गैंगस्टर लारेंस विश्नोई का गिरोह कुमाऊं के महानगरों में पसार रहा पैर

Gangster Lawrence Vishnoi राजस्थान पंजाब हरियाणा और दिल्ली का कुख्यात गैंगस्टर लारेंस विश्नोई का गिरोह कुमाऊं मंडल में भी अपने पैर पसार रहा है। इसके लिए स्थानीय युवकों के साथ ही उसके गिरोह से युवतियां भी जुड़ रही हैं।

Skand ShuklaTue, 14 Sep 2021 09:09 AM (IST)
गैंगस्टर लारेंस विश्नोई का गिरोह कुमाऊं के महानगरों में पसार रहा पैर

वीरेंद्र भंडारी, रुद्रपुर : राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली का कुख्यात गैंगस्टर लारेंस विश्नोई का गिरोह कुमाऊं मंडल में भी अपने पैर पसार रहा है। इसके लिए स्थानीय युवकों के साथ ही उसके गिरोह से युवतियां भी जुड़ रही हैं। नौ माह के भीतर ही रुद्रपुर और हल्द्वानी के बाद रविवार को झज्जर, हरियाणा में गिरफ्तार रामनगर की मीनू डान उर्फ मंजू आर्या की गिरफ्तारी से इसकी पुष्टि हो गई है।

29 दिसंबर, 2020 को रुद्रपुर के गल्ला मंडी में व्यापारी के दुकान के आगे बाइक सवार युवकों ने फायङ्क्षरग की थी। इसके बाद व्यापारी से गैंगस्टर लारेंस विश्नोई के नाम से एक करोड़ की रंगदारी मांगी गई थी। इस पर रुद्रपुर पुलिस और एसओजी फायङ्क्षरग करने वाले और रंगदारी के लिए फोन करने वालों की तलाश में जुट गई थी। जांच के दौरान पता चला कि सिने अभिनेता सलमान खान को धमकी देने वाले जेल में बंद गैंगस्टर लारेंस विश्नोई पर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान में हत्या, लूट, अपहरण, रंगदारी, असलहों की सप्लाई करने समेत 80 से अधिक केस दर्ज हैं। इसके बाद पुलिस ने चार आरोपितों की गिरफ्तारी की। साथ ही पता चला कि रंगदारी का फोन कनाडा में रहने वाले लारेंस विश्नोई के गुर्गे ने किया था।

इसके बाद चार सितंबर 2021 को हल्द्वानी पुलिस ने लूट और चोरी के आरोपित कवि बिष्ट को गिरफ्तार किया था। जांच में पता चला कि वह गैंगस्टर लारेंस के इंटरनेट मीडिया ग्रुप से जुड़ा हुआ है। उसने गिरोह के लोगों के साथ कई वारदातों को अंजाम दिया। हालांकि इसकी जांच हल्द्वानी पुलिस कर रही है लेकिन इसके आठ दिन बाद ही 12 सितंबर को सीआइए झज्जर, हरियाणा से रामनगर की मीनू डान उर्फ मंजू आर्या की गिरफ्तारी हुई है। बताया जा रहा है कि मीनू डान भी लारेंस विश्नोई गिरोह से जुड़ी है और वह भी असलहों के साथ इंटरनेट मीडिया में छाई रहती है। कुमाऊं की शांत वादियों में लगातार नौ माह के भीतर ही तीन मामलों के आने के बाद अब लारेंस विश्नोई गिरोह के सक्रियता से इन्कार नहीं किया जा सकता है। कुमाऊं मंडल डीआइजी नीलेश आनंद भरणे ने बताया कि गैंगस्टर लारेंस विश्नोई गिरोह से जुड़े बदमाशों के संबंध में जानकारी जुटाई जा रही है। इसके लिए जिलों की पुलिस के साथ ही एसओजी और एसटीएफ को भी सतर्क किया गया है। इस तरह के इनपुट मिलने के बाद उनकी गिरफ्तारी कर गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी।

जरायम की दुनिया में महिलाओं ने रखे कदम

कुमाऊं के युवाओं के साथ ही अब महिलाओं ने जरायम की दुनिया में अपने कदम रखने शुरू कर दिए हैं। यही कारण है कि पांच साल के भीतर ही कई महिलाओं और युवतियों को पुलिस तमंचे, हत्या, स्मैक तस्करी और माओवादी गतिविधियों में गिरफ्तार कर चुकी है। रामनगर निवासी मीनू डान उर्फ मंजू आर्या की गिरफ्तारी पहला मामला नहीं है जब कुमाऊं की कोई महिला बदमाशों के साथ गिरफ्तार हुई हो। इससे पहले 2017 में ऊधमसिंह नगर और नैनीताल जिले के बार्डर क्षेत्र चोरगलिया से इनामी माओवादी के साथ संदिग्ध महिला को भी गिरफ्तार किया था। जांच में पता चला कि वह माओवादी गतिविधियों में सक्रिय थी। 2019 में ट्रांजिट कैंप रुद्रपुर पुलिस ने तमंचा लेकर मछली बाजार में लोगों को डरा रही युवती को भी गिरफ्तार किया था। इस दौरान उसके पास से तमंचा और कारतूस बरामद हुए थे। इसके अलावा रुद्रपुर, खटीमा और सितारगंज के साथ ही किच्छा क्षेत्र से भी पुलिस स्मैक तस्करी और हत्या में संलिप्त कई महिलाओं को गिरफ्तार कर चुकी हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.