सितारगंज में ढाबा मालिक के स्वजनों पर फायर करने वाले पांच आरोपित गिरफ्तार

आरोपितों के आपराधिक रिकार्ड खंगाली जा रही है।

आरोपितो में गुरमीत सिंह उर्फ पोला ने 315 बोर के तमंचे व राम सिंह ने 12 बोर के तमंचे से सो रहे हिम्मत पर फायर झोंक दिए थे। जिसमें हिम्मत सिंह की पत्नी सुमित्रा कौर 28 वर्षीय व पुत्र प्रकाश सिंह 11 वर्षीय गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

Prashant MishraMon, 19 Apr 2021 08:51 PM (IST)

संवाद सूत्र, नानकमत्ता : ढाबा मालिक हिम्मत सिंह के स्वजनों पर फायर झोंकने वाले पांच आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर दिया। पुलिस आरोपितों का आपराधिक इतिहास खंगाल रही है।

नानकमत्ता थाना अध्यक्ष कमलेश भट्ट ने बताया कि सोमवार को ग्राम बरकीडाडी निवासी गुरमेज सिंह उर्फ पोला पुत्र मान सिंह, ग्राम बरकीडाडी निवासी चमकीला पुत्र बलवंत सिंह, ग्राम बरकीडाडी निवासी प्रेम सिंह पुत्र बलदेव सिंह, ग्राम कादर नंगला थाना खैरथल जिला अलवर राजस्थान हाल निवासी खत्री फार्म बरकीडाडी निवासी राम सिंह पुत्र सरदार सिंह, ग्राम किशनपुर निवासी गुरनाम सिंह पुत्र चरन सिंह को कामन नदी के पुल के पास से गिरफ्तार कर लिया गया।

आरोपतों के कब्जे से घटना में इस्तेमाल की गई बाइक संख्या यूके 06 एजे 9835, 315 बोर का एक तमंचा, 12 बोर एक तमंचा व दो कारतूस बरामद हुए। भट्ट ने बताया कि घटना पिछले रविवार की सुबह की है, जब ढाबा मालिक ग्राम सिद्धान वदिया थाना नानकमत्ता निवासी हिम्मत सिंह पुत्र भगवान सिंह सुबह चार बजे अपने घर के आंगन में अपने परिवार के साथ सो रहा था। उसी दौरान आरोपितो में गुरमीत सिंह उर्फ पोला ने 315 बोर के तमंचे व राम सिंह ने 12 बोर के तमंचे से सो रहे हिम्मत पर फायर झोंक दिए थे। जिसमें हिम्मत सिंह की पत्नी सुमित्रा कौर 28 वर्षीय व पुत्र प्रकाश सिंह 11 वर्षीय गंभीर रूप से घायल हो गए थे। हिम्मत बाल बाल बच गया था।

घटना से एक दिन पहले आरोपितो का ढाबा मालिक से ढाबे पर शराब पीने को लेकर विवाद हुआ था और आरोपित ढाबा मालिक को देख लेने की धमकी देकर फरार हो गए थे। आरोपितों पर विभिन्न संगीन धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर सोमवार को कोर्ट में पेश किया है। आरोपितों के आपराधिक रिकार्ड खंगाली जा रही है। पुलिस टीम खटीमा पुलिस क्षेत्राधिकारी मनोज ठाकुर, थानाध्यक्ष कमलेश भट्ट, एसआई नवीन बुधानी, का0 हरेन्द्र थापा, प्रकाश आर्या, हेमचंद फुलारा,नवनीत कुमार, बुविन्दर कुमार, पंकज बिनवाल थाना किच्छा, भूपेन्द्र आर्या (एसओजी) थे ।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.