नंदा गौरा कन्या धन योजना से वंचित छात्राओं के समर्थन में उतरी आम आदमी पार्टी

विधान सभा चुनाव करीब आते ही जिले की छात्राओं को नंदा गौरा कन्या धन योजना का लाभ न मिलने का मामला विपक्षी दलों ने लपक लिया है। आम आदमी पार्टी ने तो इसे चुनावी मुद्दा बनाने की घोषणा कर दी है। कांग्रेस भी इसे गंभीर मामला बता रही है।

Skand ShuklaTue, 03 Aug 2021 01:16 PM (IST)
नंदा गौरा कन्या धन योजना से वंचित छात्राओं के समर्थन में उतरी आम आदमी पार्टी

चम्पावत, जागरण संवाददाता : विधान सभा चुनाव करीब आते ही जिले की छात्राओं को नंदा गौरा कन्या धन योजना का लाभ न मिलने का मामला विपक्षी दलों ने लपक लिया है। आम आदमी पार्टी ने तो इसे चुनावी मुद्दा बनाने की घोषणा कर दी है। कांग्रेस भी इसे गंभीर मामला बता रही है। इस मामले में सत्ता पक्ष के लोगों की चुप्पी से अभिभावकों में आक्रोश पैदा हो गया है।

आम आदमी पार्टी की प्रदेश प्रवक्ता संगीता शर्मा का कहना है कि वर्ष 2017 में इंटर उत्तीर्ण कर चुकी जिले की 1500 से अधिक कन्याओं को नंदा गौरा कन्या धन योजना का लाभ नहीं मिला है। उन्होंने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि भाजपा सरकार की करनी और कथनी में रात दिन का अंतर है। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार बेटियों के साथ ही छल कर रही है। बताया कि चम्पावत, टनकपुर, बनबसा, लोहाघाट, पाटी, बाराकोट की सैकड़ों छात्राओं ने समय रहते योजना के लिए आवेदन किया था लेकिन शासन से योजना की धनराशि स्वीकृत नहीं हुई।

उन्होंने कहा कि लोहाघाट विकास खंड के राजकीय इंटर कॉलेज सुई की छात्राओं को इसलिए योजना का लाभ नहीं मिल पाया कि विद्यालय प्रशासन ने छात्राओं के आवेदन पत्र बाल विकास विभाग में जमा किए ही नहीं। बताया कि कई बार अभिभावक इस संबंध में शासन प्रशासन से मांग कर चुके हैं, लेकिन सुनने वाला कोई नहीं है। बताया कि आम आदमी पार्टी इसे गंभीर मुद्दा मानती है। शीघ्र जिले की सभी वंचित छात्राओं को योजना का लाभ नहीं दिया गया तो इसे चुनावी मुद्दा बनाया जाएगा। इधर सोमवार को आप कार्यकर्ताओं ने जिला प्रभारी दीपक भट्ट के नेतृत्व में छात्राओं के साथ इस मामले को लेकर तहसील में प्रदर्शन भी किया।

उन्होंने एसडीएम हिमांशु कफल्टिया के माध्यम से प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजा है। पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष हिमेश कलखुडिय़ा ने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की छात्राओं को इंटर पास करने के बाद उच्च शिक्षा के लिए सरकार की ओर से कन्याधन योजना के तहत 51 हजार रुपये की वित्तीय सहायता दी जाती है, लेकिन वर्ष 2017 के बाद से इंटर पास कर चुकी अधिकांश पात्र छात्राओं को योजना का लाभ नहीं मिल पाया है। जिसके चलते उच्च शिक्षा ग्रहण करने के छात्राओं के अरमानों पर पानी फिर गया है। यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष सूरज प्रहरी ने बताया कि पार्टी शीघ्र जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजगी। जल्द कार्रवाई न होने पर आंदोलन किया जाएगा।

छात्राओं ने कहा उनके साथ हुआ है धोखा

नंदा गौरा कन्या धन के लाभ से वंचित छात्रा संध्या चतुर्वेदी, दीपिका खर्कवाल, सपना चौबे, अनुसूईया तलनियां, दिया चौबे, प्रियंका पचौली, कविता कालाकोटी, हेमा, निशा, पूजा विश्वकर्मा, दिया पुजारी, अंकिता, नेहा, पूजा, प्रिया सागर, सोनी, निकिता जुकरिया, नेहा बर्नवाल, गुंजन उप्रेती, लवली शर्मा, आफरीन जहां, नगमा परवीन, हेमा, तैय्यब खातून, नूरूल निशा आदि ने बताया कि योजना का लाभ न मिलने से वे स्वयं को ठगा महसूस कर रही हैं। कहा कि उनकी सहायता जनप्रतिनिधि भी नहीं कर रहे हैं। जिलाधिकारी विनीत तोमर ने बताया कि शासन से कई बार कन्या धन से वंचित छात्राओं के लिए बजट की मांग की जा चुकी है। अभी तक बजट नहीं आया है। बजट आते ही वंचित छात्राओं के खाते में धनराशि डाल दी जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.