22 साल बाद पहाड़ से आए इंस्पेक्टर को फिर भेज दिया पहाड़, एक इंस्पेक्टर 19 साल से मैदान में कर रहा नौकरी

पुलिस विभाग में पोस्टिंग के नाम पर सेटिंग का खेल जारी है। बानगी देखिए एक इंस्पेक्टर 22 साल पहाड़ (दुर्गम) में नौकरी करने के बाद मैदान में आया। तीन साल पूरे भी नहीं हुए उसे फिर पहाड़ भेज दिया गया है।

Skand ShuklaSun, 21 Nov 2021 08:39 AM (IST)
22 साल बाद आए इंस्पेक्टर फिर भेज दिया पहाड़, एक इंस्पेक्टर 19 साल से मैदान में कर रहा नौकरी

दीप चंद्र बेलवाल, हल्द्वानी : पुलिस विभाग में पोस्टिंग के नाम पर सेटिंग का खेल जारी है। बानगी देखिए एक इंस्पेक्टर 22 साल पहाड़ (दुर्गम) में नौकरी करने के बाद मैदान में आया। तीन साल पूरे भी नहीं हुए, उसे फिर पहाड़ भेज दिया गया है। जबकि एक अन्य इंस्पेक्टर 19 साल से नैनीताल व ऊधमसिंह नगर में नौकरी कर रहा है। विभाग का यह दोहरा मापदंड कर्मचारियों को अखर रहा है।

पुलिस नियमावली के अनुसार इंस्पेक्टर दुर्गम व सुगम में अपनी सेवाएं हर हाल में देंगे। सुगम से सुगम में कोई नौकरी नहीं कर सकता, मगर सेटिंग व ऊंची पकड़ होने पर ये नियम कोई मायने नहीं रखते। ऊधमसिंह नगर के बहुचर्चित घोटाले की जांच कर रहे एक इंस्पेक्टर 22 साल अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ व बागेश्वर में नौकरी कर चुके हैं। उन्हें तीन साल ऊधमसिंह नगर में पूरा भी नहीं हुआ कि अब उनका स्थानांतरण फिर पहाड़ किया गया है।

वहीं ऊधमसिंह नगर के पुलिस कार्यालय में स्थित एक विभाग में तैनात इंस्पेक्टर 19 साल से नैनीताल व ऊधमसिंह नगर में डटे हैं। उनका तबादला सुगम से सुगम में कर दिया गया है। इससे साफ है कि पुलिस कर्मचारियों को पहाड़ भेजने में नियमावली भी हांफ रही है। इसी तरह के कई और भी पुलिस कर्मी हैं, जिनपर नियम लागू नहीं होते।

मनचाही पोस्टिंग करा रहे दारोगा

पुलिस विभाग में कुछ समय पहले दारोगाओं को सुगम से दुर्गम और दुर्गम से सुगम में भेजा गया था। आठ साल बाद इधर से उधर गए कई दारोगाओं को मनचाही पोस्टिंग दे दी गई है। गृह जनपद में भी कई दारोगा नौकरी कर रहे हैं।

इंस्पेक्टर के लिए यह है नियम

- चार मैदानी जिलों में आठ साल नौकरी की है तो मैदान में नहीं रहेंगे।

- पहाड़ में चार साल नौकरी करना अनिवार्य है।

- पहाड़ नहीं जाने वाले इंस्पेक्टर को एजेंसी के लिए काम करना पड़ेगा। जैसे विजिलेंस, एसटीएफ आदि।

मामला मेरे संज्ञान में नहीं

डीआइजी डा. नीलेश आनंद भरणे ने बताया कि लंबे समय तक एक जिले में पोस्टिंग करने वाला मामला मेरे संज्ञान में नहीं है। नियमों के अनुसार पुलिस कर्मियों का तबादला किया जाता है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.