दोषियों पर हर हाल में कार्रवाई करेगा अखाड़ा परिषद

अपर मेलाधिकारी की पिटाई करने वाले संतों के खिलाफ तहरीर।

अपर मेलाधिकारी (कुंभ) हरबीर सिंह की पिटाई करने वाले संतों के खिलाफ पुलिस में तहरीर दी गई है। हरिद्वार के अधिवक्ता अरुण भदौरिया ने बैरागी कैंप स्थित कुंभ थाना में इसको लेकर तहरीर देते हुए गंभीर आरोप लगाए हैं।

Raksha PanthriFri, 02 Apr 2021 01:16 PM (IST)

जागरण संवाददाता, हरिद्वार। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के उपाध्यक्ष और निर्मल अखाड़े के महंत देवेंद्र सिंह शास्त्री को बैरागी कैंप क्षेत्र में बीते गुरुवार रात अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह को पीटे जाने की घटना की जांच के लिए अखाड़ा परिषद की ओर से गठित 12 सदस्यीय जांच कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है। श्रीपंच निर्मोही अणि अखाड़े को छोड़ बाकी के 12 अखाड़ों के प्रतिनिधियों को कमेटी में शामिल किया गया है। अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि जांच कमेटी एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट देगी। रिपोर्ट के आधार पर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

शुक्रवार को निरंजनी अखाड़े में श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने पत्रकारों से बातचीत की। इस मौके पर निरंजनी अखाड़े के श्रीमहंत र¨वद्र पुरी भी उनके साथ थे। श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने बताया कि गठित कमेटी में आह्वान अखाड़े से श्रीमहंत सत्यगिरि, अग्नि अखाड़े से श्रीमहंत सोमेश्वरानंद ब्रह्मचारी, आनंद अखाड़े से महंत शंकरानंद सरस्वती, श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन से महंत व्यास मुनि, श्री पंचायती अखाड़ा नया उदासीन से महंत जगतार मुनि, निर्मल अखाड़े से अखाड़ा परिषद उपाध्यक्ष महंत देवेंद्र सिंह शास्त्री, अटल अखाड़े से महंत बलराम भारती, दिगंबर अणि अखाड़े से श्रीमहंत रामकिशन दास, निर्वाणी अणि अखाड़े से श्रीमहंत धर्मदास महाराज को नामित किया गया।

श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि अखाड़ों की आवश्यकता को लेकर यदि कोई समस्या है तो उसे अखाड़ा परिषद के संज्ञान में लाएं, परिषद स्वयं उसका समाधान कराएगी। इसके अलावा सभी अखाड़ों की ओर से नामित सदस्य और अखाड़ा सचिव से अपनी बात कहें, वह दोनों मेला अधिष्ठान के अधिकारियों से वार्ता कर समस्या का समाधान कराएंगे। श्रीमहंत ने स्पष्ट किया कि यह व्यवस्था बनी हुई है, इसलिए अन्य किसी को सीधे तौर पर वार्ता करने की अनुमति नहीं है।

उन्होंने मेला अधिष्ठान के अधिकारियों से भी इसी तरह के आचरण की मांग की। घटना की निंदा करते हुए श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि मेला अधिष्ठान के अधिकारी दिन-रात कार्य कर रहे हैं, हर अखाड़े की समस्या का समाधान करने में लगे हैं। शिकायत हो सकती है पर, इसका मतलब यह नहीं कि अधिकारियों-कर्मचारियों को पीटा जाए। यह उचित नहीं, शिकायत का समाधान बातचीत से करें।

बैरागी संतों ने किया अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह का स्वागत

अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह शुक्रवार को बैरागी कैंप स्थित अखिल भारतीय श्री पंच निर्मोही अणि अखाड़ा पहुंचे। उन्होंने श्रीमहंत राजेंद्र दास महाराज एवं अन्य संतों को धर्म ध्वजा स्थापना की शुभकामनाएं दी। साथ ही हनुमान मंदिर में पूजा अर्चना की। इस दौरान शॉल ओढ़ाकर एवं फूल माला पहनाकर अपर मेला अधिकारी का स्वागत किया गया। अपर मेला अधिकारी ने कहा कि सभी संत-महापुरुष पूजनीय हैं। मेला प्रशासन और संतों के आपसी समन्वय से ही कुंभ मेला दिव्य रूप से संपन्न होगा। इस दौरान चेतन ज्योति आश्रम के परमाध्यक्ष स्वामी ऋषिश्वरानंद महाराज, महामंडलेश्वर स्वामी सांवरिया बाबा, महंत दुर्गादास, बाबा हठयोगी, महंत गौरीशंकर दास, महंत प्रह्लाद दास, महंत रामशरण दास, महंत मोहनदास, महंत रामकिशोर दास शास्त्री आदि मौजूद रहे।

अपर मेलाधिकारी के कार्य-व्यवहार की प्रशंसा की

श्रीमहंत नरेंद्र गिरि और श्रीमहंत रविंद्र पुरी ने अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह के कार्य-व्यवहार की प्रशंसा करते हुए कहा कि हरबीर सिंह जैसा मेलाधिकारी अखाड़ों और संत-महात्माओं को नहीं मिल सकता। वह अपनी सीमाओं से बाहर जाकर संत-महात्माओं और अखाड़ों की समस्याओं ना सिर्फ समाधान करते हैं, बल्कि निजी तौर पर भी समस्याओं के समाधान को हर वक्त सक्रिय रहते हैं, रात-दिन उपलब्ध रहते हैं।

यह भी पढ़ें- अधिवक्ता को पीटने वाले कार चालक पर दर्ज हुआ मुकदमा, जानिए पूरा मामला

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.