घर का किराया चुकाने को मजदूरों ने की चालक की हत्या

घर का किराया चुकाने को मजदूरों ने की चालक की हत्या

एक सप्ताह पहले बहादराबाद में लोडर चालक की हत्या करने वाले दो मजदूरों को पुलिस और एसओजी ने गिरफ्तार कर लिया। मजदूरों ने घर का किराया चुकाने के लिए चालक से स्कूटी लूटी थी विरोध करने पर सिर में डंडा मारकर उसकी हत्या कर दी गई थी।

JagranMon, 01 Mar 2021 06:41 PM (IST)

संवाद सूत्र, बहादराबाद: एक सप्ताह पहले बहादराबाद में लोडर चालक की हत्या करने वाले दो मजदूरों को पुलिस और एसओजी ने गिरफ्तार कर लिया। मजदूरों ने घर का किराया चुकाने के लिए चालक से स्कूटी लूटी थी, विरोध करने पर सिर में डंडा मारकर उसकी हत्या कर दी गई थी। एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने सोमवार को पुलिस कार्यालय रोशनाबाद में पत्रकार वार्ता कर लूट व हत्या का पर्दाफाश किया।

पेशे से लोडर चालक पप्पन कश्यप निवासी इंद्रा कॉलोनी बहादराबाद बीते 22 फरवरी को किसी काम से स्कूटी लेकर घर से निकला था। रात तक वह घर नहीं लौटा तो परिवार ने तलाश शुरू की। देर रात उसका शव हरिद्वार दिल्ली हाईवे बाईपास सर्विस रोड पर लहुलुहान हालत में मिला था। पप्पन के सिर में चोट थी और उसकी स्कूटी भी गायब थी। प्रथम दृष्टया लूट व हत्या का मामला मानते हुए अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छानबीन की गई। सीओ बहादराबाद विजेंद्र डोभाल के निर्देशन में बहादराबाद थानाध्यक्ष संजीव थपलियाल व एसओजी प्रभारी दीप कुमार ने टीमों के साथ मिलकर हत्यारों के सुराग जुटाए। आखिरकार पुलिस टीम ने सोमवार को बिना नंबर प्लेट स्कूटी सवार गुरमीत व नवीन निवासीगण ग्राम देदनौर थाना नकुड़ जिला सहारनपुर को रोक लिया। पूछताछ में आरोपितों ने कुबूल किया कि उन्होंने ही पप्पन कश्यप से स्कूटी लूटी थी, विरोध करने पर डंडा मारकर उसकी हत्या कर दी गई थी। एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि दोनों दिहाड़ी मजदूरी करते हैं। उन्होंने बैरियर नंबर छह के पास बद्रीशपुरम कॉलोनी में किराये पर कमरा लिया था। काम धंधा न होने के कारण वह कई महीनों से किराया नहीं दे पा रहे थे। मकान मालिक लगातार किराये के लिए तकाजा कर रहा था। इसलिए उन्होंने योजना बनाई थी कि किसी सुनसान जगह पर स्कूटी या बाइक लूटने के बाद उसे बेचकर किराया चुका देंगे। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने खून से सना डंडा भी बरामद कर लिया। प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, सीओ बहादराबाद विजेंद्र डोभाल भी मौजूद रहे। पकड़े जाने के डर से नहीं लूटा मोबाइल

बहादराबाद: गुरमीत व नवीन चाहते तो बड़ी आसानी से पप्पन कश्यप का मोबाइल भी ले जा सकते थे, लेकिन उन्होंने सिर्फ स्कूटी लूटी। एसओ बहादराबाद संजीव थपलियाल ने बताया कि दोनों को मालूम था कि मोबाइल ले जाने पर पुलिस उन्हें ढूंढ निकालेगी। बताया कि सहारनपुर जिले से दोनों का आपराधिक इतिहास की जानकारी ली जा रही है। खंगाले गए 500 से अधिक सीसीटीवी

बहादराबाद: ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझाना पुलिस के लिए आसान नहीं था। बहादराबाद थानाध्यक्ष संजीव थपलियाल की अगुवाई में पुलिस टीमों ने 500 से अधिक सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। आठ दिन की मशक्कत के बाद कड़ी से कड़ी जोड़ने पर आखिरकार कानून के हाथ हत्यारों तक पहुंच गए। एसएसपी ने पुलिस टीम को ढाई हजार रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है। टीम में एसओ बहादराबाद संजीव थपलियाल, एसओजी प्रभारी दीप कुमार, बाजार चौकी प्रभारी रणजीत तोमर, उपनिरीक्षक प्रवीण बिष्ट, हैड कांस्टेबल निजाम अली, कांस्टेबल अरविद, एसओजी हैड कांस्टेबल सुंदर लाल, कांस्टेबल पदम, विवेक यादव और हरवीर शामिल रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.