नैनीताल की बदल रही है डेमोग्राफी, खुफिया एजेंसियों ने किया आगाह

राज्य के तमाम क्षेत्रों में समुदाय विशेष की आबादी में अचानक बढ़ोत्तरी से डेमोग्राफिक चेंज (जनसांख्यिकीय बदलाव) को लेकर सरकार अब सख्त हुई है। कुमाऊं मंडल मुख्यालय नैनीताल में भी बदल रही डेमोग्राफी से यहां के स्थायी वाशिंदे चिंतित हैं।

Skand ShuklaSun, 26 Sep 2021 09:05 AM (IST)
नैनीताल की बदल रही है डेमोग्राफी, खुफिया एजेंसियों ने किया आगाह

किशोर जोशी, नैनीताल : राज्य के तमाम क्षेत्रों में समुदाय विशेष की आबादी में अचानक बढ़ोत्तरी से डेमोग्राफिक चेंज (जनसांख्यिकीय बदलाव) को लेकर सरकार अब सख्त हुई है। कुमाऊं मंडल मुख्यालय नैनीताल में भी बदल रही डेमोग्राफी से यहां के स्थायी वाशिंदे चिंतित हैं। अब जिलास्तर पर कमेटी गठित किए जाने के सरकार के निर्णय के बाद उम्मीद बंधी है कि लगातार हो रही संदिग्धों की आवक पर ब्रेक लगेगा।

खुफिया एजेंसियों के सूत्रों के अनुसार नैनीताल शहर के विभिन्न क्षेत्रों में समुदाय विशेष का दखल बढ़ रहा है। उच्च न्यायालय के अधिवक्ता नितिन कार्की ने इस डेमोग्राफिक चेंज के संबंध में पिछले दिनों ही आगाह करते हुए जिला प्रशासन के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया। तभी से स्थानीय खुफिया एजेंसियां अलर्ट हो चुकी थी और प्रारंभिक तौर पर जानकारी जुटाते हुए उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया था।

एजेंसियों ने माना है कि नैनीताल में घोड़ा, टैक्सी, नौका संचालन, टूरिस्ट गाइडिंग, होटलों को लीज में लेने में समुदाय विशेष खासकर रामपुर, दडिय़ाल, स्वार, मुरादाबाद, बिजनौर, सहारनपुर के लोगों का दखल बढ़ा है। यहां तक सीआरएसटी स्कूल के पीछे ऊपरी पहाड़ी, बारापत्थर समेत अन्य संवेदनशील व प्रतिबंधित क्षेत्रों में पहले कच्चा फिर रातोंरात पक्का अवैध निर्माण किए जा रहे हैं। रिपोर्ट में मल्लीताल में शत्रु संपत्ति मेट्रोपोल में अवैध तरीके से कब्जा कर रहने का भी इनपुट शामिल है।

होटल-गेस्ट हाउस की लीज लेने में दिखा रहे अधिक रुचि

हालिया वर्षों में होटल, गेस्ट हाउस के साथ ही रेस्टोरेंट व अन्य छिटपुट धंधों में उत्तर प्रदेश से आए समुदाय विशेष के लोग नजरें गड़ाए हैं। भवाली में श्यामखेत क्षेत्र, किलबरी-पंगोट, मंगोली-बजून क्षेत्र में भी भूमि की खरीद-फरोख्त के साथ ही होटल-गेस्ट हाउस लीज पर लेने के सौदों में भी समुदाय विशेष की मौजूदगी अधिक है। अधिवक्ता नितिन कार्की कहते हैं कि डेमोग्राफी बदलने की कोशिशों से भविष्य में अशांति का खतरा है। स्थानीय प्रशासन और पुलिस इस मामले को अब तक गंभीरता से लेने के बजाय खानापूरी कर रहे थे।

भूमि की रजिस्ट्री पर भी खास नजर : डीएम

डीएम नैनीताल धीराज गब्र्याल ने बताया कि डेमोग्राफी चेंज होने व इससे पलायन की सूचनाओं के संबंध में शासन के निर्देशों का अक्षरश: पालन कराया जाएगा। भूमि की रजिस्ट्री पर भी खास नजर रखी जाएगी। इस मामले में किसी तरह की कोताही नहीं होगी। स्थानीय नागरिकों को भी जागरूक रहना चाहिए।

नैनीताल समेत पूरे पहाड़ में चलेगा सघन अभियान

डीआइजी नीलेश आनंद भरणे के अनुसार डेमोग्राफी में बदलाव के मामले में शासन के निर्देशानुसार इनपुट जुटाकर कार्रवाई की जाएगी। नैनीताल समेत पूरे पर्वतीय क्षेत्र में सघन सत्यापन अभियान की रूपरेखा तैयार की गई है। पुलिस कप्तान व क्षेत्राधिकारी इसकी मॉनिटरिंग करेंगे और थाना स्तर के अधिकारियों की जवादबेही तय होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.