नंधौर के उकरौली गेट पर हंगामे की वजह से वन निगम ने बदल दिए आवेदन केंद्र

जेएनएन, हल्द्वानी/चोरगलिया : उकरौली गेट पर नए रजिस्ट्रेशन को लेकर बवाल की आशंका से वन निगम ने आवेदन केंद्र ही बदल दिया है। अब डीएफओ, डीएलएम व रेंज ऑफिस पर इच्छुक वाहनस्वामी फार्म जमा कर सकता है। पंजीकरण में छूट का दायरा बढ़ाने की मांग को लेकर सितारगंज के वाहनस्वामी हंगामे पर उतर आए थे। वन निगम के कर्मचारियों को चार दिन तक गेट में घुसने नहीं दिया। लिहाजा निगम ने अब आवेदन कार्यालय ही बदल दिए।

नंधौर में पांच दिसंबर से खनन शुरू हो चुका है। फिलहाल तीन गेट से उपखनिज की निकासी हो रही है। उकरौली में नया गेट इस सत्र से चालू होना है, जिस वजह से छह सौ नए वाहन वहां पंजीकृत करने की प्रक्रिया चल रही है। इसमें 20 प्रतिशत गाड़ी सितारगंज तहसील, 40 प्रतिशत शेष ऊधमसिंह नगर व 40 प्रतिशत वाहन अन्य जिलों से पंजीकृत होने की शर्त तय की गई है। मगर सितारगंज के लोगों ने 70 प्रतिशत रजिस्ट्रेशन देने की डिमांड के साथ गेट जाम कर रखा है। डीएलएम प्रेम सिंह बोरा ने बताया कि दस दिसंबर से वाहन जमा होने थे। लेकिन गेट पर जमा लोगों ने वन निगम के कर्मचारियों को अभी तक अंदर नहीं घुसने नहीं दिया, जिससे गेट खुलने में संकट खड़ा हो गया है। डीएलएम ने बताया कि विवाद की वजह से समय बर्बाद हो रहा था। इसलिए उकरौली में आवेदन केंद्र बंद कर दिया गया है। अब डीएफओ तराई पूर्वी, डीएलएम कार्यालय, बाराकोली रेंज, रनसाली रेंज व गौला रेंज के अलावा एमवीआर प्रथम गेट पर आवेदन की प्रक्रिया होगी। आज से लेकर 30 दिसंबर तक वाहनस्वामी फार्म जमा कर सकते हैं। नंधौर में नही होगा वाहन परिर्वतन

संसू, चोरगलिया : नैनीताल खनन समिति ने नए पंजीकरण के संबंध में समिति का गठन किया है। बैठक में दौरान खनन समिति ने नदी में वाहन परिवर्तन नहीं किए जाने और नंधौर में आरटीओ द्वारा निरस्त किए गए वाहनों के न तो पंजीकरण किए जाए व न ही ऐसे वाहनों का नवीनीकरण किए जाने की गाइडलाइन जारी की।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.