पब्लिक स्कूलों को मात देगा राइंका क्वीतड़ का नया भवन, फिल्टरेशन प्लांट के साथ ही आठ शौचालयों का भी इंतजाम

क्वीतड़ गांव में पांच वर्ष पूर्व इंटर कालेज को स्वीकृति तत्कालीन विधायक मयूख महर ने दिलाई थी। सरकार बदलने के बाद गांव के युवा ग्राम प्रधान श्याम सुंदर सिंह सौन ने इंटर कालेज का भवन बनाने के लिए प्रयास शुरू किए। जिला योजना से 50 लाख की धनराशि स्वीकृत कराई।

Prashant MishraTue, 28 Sep 2021 04:26 PM (IST)
प्रधान ने गांव में राइंका का शानदार भवन बनवाकर उदाहरण पेश किया है।

जागरण संवाददाता, पिथौरागढ़ : सरकारी कार्यों की गुणवत्ता को लेकर अक्सर सवाल उठाते हैं, लेकिन कुछ युवा जनप्रतिनिधि अब इस धारणा को बदल रहे हैं। वे न केवल विकास कार्यों में गुणवत्ता को ध्यान में रख रहे हैं बल्कि उसमें नवीनतम इंजीनियरिंग कौशल का भी पूरा उपयोग करवा रहे हैं। ऐसे विकास कार्य निजी स्तर पर होने वाले निर्माण कार्यों को भी चुनौती देते प्रतीत हो रहे हैं। भारत नेपाल सीमा से लगे एक गांव के युवा ग्राम प्रधान ने गांव में राइंका का शानदार भवन बनवाकर उदाहरण पेश किया है। 

जिला मुख्यालय से लगभग 30 किमी. दूर नेपाल सीमा से लगे क्वीतड़ गांव में पांच वर्ष पूर्व इंटर कालेज को स्वीकृति तत्कालीन विधायक मयूख महर ने दिलाई थी। सरकार बदलने के बाद गांव के युवा ग्राम प्रधान श्याम सुंदर सिंह सौन ने इंटर कालेज का भवन बनाने के लिए प्रयास शुरू  किए। जिला योजना से 50 लाख की धनराशि भवन के लिए स्वीकृत कराई। उन्होंने अपनी देखरेख में भवन का निर्माण कराया। दो वर्ष में चार कमरों का शानदार भवन बनकर तैयार हो गया है। शैक्षणिक माहौल के लिए बेहतर परिवेश की आवश्यकता को देखते हुए उन्होंने पूरे भवन में टाइल्स लगवाई। भवन के चारों और चाहदीवारी बनाने के साथ ही उन्होंने इसमें लाइटिंग करवाई है। विद्यालय के शिक्षणेत्तर कार्यक्रमों के लिए मंच का निर्माण कराने के साथ ही चारों और फूलों की क्यारियां बनाई गई हैं। 

छात्राओं, छात्रों के साथ ही स्टाफ के लिए आठ शौचालय बनाए गए हैं। पेयजल के लिए अलग से लाइन बिछाई जा रही है। विद्यालय परिसर में पेयजल फिल्टर प्लांट लगाया जा रहा है। ग्राम प्रधान का कहना है कि विद्यालय भवन को बनाने में गांव के सामाजिक कार्यकर्ता स्व.दीवान सिंह सौन का योगदान बेहद महत्वपूर्ण है। जिन्होंने गांव के 20 परिवारों को विद्यालय बनाने के लिए निशुल्क जमीन उपलब्ध कराई। उन्होंने बताया कि तमाम विभागीय अधिकारी भवन का निरीक्षण कर ग्राम सभा की सराहना कर चुके हैं। उन्होंने भवन निर्माण में जिला पंचायत अध्यक्ष दीपिका बोहरा के सहयोग के लिए आभार जताते हुए कहा कि उनकी मदद को ग्रामीण हमेशा याद रखेंगे। विद्यालय भवन के विस्तार के लिए अब रमसा से 1.20 करोड़ की धनराशि और स्वीकृत हो चुकी है। 

कबूतरी देवी और दान सिंह बिष्ट का गांव है क्वीतड़ 

नेपाल सीमा से लगे क्षेत्र में स्थित क्वीतड़ गांव की पूरे राज्य में विशेष पहचान है। टिम्बर किंग और एशिया के नाम से विख्यात स्व.दान सिंह बिष्ट इसी गांव के रहने वाले थे। इंडियन आइडियल पवन दीप का ननिहाल भी इसी गांव में हैं। उनकी नानी प्रसिद्ध लोक गायिका कबूतरी देवी इसी गांव की रहने वाली थी।

ग्राम प्रधान श्याम सुंदर सिंह सौन ने बताया कि विद्यालय परिसर में लोक गायिका कबूतरी देवी की प्रतिमा लगाई जा रही है। प्रथम नवरात्र के दिन विद्यालय का उद्घाटन होगा। इसी दिन विद्यालय के लिए जमीन देने वाले परिवारों को जिला पंचायत अध्यक्ष दीपिका बोहरा सम्मानित करेंगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.