बागेश्वर में बारिश से भूस्खलन, 18 ग्रामीण सड़कें बंद, दुकान के ऊपर गिरा चीड़ का पेड़

बागेश्वर जिले में झमाझम बारिश के कारण 18 ग्रामीण सड़कें यातायात के लिए बंद हो गई हैं। कौसानी मोटर मार्ग में पेड़ गिरने से सड़क लगभग तीन घंटे बंद रही। भूस्खलन और पेड़ गिरने से बिजली के पोलों को भारी नुकसान हुआ है।

Skand ShuklaFri, 18 Jun 2021 01:28 PM (IST)
बागेश्वर में बारिश से भूस्खलन 18 ग्रामीण सड़कें बंद, दुकान के ऊपर गिरा चीड़ का पेड़

बागेश्वर, जागरण संवाददाता : बागेश्वर जिले में झमाझम बारिश के कारण 18 ग्रामीण सड़कें यातायात के लिए बंद हो गई हैं। कौसानी मोटर मार्ग में पेड़ गिरने से सड़क लगभग तीन घंटे बंद रही। भूस्खलन और पेड़ गिरने से बिजली के पोलों को भारी नुकसान हुआ है। जिससे पूरे जिले की विद्युत व्यवस्था चरमरा गई है। मालता सस्ता गल्ला दुकान के ऊपर चीड़ का विशालकाय पेड़ गिरने से बड़ी घटना होने से बालबाल बच गई है। सरयू और गोमती का जलस्तर बढ़ गया है। नदी किनारे रहने वालों को जिला प्रशासन ने सावधान किया है।

जिले में अल सुबह से लगातार बारिश हो रही है। खबर लिखे जाने तक लगभग नौ घंटे से बारिश लगातार जारी है। जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों में भूस्खलन होने लगा है। रास्ते और सड़कें आवागमन के लिए बंद हो गए हैं। बागेश्वर-दफौट मौटर मार्ग में मालता गांव के समीप सड़क पर पेड़ गिरने से यातायात घंटों बाधित रहा। जबकि कौसानी मोटर मार्ग में शॉल फैक्ट्री के समीप भूस्खलन और पेड़ गिरने से सुबह लगभग तीन घंटे सड़क बंद रही। जिससे दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई है। मालता गांव में सस्ता गल्ला विक्रेता चरण सिंह के कमान के ऊपर चीड़ का पेड़ गिर गया। गल्ले की दुकान के एक कमरा आवासीय था। जिससे सस्ता गल्ला विक्रेता बालबाल बच गए हैं।

ऊर्जा निगम ने लिया शटडाउन

बारिश के कारण कई जगहों से भूस्खलन, पेड़ गिरने और पोल, तारों को नुकसान हुआ है। जिसके कारण ऊर्जा निगम को शटडाउन लेना पड़ा। जिसके कारण नगर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों की आपूर्ति घंटों बाधित रही। अधिशासी अभियंता भास्कर पांडे ने बताया कि मरम्मत का काम शुरू कर दिया गया है। नगर में आपूर्ति बहाल हो गई है।

18 ग्रामीण सड़कें यातायात के लिए बंद

मथुरो-पाटली-लखनी, धपोली-जेठाई, कौसानी-भतेड़िया, बालीघाट-धरमघर, सिमगढ़ी, सिरलोनी-लोहागढ़ी, जखेड़ा-डाकघट-लमचूला, ह्ववील-कुलवान, पंद्रहपाली-पुरकोट, पंद्रहपाली-हड़बाड़, बीनातोली-कुंझाली, रावतसेरा-मनाकभाड़ा, तोली, बघर, कपकोट-कर्मी, दणों-बदियाकोट, शामा-लीती-गोगिना, शामा-नौकुड़ी, धरमघर-माजखेत।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.