रानीखेत के उपराड़ी गांव में डायरिया की दस्तक, 50 से ज्यादा ग्रामीण चपेट में आए, चिकित्सकों ने डाला डेरा

ताड़ीखेत ब्लॉक के बड़े गांवों में शुमार उपराड़ी में डायरिया का प्रकोप हो गया है। करीब 800 की आबादी वाले गांव में शनिवार को एक के बाद दूसरे 50 से ज्यादा लोग उल्टी दस्त की चपेट में आ गए। हड़कंप के बीच स्वास्थ्य विभाग को सूचना भेजी गई।

Prashant MishraSat, 30 Oct 2021 05:16 PM (IST)
कैंप लगा ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उपचार शुरू किया गया। जरूरत के अनुसार दवाएं भी बांटी गईं।

जागरण संवाददाता, रानीखेत (अल्मोड़ा) : सर्दी की दस्तक के साथ ही तहसील के उपराड़ी गांव में डायरिया ने पांव पसार लिए हैं। यहां छोटे बड़े 50 से ज्यादा ग्रामीणों के संक्रामक रोग की चपेट में आने से सकते में आए चिकित्सकों ने गांव में डेरा डाल दिया है। हालात काबू में आने तक स्वास्थ्य विभाग की टीम क्षेत्र में कैंप करती रहेगी। इधर देर शाम तक ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण व उपचार चलता रहा। 

ताड़ीखेत ब्लॉक के बड़े गांवों में शुमार उपराड़ी में डायरिया का प्रकोप हो गया है। करीब 800 की आबादी वाले गांव में शनिवार को एक के बाद दूसरे 50 से ज्यादा लोग उल्टी दस्त की चपेट में आ गए। हड़कंप के बीच स्वास्थ्य विभाग को सूचना भेजी गई। आनन फानन मेें चिकित्सक डा. अदिति कटियार की अगुआइ में सीएचसी ताड़ीखेत से टीम गांव पहुंची। कैंप लगा ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उपचार शुरू किया गया। जरूरत के अनुसार दवाएं भी बांटी गईं। 

चिकित्सक डा. अदिति ने ग्रामीणों से पानी उबाल कर पीने व साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने की सलाह दी। उन्होंने बताया कि लगभग 50 लोग संक्रामक रोग से पीडि़त पाए गए। हालांकि शिविर में सभी का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हालिया अतिवृष्टिï के बाद प्राकृतिक जलस्रोतों में गंदगी के रिसाव से डायरिया फैलने की संभावना है। शिविर में डा. कार्तिक रैना, भुवन जोशी, भास्कर रावत, ममता बिष्ट आदि स्वास्थ्य कर्मी देर शाम तक स्वास्थ्य परीक्षण में जुटे रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.