प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के चुनाव में विवाद, तीन प्रत्याशियों ने वापस लिया नाम

प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल का महानगर हल्द्वानी का चुनाव विवादों में आ गया है। अध्यक्ष पद के प्रत्याशी सूरज लांबा समेत तीन प्रत्याशियों ने चुनाव प्रक्रिया में पक्षपात का आरोप लगाते हुए नाम वापस ले लिया। संगठन ने आरोपों को दरकिनार करते हुए चुनाव प्रक्रिया जारी रखी।

Skand ShuklaSun, 26 Sep 2021 07:59 AM (IST)
प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के चुनाव में विवाद, तीन प्रत्याशियों ने वापस लिया नाम

जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल का महानगर हल्द्वानी का चुनाव विवादों में आ गया है। अध्यक्ष पद के प्रत्याशी सूरज लांबा समेत तीन प्रत्याशियों ने चुनाव प्रक्रिया में पक्षपात का आरोप लगाते हुए नाम वापस ले लिया। संगठन ने आरोपों को दरकिनार करते हुए चुनाव प्रक्रिया जारी रखी। नाम वापसी के बाद महानगर अध्यक्ष समेत पांच पदों पर एक-एक प्रत्याशी बचने से सभी का निर्विरोध निर्वाचन तय हो गया है। शेष तीन पदों के लिए दो अक्टबूर को मतदान होगा।

शनिवार नामांकन पत्रों की जांच व नाम वापसी का दिन था। आठ पदों के लिए 19 नामांकन हुए थे। जांच में सभी सही पाए गए। दो नाम वापस होने से निवर्तमान महानगर अध्यक्ष योगेश शर्मा के हाथ फिर से कमान आनी तय है। विपुल अग्रवाल व विनोद जायसवाल की नाम वापसी से वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर त्रिकोणीय मुकाबला होगा। महामंत्री व संगठन मंत्री पद के लिए दो-दो प्रत्याशियों के बीच सीधी टक्कर होगी।

वहीं, प्रचार मंत्री, महिला उपाध्यक्ष, महिला सचिव, कोषाध्यक्ष व प्रचार मंत्री पदों पर भी प्रत्याशियों का निर्विरोध चुना जाना तय है। वरिष्ठ उपाध्यक्ष, महामंत्री व संगठन मंत्री के लिए चुनाव होगा। चुनाव प्रक्रिया संपन्न कराने में मुख्य निर्वाचन अधिकारी हरीश पांडे, सहायक चुनाव अधिकारी एनडी तिवारी, इंद्र कुमार भुटियानी, जहीर अंसारी, मनोज गुप्ता, परमजीत सिंह कोहली, प्रेम मदान, कैलाश जोशी, जिलाध्यक्ष विपिन गुप्ता, कार्यालय प्रभारी विष्णु दत्त बेलवाल शामिल रहे।

इनका निर्विरोध निर्वाचन तय

महानगर अध्यक्ष : योगेश शर्मा

महिला उपाध्यक्ष : दीपा जायसवाल

महिला सचिव : गीता कांडपाल

कोषाध्यक्ष : गौरव गुप्ता

प्रचार मंत्री : संदीप सक्सेना

इन पदों पर रहेगी टक्कर

वरिष्ठ उपाध्यक्ष : मनोज चौहान, संदीप गुप्ता, सचिन गुप्ता

महामंत्री : प्रदीप सबरवाल, मनोज जायसवाल

संगठन मंत्री : उपेंद्र कनवाल, गुरमीत सिंह चौहान

चुनाव का बहिष्कार कर किया प्रदर्शन

अध्यक्ष पद के दावेदार सूरज लांबा, महामंत्री पद के राजू गुप्ता व कोषाध्यक्ष पद के दावेदार त्रिलोक सिंह ने चुनाव प्रक्रिया का बहिष्कार कर नामांकन वापस कर दिया। लांबा ने आरोप लगाया कि पुरानी महानगर कार्यकारिणी ने शहर में 1800 व्यापारियों को 2021-22 के लिए फ्रेम युक्त प्रमाणपत्र बांटे हैं। चुनाव प्रभावित करने की मंशा से यह किया गया। लांबा ने मुख्य चुनाव अधिकारी से की लिखित शिकायत में कहा है कि 19 सितंबर को शिकायत करने के बाद भी केवल 68 प्रमाणपत्र वापस मंगाए गए।

व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा में व्यापारी हित गौण

राजनीतिक पार्टियों की तरह व्यापारी संगठन भी व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा का केंद्र बन गए हैं। उत्तराखंड के व्यापारी संगठन इसका जीता-जागता उदाहरण हैं। कभी एक बैनर के तले व्यापारी हितों की आवाज उठाने वाले व्यापारी व्यक्तिगत महात्वाकांक्षा में चलते एक से दो और फिर दो से चार संगठनों में बंट गए। दो साल के कार्यकाल के बाद भी जिला, महानगर से लेकर प्रदेश स्तर तक व्यापारी नेता वर्षों से जमे हुए हैं। ये भी सत्य है कि अधिकांश व्यापारी संगठन के पचड़े से बचकर केवल अपने व्यापार तक सीमित रहते हैं।

चुनाव में फायदा लेने जैसी बात नहीं हुई प्रमाणित

प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिलाध्यक्ष विपिन गुप्ता ने बताया कि कोरोना की वजह से पुरानी कार्यकारिणी को सदस्यता के प्रमाणपत्र बांटने में देरी हुई। त्रुटिवश उसमें वर्ष 2020-21 हो गया। तीन प्रत्याशियों की शिकायत के मामले में प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी प्रमोद गोयल से रायशुमारी की गई। प्रमाणपत्र में चुनाव में फायदा लेने जैसी कोई बात प्रमाणित नहीं हुई है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.