आप ने फूंका चुनावी बिगुल, रानीखेत पहुंची विजय शंखनाद यात्रा

शुक्रवार को आप की शंखनाद यात्रा रानीखेत पहुंची। प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया का जोरदार स्वागत किया। उन्होंने कहा कि आपके द्वार अबकी बार चाहे कांग्रेस चाहे बीजेपी या फिर आप पार्टी का प्रत्याशी वोट मांगने आए तो उससे जरुर पूछें कि जनता आपको वोट क्यों दें।

Prashant MishraPublish:Fri, 03 Dec 2021 10:25 PM (IST) Updated:Fri, 03 Dec 2021 10:25 PM (IST)
आप ने फूंका चुनावी बिगुल, रानीखेत पहुंची विजय शंखनाद यात्रा
आप ने फूंका चुनावी बिगुल, रानीखेत पहुंची विजय शंखनाद यात्रा

जागरण संवाददाता, अल्मोड़ा: आप की विजय शंखनाद यात्रा रानीखेत और सोमेश्वर विधानसभा पहुंची। जहां आम आदमी पार्टी के प्रभारी दिनेश मोहनिया ने कहा कि 21 सालों की बदहाली को दूर करने का समय आ गया है। इस बार आप को वोट दें ताकि आप और हम मिलकर उत्तराखंड नवनिर्माण कर सकें। 

शुक्रवार को आप की शंखनाद यात्रा रानीखेत पहुंची। यहां पहुंचने पर कार्यकर्ताओं ने प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया का जोरदार स्वागत किया। उन्होंने जनसभा को संबाेधित करते हुए कहा कि आपके द्वार अबकी बार चाहे कांग्रेस, चाहे बीजेपी या फिर आप पार्टी का प्रत्याशी वोट मांगने आए तो उससे जरुर पूछें कि जनता आपको वोट क्यों दें। आप पार्टी जो कहती है वो करके दिखाती है। आज हर किसी के नाते रिश्तेदार दिल्ली में रहते हैं तो लोग हमारा काम जानने के लिए अपने रिश्तेदारों से मालूम कर लें कि हमारी सरकार ने दिल्ली में कैसा काम किया जनता को खुद जवाब मिल जाएगा।

मोहनिया ने कहा तीन बार काम के आधार पर जनता ने वोट देकर बहुमत से जीताया। हम सिर्फ काम की राजनीति करते हैं। उन्होंने कहा कि जब दिल्ली में सबकुछ मुमकिन हो सकता है तो उत्तराखंड में क्यों मुमकिन नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि आज, स्कूल अस्पताल, रोजगार, पलायन जैसी गंभीर समस्याओं से प्रदेश 21 साल बाद भी जूझ रहा है लेकिन यहां की सरकारों ने प्रदेश के लिए कुछ नहीं किया। इस अवसर पर अतुल जोशी, कृपाल राम आर्य, संजीव जोशी, जगदीश जोशी, शेखर चंद्रा सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे। इस के बाद विजय शंखनाद रैली सोमेश्वर पहुंची। जहां आप कार्यकर्ताओं ने संबोधित करते हुए इस बार आप को वोट देने की अपील की ताकि आप और हम मिलकर उत्तराखंड नवनिर्माण कर सकें। पार्टी प्रत्याशी हरीश चंद्र आर्या, नीलम डांगी, राजेंद्र राणा, शमशेर आर्य, मुकेश जोशी आदि कार्यकर्ता मौजूद थे।