रुड़की: उत्तराखंड किसान मोर्चा का ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कार्यालय पर धरना, इस बात से हैं नाराज

उत्तराखंड किसान मोर्चा की ओर से विभिन्न मांगों को लेकर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कार्यालय पर तीन दिवसीय धरना शुरू किया गया है। धरना स्थल पर किसानों के पहुंचने का सिलसिला जारी है। मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष गुलशन रोड ने कहा कि सरकार अभी तक गन्ने का भुगतान नहीं दिला पाई।

Raksha PanthriMon, 21 Jun 2021 12:34 PM (IST)
रुड़की: उत्तराखंड किसान मोर्चा का ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कार्यालय पर धरना, इस बात से हैं नाराज।

जागरण संवाददाता, रुड़की। उत्तराखंड किसान मोर्चा के बैनर तले किसानों ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कार्यालय पर प्रदर्शन किया। उन्होंने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए किसानों की उपेक्षा का आरोप लगाया। किसानों का यह धरना तीन दिन तक चलेगा।

सरकार ने अभी तक किसानों के गन्ना का भुगतान नहीं किया है। पिछले माह खरीदे गए किसानों के गेहूं का भुगतान अभी तक नहीं हुआ है। इसके चलते किसानों में रोष है। सोमवार को उत्तराखंड किसान मोर्चा के बैनर तले किसान नारेबाजी करते हुए ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के कार्यालय पर पहुंचे और तीन दिनी धरना शुरू किया। मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष गुलशन रोड ने कहा कि इकबालपुर चीनी मिल पर चार साल से दो साल का बकाया भुगतान है। उन्होंने कहा कि गेहूं का भी भुगतान नहीं हो सका है। फसल के समय पर किसानों को यूरिया, डीएपी व कीटनाशक उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। किसानों को जानबूझकर परेशान किया जा रहा है।

जिलाध्यक्ष महकार सिंह ने कहा कि तीन माह से किसान यूरिया की किल्लत का सामना कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानों की छोटी-छोटी परेशानी का हल करने में सरकार कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रही है। इस मौके पर धर्मवीर प्रधान, सुरेन्द्र लंबरदार, समीर आलम, आकिल हसन, दुष्यंत चौधरी, रविंद्र त्यागी, सतीश प्रधान आदि मौजूद रहे।

-------------- 

घटिया सामग्री का आरोप लगा ग्रामीणों ने रुकवाई सड़क

नगर पंचायत भगवानपुर की ओर से खानपुर वार्ड नंबर एक में सड़क का निर्माण किया जा रहा है। इस सड़क के निर्माण को लेकर ग्रामीणों तीरथ पाल, अमित कुमार, सचिन कुमार, चीनू, मदन, काका, विपिन, राजकुमार आदि ने काम को रुकवा दिया। उन्होंने कहा कि इंटरलॉकिंग से पहले कच्चा माल डाला जाता है जोकि नहीं है। उन्होंने इस संबंध में अधिशासी अधिकारी को शिकायत की। अधिशासी अधिकारी शाहिद अली ने अवर अभियंता को मौके पर भेजकर जांच-पड़ताल कराई। अधिशासी अभियंता ने बताया कि सड़क मानक के अनुसार बनाई जा रही है। ग्रसमीणों को भी इस संबंध में बता दिया गया। सभी संतुष्ट है। सड़क का काम दोबारा से चालू करा दिया गया।

यह भी पढ़ें- संघर्ष मोर्चा के आंदोलन में यूपीजेईए भी हुआ शामिल, जानिए क्या हैं मांगें

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.