मेहनरबूंगा में पेयजल संकट को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन, पंपिंग योजना से नहीं मिल रहे कनेक्शन

महिलाओं को सबसे अधिक परेशानी हो रही है। जिला मुख्यालय से सटे मेहनरबूंगा में पेयजल की स्थिति यदि ऐसी है तो ग्रामीण क्षेत्रों का हाल कैसा होगा। कहा कि सरकार हर घर नल से जल देने की बात करती है। लेकिन नगर के वार्डों में पेयजल किल्लत बनी हुई है।

Prashant MishraSat, 12 Jun 2021 05:41 PM (IST)
कांग्रेस के प्रदेश सचिव बालकृष्ण ने आमरण अनशन की चेतावनी दी।

जागरण संवाददाता, बागेश्वर : कांग्रेस ने मेहनरबूंगा क्षेत्र की पेयजल व्यवस्था सुचारू नहीं होने पर कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। उन्होंने पंपिंग योजना से पेयजल कनेक्शन उपभोक्ताओं को देने की मांग की। ऐसा नहीं होने पर कांग्रेस के प्रदेश सचिव बालकृष्ण ने आमरण अनशन की चेतावनी दी।

शनिवार को कांग्रेसी और मेहनरबूंगा के ग्रामीण कलक्ट्रेट पहुंचे। उन्होंने नारेबाजी के साथ प्रदर्शन किया। कहा कि पंपिंग योजना से क्षेत्र के लोगों को वंचित रखा गया है। उन्हें पेयजल कनेक्शन नहीं दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंपिंग योजना उपभोक्ताओं की भूमि पर बना हुई है। जिसमें किसानों की भूमि भी बर्बाद हुई है। बावजूद भी उपभोक्ता पानी के लिए तरस रहे हैं। लोग लगभग एक किमी दूर जलस्रोत से पानी की आपूर्ति कर रहे हैं। जिसमें उनका समय बर्बाद हो रहा है। महिलाओं को सबसे अधिक परेशानी हो रही है। जिला मुख्यालय से सटे मेहनरबूंगा में पेयजल की स्थिति यदि ऐसी है तो ग्रामीण क्षेत्रों का हाल कैसा होगा। कहा कि सरकार हर घर नल से जल देने की बात करती है। लेकिन नगर के वार्डों में पेयजल किल्लत बनी हुई है। इस दौरान महेश पंत, बहादुर सिंह बिष्ट, राजा पांडे, गुड्डू पाठक, जगदीश पांडे, दिनेश कुमार, रमेश चंद्र आदि मौजूद थे।

नलों में आ रहा गंदा पानी, नागरिकों में आक्रोश

बारिश के कारण नदियों में सिल्ट आने से पेयजल किल्लत होने लगी है। घरों में गंदा पानी आ रहा है। जल महकमे शहर से लेकर गांव तक शुद्ध पानी पिलाने का दावा करते हैं। लेकिन बारिश में उनकी तैयारियां पूरी तरह पटरी से उतर जाती हैं। पिछले तीनों दिनों से रुक-रुक कर हो रही झमाझम बारिश के कारण गाड़-गधेरे, सरयू, गोमती समेत अन्य जलस्रोतों में पानी बढ़ गया है। इतना ही नहीं पानी काफी गंदा बह रहा है। सिल्ट आने से अधिकतर पेयजल योजनाएं भी प्रभावित हो गई हैं। नगर के लिए बनी मंडलसेरा पंपिंग योजना, जखेड़ा पेयजल योजना के अलावा खरेही पंपिंग योजना में गंदे पानी की सप्लाइ हो रही है। लोग जलस्रोतों का प्रदूषित पानी पीने को मजबूर हो गए हैं। मंडलसेरा, तहसील रोड, आदर्श कालोनी, मजियाखेत, कठायतबाड़ा के अलावा खरेही पट्टी, गरुड़ तहसील के मन्यूड़ा आदि गांवों में गंदे पानी की सप्लाइ हो रही है। कांग्रेस के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, पूर्व जिपंअ हरीश ऐठानी, पूर्व दर्जा मंत्री राजेंद्र टंगड़िया, धीरज कोरंगा आदि ने कहा कि योजनाओं की कलई बर्षात ने खोल दी है। पानी का उचित प्रबंधन नहीं हो पा रहा है। इधर, जलसंस्थान के प्रभारी अधिशासी अभियंता सीएस देवड़ी ने कहा कि योजनाएं बारिश से प्रभावित हैं, लेकिन पेयजल की आपूर्ति सुचारू है। गंदे पानी की सप्लाइ नहीं की जा रही है। पानी को फिल्टर करने के बाद ही वितरित किया जा रहा है।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.