल्मोड़ा जिला अस्पताल के चिकित्सक उसे नैनीताल नहीं, बल्कि हल्द्वानी ले जाने की बात करने लगे। मगर 108 कर्मी घायल को नैनीताल लाने की जिद पर ही अड़े रहे। यहां तक कि मौके पर पहुंची तहसीलदार बरखा जलाल ने खुद पीएमएस डा. केएस धामी से वार्ता की, मगर 108 घायल को पहले नैनीताल ही लेकर पहुंची। जहां से उसे हल्द्वानी रेफर किया गया। जिसके चलते घायल महिला को समय रहते बेहतर उपचार नहीं मिल पाया।

घर बनाने के लिए जमीन खरीदने जा रहे थे मुक्तेश्वर

तलवार दंपती मुक्तेश्वर में घर बनाने के लिए जमीन खरीदने का प्लान बना रहे थे। बताया जा रहा है कि मंगलवार को वह जमीन देखने के लिए नैनीताल होते हुए मुक्तेश्वर जाने वाले थे। जहां वह किसी होमस्टे में ठहरने वाले थे। मगर रास्ते में ही हादसा हो गया।

राहत कार्य में ये जुटे रहे

तहसीलदार बरखा जलाल, कोतवाल अशोक कुमार, एसएसआइ कश्मीर सिंह, नरेंद्र कुमार, प्रकाश चंद्र, फायरकर्मी कुलदीप कुमार समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.