देहरादून में बनेगा राज्य का सबसे बड़ा ऐपण इंपोरियम, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा-अनूठी लोककला को देंगे नई पहचान

हरेक प्राथमिक स्कूल में पांच-पांच अध्यापकों की नियुक्ति कर रोजगार के द्वार भी खोले जा रहे हैं।

सीएम ने कहा कि ऐपण इंपोरियम के साथ लोककला एवं कलाकारों को प्रोत्साहित करने के लिए पांच करोड़ का बजट रखा गया है। वहीं सरकारी प्राथमिक विद्यालयों की छात्र संख्या बढ़ाने व गुणवत्तायुक्त शिक्षा के उद्देश्य से बच्चों के लिए स्कूल बसों का बंदोबस्त किया जाएगा।

Prashant MishraSun, 28 Feb 2021 05:49 PM (IST)

जागरण संवाददाता, द्वाराहाट (अल्मोड़ा) : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखंडी लोक संस्कृति एवं परंपरा से जुड़ी ऐपण विधा को देश-दुनिया में अलग पहचान दिलाई जाएगी। इसी मकसद से देहरादून में राज्य का सबसे बड़ा ऐपण इंपोरियम बनाया जाएगा। लोककला एवं कलाकारों को प्रोत्साहित करने के लिए पांच करोड़ का बजट रखा गया है। वहीं सरकारी प्राथमिक विद्यालयों की छात्र संख्या बढ़ाने व गुणवत्तायुक्त शिक्षा के उद्देश्य से बच्चों के लिए स्कूल बसों का बंदोबस्त किया जाएगा। ताकि दूरदराज के बच्चों को बेहतर सुविधा दे उनका भविष्य संवारा जा सके। वहीं हरेक प्राथमिक स्कूल में पांच-पांच अध्यापकों की नियुक्ति कर रोजगार के द्वार भी खोले जा रहे हैं।

सीएम त्रिवेंद्र रविवार को यहां शीतलापुष्कर मैदान में जनसभा के दौरान बोल रहे थे। उन्होंने कहा उत्तराखंड को भ्रष्टïाचार मुक्त बनाना प्राथमिकता रही है। सचिवालय को माफिया मुक्त किया जा चुका है। सीएम ने कहा कि सत्ता संभालते वक्त जो शपथ ली गई थी, इन चार वर्षों में राज्य के विकास व भ्रष्टïाचार के खात्मे का ही काम किया है।

17 वर्षों का काम चार सालों में किया

राज्य के मुखिया ने कहा कि उत्तराखंड गठन के बाद जो कार्य 17 वर्षों में किए गए, उतना ही भाजपा सरकार ने चार साल में कर दिखाया है।  99 प्रतिशत गांव सड़कों से जुड़ चुके हैं। 134 किमी सड़कें और बनाई जारी हैं। फिर तोकों की बारी है।

कोई चिकित्सालय डाक्टर विहीन नहीं रहेगा

शिक्षा के साथ स्वास्थ्य पर फोकस करते हुए सीएम ने कहा कि प्रदेश को 768 चिकित्सक जल्द मिलेंगे। 2200 डाक्टरों की तैनाती और की जाएगी। शीघ्र ही ढाई हजार नर्स विभिन्न चिकित्सालयों में तैनाती लेंगी। सीएम ने दावा किया कि अगले पांच वर्षों में दोगुने चिकित्सक राज्य में होंगे। टेलीमेडिसन की सुविधा को विस्तार दिया जा रहा है। वहीं राज्य के 500 विद्यालयों में वर्चुअल कक्षाएं चल रही हैं।

पर्यटन विकास पर खास जोर

पर्यटन विकास पर सीएम बोले कि सड़कें दुरुस्त करने को अच्छा खासा बजट खर्च किया गया है। हवाई पट्टी को महत्व दिया जा रहा। चौखुटिया में तडग़ताल झील पर्यटन विकास में मील का पत्थर बनेगी। चौखुटिया में हवाई पट्टी से समीपवर्ती द्वाराहाट, रानीखेत ही नहीं कौसानी आदि इलाके भी लाभान्वित होंगे।

हरेला पर पूरे राज्य में मुहिम

लोक पर्व हरेला पर अबकी पूरे राज्य में एक साथ एक घंटा पौधारोपण को दिया जाएगा। सीएम ने कहा कि हरेला पर्व पर्यावरण संरक्षण का प्रतीक है। इस बार इसे खास बनाया जाएगा।

तिरदा ने सुनाया घसियारी गीत

महिलाओं को पति की पैतृक संपत्ति पर सहखातेदार बनाने की बात दोहराते हुए सीएम त्रिवेंद्र ने कहा कि घास का बोझ उतारने के लिए घसियारी योजना शुरू की जा रही है। उन्होंने लोक गायक नगेंद्र सिंह का गाया घसियारी गीत सुना माहौल को नया पुट दिया। कहा कि महिलाओं की सुविधा को घास अब राशन की तरह बंटेगा। 7771 गोदामों के जरिये घास मुहैया कराई जाएगी।

अब कोई मांग नहीं : महेश

विधायक महेश नेगी ने कहा कि विकास कार्यों में द्वाराहाट पूरे राज्य में नंबर-एक है। विकास कार्यों में एक हजार करोड़ से ज्यादा खर्च कर दिया है। 140 नई सड़कों के जाल के साथ गगास बैराज जैसा बड़ा प्रोजेक्ट तैयार हो रहा। तडग़ताल में झील बड़ी उपलब्धि होगी। उन्होंने कहा कि पहले ही सब मांगें पूरी हो गई हैं। अब सीएम से और कुछ नहीं मांगेंगे। पालिकाध्यक्ष मुकेश लाल साह ने हितचिंतक भवन के पुनर्निर्माण, महिला चिकित्सालय खोले जाने, स्याल्दे बिखौती को राजकीय मेला घोषित किए जाने व विश्राम गृह बनाए जाने की मांग की।

ये रहे मौजूद

उत्तराखंड चाय विकास बोर्ड उपाध्यक्ष गोविंद सिंह पिलख्वाल, महिला आयोग उपाध्यक्ष ज्योति साह मिश्रा, प्रदेश सहमीडिया प्रभारी विमला रावत, जिलाध्यक्ष रवि रौतेला, महेश नयाल, कैलाश भट्ट, अनिल साही, सुरेंद्र मनराल, पूर्व प्रमुख ममता भट्ट, पूरन कैड़ा, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष ममता भट्ट, घनश्याम भट्ट, भूपेंद्र कांडपाल, सदानंद पांडे, जगदीश बुधानी, उमेश भट्ट, जनार्दन पांडे,  आशीष वर्मा, हिमांशु उपाध्याय, दीपक साह, बीना चौधरी आदि।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.