राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल होंगी आशा वर्कर्स, मुख्यमंत्री पर लगाया वादा खिलाफी का आरोप

मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद पूरे प्रदेश की आशाओं ने अपना आंदोलन स्थगित करने का निर्णय लिया था। उन्होंने बताया कि 24 सितंबर को प्रस्तावित राष्ट्र व्यापी हड़ताल में जिले की आशाएं भी शामिल होंगी। मांगें पूरी नहीं हुईं तो देहरादून कूच कर मुख्यमंत्री आवास का घेराव किया जाएगा।

Prashant MishraTue, 21 Sep 2021 11:55 PM (IST)
मुख्यमंत्री ने 20 सितंबर तक मासिक मानदेय पर शासनादेश जारी करने का वादा 31 अगस्त को खटीमा में किया था।

जागरण संवाददाता,चम्पावत : ऐक्टू से संबद्ध जिले की आशा वर्कर्स 24 सितंबर को आहूत राष्ट्रव्यापी बंद में शामिल होंगी। आशाओं का कहना है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा खटीमा दौरे में आशा वर्करों को उनकी मांगों को मान लेने का आश्वासन दिया था। लेकिन अभी तक मांगे नहीं मानी गई हैं। 

   संगठन की जिलाध्यक्ष सरोज पुनेठा ने बताया कि  मुख्यमंत्री ने 20 सितंबर तक आशाओं के मासिक मानदेय पर शासनादेश जारी करने का वादा 31 अगस्त को खटीमा में किया था। लेकिन 20 दिन बीतने के बाद भी सरकार ने शासनादेश जारी नहीं किया है। कहा कि मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद पूरे प्रदेश की आशाओं ने अपना आंदोलन स्थगित करने का निर्णय लिया था। उन्होंने बताया कि 24 सितंबर को प्रस्तावित राष्ट्र व्यापी हड़ताल में जिले की आशाएं भी शामिल होंगी। मांगें पूरी नहीं हुईं तो देहरादून कूच कर मुख्यमंत्री आवास का घेराव किया जाएगा। बताया कि आशा यूनियनों के राष्ट्रीय समन्वय और स्कीम वर्करों के राष्ट्रीय फेडरेशन ने 24 सितम्बर को एक दिवसीय राष्ट्रीय हड़ताल का आह्वान किया है। आशाएं एक समान वेतन लागू करने, सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने, पेंशन देने आदि की मांग कर रही हैं। जिले भर में 24 सितंबर को आशाएं हड़ताल कर धरना प्रदर्शन करेंगी।

पेंशनर्स ने विभिन्न समस्याओं को लेकर किया प्रदर्शन 

चम्पावत/लोहाघाट : गवर्नमेंट पेंशनर्स वैलफेयर आर्गेनाइजेशन ने गोल्डन कार्ड से चिकित्सा सुविधा न मिलने पर मंगलवार को तहसील परिसरों में सांकेतिक धरना प्रदर्शन कर सीएम को ज्ञापन भेजा। इस दौरान पेंशनर्सो ने गोल्डन कार्ड सुविधा नहीं तो वोट नहीं के नारे भी लगाए। पेंशनर्स संगठन जिलाध्यक्ष हयात सिंह तड़ागी की अध्यक्षता और प्रदेश मंत्री बची सिंह रावत के संचालन में एकत्रित हुए पेंशनर्स ने गोल्डन कार्ड से सुविधा न मिलने पर गहरा आक्रोश जताया। उन्होंने पेंशनर्स से मासिक कटौती 50 फीसदी कटौती करने, ओपीडी कैशलेस करने, केन्द्रीय पेंशनर्स की तर्ज पर एक हजार चिकित्सा भत्ता देने, जिन पेंशनर्स के गोल्डन कार्ड नहीं बने उनके कोषागार और उपकोषागार में कार्ड बनाने, विशिष्ट विशेषज्ञ अस्पताल का चयन करने, सुविधा न मिलने पर मासिक कटौती बंद करने की मांग की। इस दौरान केसी पुनेठा, रमेश चंद्र राय, पदमा दत्त पुनेठा, बंशीधर कलौनी,  बद्री दत्त राय, प्रकाश चन्द्र भट्ट, खुशाल सिंह,नरेंद्र सिंह, श्याम सिंह,अम्बीराम उम्मेद सिंह, हरीश शर्मा, एलडी उप्रेती आदि मौजूद रहे। इधर  पाटी ब्लाक में भगीरथ सोराड़ी के नेतृत्व में डीएन जोशी, खीमानंद जोशी, हीरा बल्लभ टकवाल, भैरव दत्त टकवाल,  राम सिंह चन्याल आदि मौजूद रहे। खेतीखान में सीएल वर्मा के नेतृत्व में गौरी दत्त्त जुकरिया, एनडी कलखुडिया, घनश्याम कलखुडिया, माधवानंद गहतोड़ी ने विभिन्न समस्याओं को लेकर सीएम को ज्ञापन भेजा। चम्पावत में शाखा अध्यक्ष लक्ष्मी दत्त सुतेड़ी के नेतृत्व में टीकाराम टम्टा, भगरीथ जोशी आदि ने सीएम को ज्ञापन भेजा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.