सितारगंज में श्रमिक की मौत के मामले में मिली बड़ी लापरवाही, चौकी इंचार्ज ने फैक्ट्री प्रबधंन पर दर्ज कराया मुकदमा

पुलिस जांच में फैक्ट्री प्रबधंन की लापरवाही निष्क्रियता सामने आयी। पुलिस जांच में प्रबधंन वर्ग की तरफ से घटना में लीपापोती कर छिपाने की बात भी सामने आयी। चौकी इंचार्ज की तहरीर पर कोतवाली में फैक्ट्री प्रबधंन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

Prashant MishraWed, 15 Sep 2021 08:13 PM (IST)
चौकी इंचार्ज ने मुकदमें में पूर्व में फैक्ट्री के भीतर घटित दुघर्टनाओं, लापरवाही का जिक्र भी किया है।

जागरण संवाददाता, सितारगंज : सिडकुल में उत्पादन कर रही बालाजी एक्शन फैक्ट्री में चार दिन पूर्व श्रमिक की मौत हो गई थी। श्रमिक की मौत के मामले में सिडकुल चौकी इंचार्ज ने बीट के सिपाही की जांच के बाद बालाजी एक्शन फैक्ट्री के प्रबधंन के खिलाफ आइपीसी 304 क, 287 के तहत मुकदमा दर्ज करा दिया है। चौकी इंचार्ज ने मुकदमें में पूर्व में फैक्ट्री के भीतर घटित दुघर्टनाओं, लापरवाही का जिक्र भी किया है।

सिडकुल चौकी इंचार्ज चंदन सिंह बिष्ट ने दर्ज कराये मुकदमे में आरोप लगाया है कि यूपी के ग्राम परैवा वेश्य, थाना जहानाबाद, जिला पीलीभीत निवासी परवेज पुत्र चमन बालाजी एक्शन बिल्डवेल फैक्ट्री में काम करता था। 13 सितम्बर को परवेज फैक्ट्री के केसी 34 प्लाट में डेट फील्टर में लगभग 25 फीट की ऊंचाई से गिर गया। हादसे में परवेज की मौत हो गई। पुलिस जांच में फैक्ट्री प्रबधंन की लापरवाही, निष्क्रियता सामने आयी। पुलिस जांच में प्रबधंन वर्ग की तरफ से घटना में लीपापोती कर छिपाने की बात भी सामने आयी। चौकी इंचार्ज की तहरीर पर कोतवाली में फैक्ट्री प्रबधंन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

नहीं जमा हो रहा था मृतक का पीएफ व ईएसआइ 

बालाजी फैक्ट्री में लापरवाही का शिकार हुये परवेज का पीएफ यानि भविष्य निधि, ईएआइ भी नही काटा गया है। पुलिस की जांच में इस गंभीर बिंदु का भी खुलासा हुआ है। चौकी इंचार्ज के मुकदमे में इस जरुरी बिंदु को भी शामिल किया गया है। इसके अलावा पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया है कि परवेज बिना सेफ्टी संसाधनों के ऊंचाई पर काम कर रहे थे। जिस वजह से वह हादसे का शिकार हो गये।

वर्ष 2018 से अब तक कई श्रमिकों को गंवानी पड़ी जिदंगी

सिडकुल की बालाजी फैक्ट्री में प्लाईवुड का उत्पादन किया जाता है। फैक्ट्री में बड़े स्तर पर कारोबार किया जाता है। वर्ष 2018 में फैक्ट्री के भीतर काम करते समय दो मजदूरों की लकड़ी को बुरांदा बनाने वाली मशीन में कुचलकर मौत हो गई थी। इसके बाद रतिराम का मशीन की चपेट में आकर हाथ, एक अन्य श्रमिक की अंगुलिया कट गई थी। रतिराम का हाथ कटने के मामले में उसकी पत्नी रुपवती ने फैक्ट्री प्रबधंन के खिलाफ दो माह पूर्व मुकदमा कायम कराया है। जिसकी जांच जारी है।

लेबर इंस्पेक्टर मीनाक्षी भट्ट ने बताया कि बालाजी एक्शन फैक्ट्री में श्रमिक की मौत के मामले में असिस्टेंट कमिश्रर एलएसी को प्राथमिक रिपोर्ट भेज दी है। आदेश मिलने पर आगे की कार्रवाई की जायेगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.