हाथियों को रोकने को सोलर फेंसिग का कार्य शुरू

हाथियों को रोकने को सोलर फेंसिग का कार्य शुरू

महाकुंभ में हाथियों को आबादी क्षेत्र में आने से रोकने के लिए सोलर फेंसिंग और दीवार निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है।

Publish Date:Wed, 02 Dec 2020 06:02 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, हरिद्वार : महाकुंभ में हाथियों को आबादी क्षेत्र में आने से रोकने के लिए सोलर फेंसिंग और दीवार निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। बुधवार को विधायक स्वामी यतीश्वरानंद की ओर से निर्माण कार्य का शिलान्यास किया गया। इस मौके पर मौजूद क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों व किसानों ने सोलर फेंसिग और दीवार का निर्माण कार्य शुरू होने पर खुशी जाहिर की। इससे हाथियों से आए दिन नष्ट हो रही उनकी फसलों को बचाने में भी बड़ी मदद मिल सकेगी।

आबादी क्षेत्र से सटे राजाजी टाइगर रिजर्व के जंगल से निकलकर हाथियों के झुंड आए दिन उत्पात मचाते रहते हैं। लॉकडाउन में तो हाथियों का झुंड हरकी पैड़ी और शहर के भगत सिंह चौक तक आ गया था। पिछले साल एक हाथी ने एक किसान और महिला को पथरी क्षेत्र में पटक पटक कर मौत के घाट उतार दिया था। वहीं हाथी पथरी क्षेत्र में पहुंचकर किसानों की कड़ी मेहनत से तैयार की गई फसल को भी रौंद रहे हैं। किसान वन विभाग से फसलों को बचाने के लिए हाथियों पर रोक लगाने की मांग कर रहे हैं। कई बार तो किसान वन विभाग के खिलाफ धरना-प्रदर्शन भी कर चुके हैं। महाकुंभ को सकुशल संपन्न कराने के लिए वन विभाग की ओर से सोलर फेंसिग और पत्थरों की सुरक्षा दीवार बनाने के लिए प्रस्ताव भेजा गया था, जिसे मंजूरी दे दी गई थी। अब पांच करोड़ रुपये के बजट में से दो करोड़ रुपये से हरिद्वार के गंगा वाटिका से लेकर लक्सर के फतवा और चंडीघाट पुल से लेकर पीली नदी श्यामपुर तक लगभग 42 किलोमीटर सोलर फेंसिग बनाने और तीन करोड़ रुपये से तीन किलोमीटर पत्थरों की सुरक्षा दीवार बनाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई दफ्तर के पीछे मिस्सरपुर व जगजीतपुर के बीच गंगा नदी के किनारे सोलर फेंसिग और दीवार के निर्माण कार्य के शिलान्यास अवसर पर विधायक स्वामी यतीश्वरानंद ने कहा कि सोलर फेंसिग और सुरक्षा दीवार बनने से जहां महाकुंभ में हाथी उत्पात नहीं मचा सकेंगे। वहीं, इससे पथरी क्षेत्र के बिशनपुर, कुंडी, कटारपुर, मिस्सरपुर, अजीतपुर, पंजनहेड़ी, जियापोता, शाहपुर, रानीमाजरा, बादशाहपुर, फेरूपुर, चांदपुर आदि गांवों के किसानों की फसलें भी बची रहेंगी। रेंजर दिनेश प्रसाद नौडि़याल ने बताया कि डेढ़ माह में यह कार्य पूरा हो जाएगा। गुजरात की कंपनी वैब टैक निर्माण कार्य कर रही है। इस मौके पर डीएफओ नीरज कुमार शर्मा, गजेंद्र सिंह, अजीतपुर के ग्राम प्रधान मायाराम कश्यप, रविद्र आदि मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.