नैनी झील के पानी की गुणवत्ता जांचने के निर्देश

जागरण संवाददाता, नैनीताल : मंडलायुक्त राजीव रौतेला ने नैनी झील के पानी की गुणवत्ता जांचने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि झील का पानी पेयजल के तौर पर शहर के वाशिंदों के अलावा पर्यटक भी उपयोग में लाते हैं। आसपास के क्षेत्रों में भी इसी पानी की आपूर्ति की जा रही है। इसलिए झील के पानी की गुणवत्ता समय-समय पर जांचनी जरूरी है।

मंगलवार को मंडलायुक्त अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे थे। उन्होंने जल संस्थान व सिंचाई विभाग को नैनी झील के पानी का नमूना लेकर आधुनिकतम प्रयोगशाला में जांच कराने के निर्देश दिए। महाप्रबंधक जल संस्थान डीके मिश्रा को हिदायत दी कि झील में आने वाले नाले जहां-जहां से प्रवेश कर रहे हैं, उन स्थानों के साथ ही अन्य कोनों के पानी के सैंपल लिए जाएं।

आयुक्त ने जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन से कहा कि झील की सफाई के लिए सीवर ट्रीटमेंट प्लांट लगाने की जरूरत है। आइआइटी रूड़की ने भी अपनी रिपोर्ट में इसका उल्लेख किया है। उन्होंने एसटीपी निर्माण के लिए विशेषज्ञों के मार्गदर्शन में कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए। लोअर माल रोड की मरम्मत में लाएं तेजी

आयुक्त ने लोअर माल रोड की मरम्मत कार्यो की समीक्षा करते हुए कहा कि माल रोड की मरम्मत तेजी से पूरी की जाए, ताकि नंदा देवी का डोला परंपरागत मार्ग से निकाला जा सके। आयुक्त ने रोड की स्थिति को देखते हुए डोले के साथ गुजरने वाले वाहनों को एहतियातन अपर माल रोड से ले जाने का सुझाव दिया है। इस संबंध में मेला आयोजकों से वार्ता करने को भी कहा गया। आयुक्त ने साफ किया कि मेले में दुकानें, झूले व अन्य सामान का ट्रांसपोर्टेशन अपर माल रोड से ना किया जाए। यह सामान कालाढूंगी रोड से लाया और ले जाया जाए। बैठक में एडीएम हरबीर सिंह, लोनिवि ईई चंदन सिंह नेगी, सहायक अभियंता डीएस बिष्ट, एमएम जोशी आदि मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.