कच्ची शराब बनाने का विरोध करने पर स्वजनों ने ही कर दिया हत्या ! ग्रामीणों ने कहा खुद था नशे का आदी

ऊधमसिंहनगर जिले के केलाखेड़ा के निकटवर्ती गांव कामरेड का डेरा में कच्ची शराब बनाने का विरोध करने पर 35 वर्षीय युवक की पीट पीटकर हत्या कर दी गई। मृतक की पत्नी का आराेप है कि युवक के परिजन अवैध शराब बनाने के साथ उसकी तस्करी करते हैं ।

Skand ShuklaSun, 13 Jun 2021 01:43 PM (IST)
शराब बनाने का विरोध करने पर स्वजनों ने ही कर दिया हत्या ग्रामीणों ने कहा खुद था नशे का आदी

केलाखेड़ा, संवाद सूत्र : ऊधमसिंहनगर जिले के केलाखेड़ा के निकटवर्ती गांव कामरेड का डेरा में कच्ची शराब बनाने का विरोध करने पर 35 वर्षीय युवक की पीट पीटकर हत्या कर दी गई। मृतक की पत्नी का आराेप है कि युवक के परिजन अवैध शराब बनाने के साथ उसकी तस्करी करते हैं । जिसका वह हमेशा विरोध करता था। बीते दिन लहन की पन्नी फाड़ने को लेकर विवाद हुआ था। तब स्वजनों और धंधे में लिप्त अन्य लोगों ने उसे लाठी-डंडों से बेरहमी से पीटा था। जिसके बाद उसने खुद पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने गंभीर हालत में युवक को बाजपुर अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उसकी मौत हो गई। वहीं मृतक की पत्नी के आरोपों को परिवार वाले साजिश का हिस्सा बता रहे हैं।

केलाखेडा के निकटवर्ती कामरेड का डेरा गांव निवासी सिमरनजीत कौर ने थाने में तहरीर देकर कहा कि उसके ससुर मक्खन सिंह व जेठ देवराज उर्फ मलकीत सिंह घर पर ही अवैध शराब बनाने का अवैध धंधा करते हैं। इस काम का पति मंजीत सिंह अक्सर विरोध करता था। शनिवार को भी मक्कखन सिंह घर पर ही कच्ची शराब बना रहा था। शाम का घर लौटे मंजीत सिंह ने इसका विरोध किया और लहन की पन्नी फाड़ दी। जिस से गुस्सा होकर मेरे ससुर मक्कख सिंह, जेठ देवराज सिंह उर्फ मलकीत, ननद प्रियंका कौर ननदोई नानक सिंह व गांव के कुछ लोगों ने एकराय होकर मेरे पति पर लाठी-डंडो और लात घूसों से हमला कर दिया। वारदात मेंपति गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना की सूचना थाना केलाखेड़ा मे दी गई जिस पर केलाखेडा थाना पुलिस तुरंत घटना स्थल पर पहुंची और घायल मंजीत सिंह को बाजपुर सीएचसी ले जाया गया जहां पर चिकित्सकों ने मंजीत सिंह को मृत घोषित कर दिया। थानाध्यक्ष भुवन जोशी ने बताया कि तहरीर के आधार पर धारा 147,148, 302,427 आई पी सी के तहत अभियोग पंजिकृत कर लिया गया है जांच जारी है जल्द गिरफ्तारी की जाएगी।

फंसाए जाने के विरोध में ग्रामीण भी पहुंचे थाने

मृतक मनजीत सिंह की पत्नी सिमरनजीत कौर द्वारा नामजद किए गए अभियुक्तों को झूठा फंसाए जाने के विरोध में दर्जनों ग्रामीण ग्राम प्रधान पति बलविंदर सिंह के नेतृत्व में थाने पहुंचे और थाना अध्यक्ष भुवन चन्द्र जोशी का घेराव किश्स। ग्रामीणों ने बताया कि मृतक खुद शराब का आदी था और पीकर आए दिन विवाद करता रहता था। बीती रात भी उसने शराब पीकर हंगामा किया व परिजनों के साथ हाथापाई की। और खुद को घायल कर लिया था। मृतक की पत्नी के द्वारा लगाए गए सारे आरोप निराधार हैं वहीं थानाध्यक्ष ने लोगों को आश्वासन दिया कि किसी भी निर्दोष को जेल नहीं जाने दिया जाएगा तथा दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

मृतक की पत्नी के आरोपों में है कितनी सच्चाई

हत्या जैसे गंभीर मामले में स्थानीय पुलिस फूंक फूंक कर कदम रख रही है अगर मृतक की पत्नी के आरोपों में सच्चाई है तो अवैध शराब एक जान जाने का कारण बन चुकी है वहीं दूसरी ओर मृतक मंजीत सिंह अपने परिवार की नैया का खुद ही खेवनहार था। उसके परिवार में दो पुत्री व एक पुत्र हैं। जिनका भविष्य अंधकार में हो गया है।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.