Alka Murder Case Kashipur : अलका का हत्यारोपित तांत्रिक गिरफ्तार, 10 लाख का सोना बरामद, 17 जनवरी को मिली थी लाश

पहचान मिटाने के लिए बॉडी के पास ऐसा कोई सबूत नहीं छोड़ा जिससे अलका जोहरी की पहचान हो सके।

तांत्रिक को गिरफ्तार कर कुंडा थाना पुलिस ने गुरुवार को वारदात का खुलासा कर दिया आरोपित तांत्रिक ने महिला से पीछा छुड़ाने के लिए हत्या की थी। तांत्रिक के पास से पुलिस को लगभग 10 लाख कीमत का 18 तोला सोना स्कूटी एटीएम कार्ड व अन्य सामान बरामद हुआ है।

Publish Date:Thu, 21 Jan 2021 04:39 PM (IST) Author: Prashant Mishra

जागरण संवाददाता, काशीपुर : अलका हत्याकांड में नामजद तांत्रिक को गिरफ्तार कर कुंडा थाना पुलिस ने गुरुवार को वारदात का खुलासा कर दिया आरोपित तांत्रिक ने महिला से पीछा छुड़ाने के लिए नाक और मुंह दबाकर उसकी हत्या की थी। तांत्रिक के पास से पुलिस को लगभग 10 लाख कीमत का 18 तोला सोना, स्कूटी, एटीएम कार्ड व अन्य सामान बरामद हुआ है। तांत्रिक को पुलिस ने कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया।

काशीपुर के मोहल्ला वैशाली कॉलोनी निवासी अलका जौहरी का शव 17 जनवरी को कुंडा थाना क्षेत्र में मिस्सरवाला गांव के पास पुलिया के नीचे मिला था। शव के पास पुलिस को कोई ऐसा दस्तावेज नहीं मिला था जिससे महिला की शिनाख्त हो सके। इंटरनेट मीडिया के जरिए महिला की शिनाख्त हुई। इसके बाद भाई अनुज जौहरी की ओर से कुछ दिन पूर्व तक घर में रहने वाले पूर्व किराएदार जोगेंद्र सिंह निवासी गांव मझौली थाना मझोला जिला मुरादाबाद के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया।

पुलिस ने मामले की जांच शुरू की तो तांत्रिक जोगेंद्र सिंह के खिलाफ पुलिस को सबूत मिलते चले गए। इसके बाद बुधवार को पुलिस ने निरंकारी राइस मिल काशीपुर के पास से जोगेंद्र सिंह को मय स्कूटी गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में जोगेंद्र ने बताया कि महिला बिना बुलाए उसके पास आ गई थी और फिर वापस जाने को तैयार नहीं थी। जिस कारण उसने महिला की हत्या कर दी। आरोपित के पास से पुलिस को 18 तोला सोने के जेवर बरामद हुए हैं। इन जेवरात की कीमत कीमत दस लाख रुपये बताई जा रही है। इसी तरह जोगेंद्र के पास से 28,450 रुपये नगद, दो मोबाइल, अलका जौहरी का पेन कार्ड, एसबीआइ बैंक का एटीएम कार्ड और स्कूटी भी बरामद हुई है। आरोपित को गिरफ्तार करने वाली टीम में थानाध्यक्ष कुंडा विनोद सिंह फर्त्याल,  मंडी चौकी इंचार्ज एसआई विजेंद्र कुमार, एसआई सुप्रिया नेगी, एसआइ महेश चंद्र, एसआई विनय मित्तल, कांस्टेबल अवधेश कुमार, कांस्टेबल कुलदीप सिंह, कांस्टेबल राजेंद्र प्रसाद, कांस्टेबल जमशेद अली, कांस्टेबल एसओजी कैलाश तोमक्याल आदि शामिल रहे।

घर जाने को तैयार नहीं थी महिला

पत्रकार वार्ता के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एएसपी राजेश भट्ट ने बताया कि तांत्रिक महिला से सोना और नकदी आदि लेकर उसे घर वापस भेज देना चाहता था लेकिन महिला घर जाने को तैयार नहीं हुई। एक सीसीटीवी फुटेज में तांत्रिक महिला को स्कूटी से जबरदस्ती उतार कर घर भेजने का प्रयास करते हुए दिखाई दे रहा है लेकिन महिला उसकी सम्मोहन विद्या में इस कदर फसी कि वह तांत्रिक को छोड़कर जाने को तैयार ही नहीं हुई। तांत्रिक कई घंटे तक महिला को लेकर इधर से उधर स्कूटी पर भटकता रहा लेकिन जब उसे लगा कि महिला अब उसका पीछा नहीं छोड़ेगी तो उसने उसे नाक और मुंह दबाकर मार डाला। पहचान मिटाने के लिए बॉडी के पास ऐसा कोई सबूत नहीं छोड़ा जिससे अलका जोहरी की पहचान हो सके।

 यह भी पढ़ें : Alka Murder Case Kashipur : पैसों के लेनदेन में पूर्व किराएदार पर हत्‍या करने का शक, भाई ने दर्ज कराया मुकदमा

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.