ड्यूटी करवाकर मानदेय देना भूल गई सरकार, अपने हक के लिए प्रदर्शन को मजबूर नर्सिंग स्टूडेंट्स

हम लोग सीएमओ नैनीताल डा. भागीरथी जोशी एसडीएम हल्द्वानी मनीष कुमार के अलावा राजकीय मेडिकल कालेज हल्द्वानी के प्राचार्य प्रो. अरुण जोशी को ज्ञापन सौंप चुके हैं। फिर भी हमें मानदेय देने को लेकर कोई आश्वासन तक नहीं मिला है।

Prashant MishraTue, 28 Sep 2021 04:03 PM (IST)
शासन ने आदेश में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया है कि 15 हजार रुपये मानदेय दिया जाएगा।

जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : जब कोविड संक्रमण चरम पर था। अस्पतालों में मरीजों की संख्या ज्यादा हो गई थी। ऐसे में स्टाफ की कमी होने लगी थी। राज्य सरकार ने मेडिकल कॉलेज से बीएससी नर्सिंग अंतिम वर्ष के छात्र-छात्राओं को भी ड्यूटी पर लगा दिया। उन्हें 15 हजार प्रतिमाह मानदेय दिए जाने का भी आदेश हुआ। दुर्भाग्य है कि सरकार ने ड्यूटी तो करा ली, लेकिन मानदेय देना भूल गई। अब परेशान होकर इन विद्यार्थियों को सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करने को मजबूर होना पड़ रहा है।

मंगलवार काे मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी के अलावा नर्सिंग कॉलेज पिथौरागढ़ व अल्मोड़ा के 120 छात्र-छात्राएं गेट पर धरना देने लगे। उन्होंने पूर्वाह्न 11 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक धरना दिया। प्रदर्शन करने के साथ नारेबाजी भी की। हाथों में तख्तियां टांके हुए थे, जिसमें लिखा था, कोरोना की खतरनाक लहर आई जब इस दुनिया में, अपना जीवन दांव पर लगाकर, अपना घर-परिवार छोड़कर, नर्सिंग के छात्र-छात्राएं आए थे, मरीजों के लिए भगवान का रूप बनकर, अब क्याें हो रहा है इन कोरोना योद्धाओं का बार-बार शोषण। एक और छात्रा की तख्ती पर लिखा था, कोविड में हमने किया जरूरतमंदों का पोषण, अब हम नर्सिंग इंटर्न का क्यों हाे रहा है शोषण।

नर्सिंग छात्र शुभम असवाल का कहना था कि हम लोग सीएमओ नैनीताल डा. भागीरथी जोशी, एसडीएम हल्द्वानी मनीष कुमार के अलावा राजकीय मेडिकल कालेज हल्द्वानी के प्राचार्य प्रो. अरुण जोशी को ज्ञापन सौंप चुके हैं। फिर भी हमें मानदेय देने को लेकर कोई आश्वासन तक नहीं मिला है। इस तरह की स्थिति से निराश होकर हमें आंदोलन करने को बाध्य होना पड़ा है। जबकि शासन ने 26 अप्रैल, 2021 को जारी आदेश में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया है कि कोविड ड्यूटी करने वाले विद्यार्थियों को 15 हजार रुपये मानदेय दिया जाएगा।

बेस अस्पताल में अब तीन दिन होगी तंबाकू छुड़वाने की काउंसलिंग

अगर आप तंबाकू सेवन करते हैं। बार-बार चाहने के बाद भी नहीं छूट रही है तो आप बेस अस्पताल में काउंसलिंग करा सकते हैं। अब यह सुविधा तीन दिन उपलब्ध रहेगी। काउंसलकर डा. मेघना परवाल आपको परामर्श देंगी। वह बेस अस्पताल में गुरुवार, शुक्रवार व शनिवार को अस्पताल के खुलने के समय तक उपलब्ध रहेंगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.