top menutop menutop menu

फार्मासिस्ट के भरोसे आठ हजार की आबादी

संसू, गरमपानी : पहाड़ में चिकित्सा व्यवस्थाओं का हालात सुधरने का नाम नहीं ले रही हैं। कहीं स्वास्थ्य केंद्रों में चिकित्सकों की तैनाती न होने के कारण लोगों को स्वास्थ्य सुविधाओं को लिए दर दर भटकना पड़ रहा है। ऐसा ही सूरत ए हाल है ताड़ीखेत ब्लॉक के सुदूर सूरी क्षेत्र के गांवों का है। जहां चिकित्सक न होने से करीब आठ हजार से ज्यादा की आबादी स्वास्थ सुविधाओं के लिए तरस रही है। गाव को लोग मजबूरी में दूर दराज को रुख कर रहे है।

ताड़ीखेत ब्लॉक के सुदूर सूरी समेत आसपास के गडस्यारी, मटीला, सुनियाकोट, कोटुली, पडूयूला, बडसिला आदि गांवों के लोगों को स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के लिए स्वास्थ्य उपकेंद्र की स्थापना की गई। मगर स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक कर तैनाती न होने से ग्रामीण बेहतर स्वास्थ्य सेवा के लिए तरस गए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि केंद्र में एक मात्र फार्मासिस्ट की तैनाती की गई है। छोटी छोटी बीमारियों के इलाज के लिए रानीखेत, गरमपानी व अल्मोड़ा जाना पड़ता है।

============

ग्रामीणों की बैठक में उठा मुद्दा

सोमवार को ग्रामीणों की बैठक में स्वास्थ्य का मुद्दा जोरशोर से उठा। वक्ताओं ने कहा कि क्षेत्र की करीब आठ हजार की से ज्यादा की आबादी महज एक फार्मासिस्ट के हवाले हैं। आपातकालीन स्थिति में उनको स्वास्थ्य केंद्र का लाभ नहीं मिल पाता है। चेतावनी दी कि शीघ्र स्वास्थ्य उपकेंद्र में चिकित्सक की तैनाती नहीं की गई तो आंदोलन किया जाएगा। बैठक में ग्राम प्रधान हरक सिंह परिहार, पान सिंह, दीवान सिंह परिहार, भुवन सिंह, ईश्वर सिंह, मोहन सिंह, जयंत लाल, चंद्रमणि बेलवाल, राम सिंह परिहार, मदन सिंह, शिव सिंह, हीरा सिंह, प्रताप सिंह, प्रेम सिंह, नारायण सिंह आदि मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.