Big Breaking : उत्‍तराखंड के पिथौरागढ़ में कमरे में मिला पति-पत्नी और बेटी का शव

उत्‍तराखंड में कमरे में मिला पति पत्‍नी और बेटी का शव, गांव में हड़कंप

पिथौरागढ़ जिले में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत का सनसनीखेज मामला सामने आया है। जिले कि बेरीनाग तहसील के चचरेत गांव में पति कमरे में फंदे से लटका और पत्नी व दो वर्षीय बेटी मृत मिली हैं। घटना की सूचना के बाद गांव में हड़कंप मचा है।

Skand ShuklaFri, 09 Apr 2021 01:47 PM (IST)

जागरण संवाददाता, बेरीनाग (पिथौरागढ़) : पिथौरागढ़ जिले में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बेरनीनाग तहसील के विकास खंड के चचरेत गांव में पति कमरे में फंदे से लटका और पत्नी व दो वर्षीय बेटी मृत मिली हैं। घटना की सूचना के बाद गांव में हड़कंप मचा है। फिलहाल पारिवारिक कलह को वारदात की वजह माना जा रहा है। आशंका है कि पति ने पहले पत्नी और बच्ची को जहर दिया हो और उसके बाद खुद ही फांसी के फंदे से लटकर खुदकुशी कर ली हो।  

तहसील मुख्यालय से 12 किमी देर चचरेत गांव में शुक्रवार सुबह आठ बजे तक चंचल सिंह के घर का दरवाजा नहीं खुला। ग्रामीणों ने इसकी सूचना चंचल के बड़े भाई को दी। बड़ा भाई भी मौके पर पहुंचा। सुबह आठ बजे तक घर का दरवाजा नहीं खुलने से अनहोनी की आशंका को देखते हुए ग्रामीणों ने मकान दरवाजा तोड़ा । दरवाजा तोड़ते ही कमरे में 25 वर्षीय चंचल सिंह पुत्र नारायण सिंह का शव फंदे पर लटका था। चंचल सिंह की पत्नी 21 वर्षीय सरिता देवी और दो वर्षीय पुत्री गीतांजलि बिस्तर में मृत हालत में थे।

मृतक के बड़े भाई भगवान सिंह ने इसकी सूचना राजस्व विभाग को दी । क्षेत्र के राजस्व विभाग के अंतर्गत होने से एसडीएम अभय प्रताप सिंह के नेतृत्व में राजस्व टीम गांव को रवाना हुई । राजस्व पुलिस ने गांव में पहुंच कर तीनों शव कब्जे में लिए । राजस्व पुलिस जांच में जुटी है। राजस्व पुलिस के अनुसार चंचल सिंह दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करता था। वह बुधवार को दिल्ली से अपनी ससुराल चौकोड़ी पहुंचा था। जहां उसकी पत्नी सरिता और बेटी थी। गुरु वार की सायं वह पत्नी और बच्ची को साथ लेकर गांव आया। शुक्रवार की सुबह परिवार के तीनों सदस्यों के शव कमरे में मिले हैं।

मृतक चंचल सिंह की सरिता से वर्ष 2015 में शादी हुई थी। उसका ससुराल थल के कशाड़ी गांव में है। वर्तमान में ससुराल वाले चौकोड़ी में रहते हैैं। मृतका सरिता देवी विगत छह माह से मायके वालों के साथ चौकोड़ी में रह रही थी। चंचल सिंह का परिवार अपने भाई के परिवार से अलग रहता था।  अभी तक मौत के कारणों का पता नहीं चल सका है। मामला संदिग्ध नजर आ रहा है। मृतका सरिता के चाचा का कहना है कि उन्होंने बेटी, नतिनी और दामाद को खोया है। उन्होंने राजस्व पुलिस से इस मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.