हनी ट्रैप गिरोह का भंडाफोड़, बहू, बेटा और ससुर गिरफ्तार; ऐसे फंसाते थे जाल में

 रुड़की, [जेएनएन]: हनी ट्रैप वाले अंदाज में लोगों को जाल में फांसकर उनसे रुपये ऐंठने वाले गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है। इस सिलसिले में एक ही परिवार के तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। परिवार की बहू सोशल मीडिया के जरिये दोस्ती कर लोगों को घर बुलाती थी और उसके बाद उसका पति और ससुर उन्हें दुष्कर्म में फंसाने की धमकी देकर रुपये ऐंठते थे। इनके जाल में फंसे एक युवक की सूझबूझ से पुलिस इस गिरोह तक पहुंची। युवक से गिरोह ने 50 हजार रुपये ऐंठने की योजना बनाई थी, पुलिस यह रकम भी उनके कब्जे से बरामद की है।

मामला गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के गंगा एनक्लेव का है। आरोपित परिवार यहीं रहता है। वाकया कुछ इस तरह है। मेरठ के कंकरखेड़ा निवासी मोहित गिरी को कुछ दिन पहले रितिका सिंह नाम से फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी, जिसे उसने स्वीकार कर लिया। इसके बाद मोहित की रितिका सिंह से ऑनलाइन चैट होने लगी। दो दिन बाद ही रितिका  ने युवक को अपना मोबाइल नंबर दे दिया। बताया कि उसका असली नाम राशि है और वह गंगा एन्क्लेव कोतवाली गंगनहर रुड़की में रहती है।

उसने छह सितंबर को घर में अकेला होना कहकर मोहित को मिलने के लिए घर बुला लिया। इस पर मोहित उससे मिलने घर पहुंचा। कुछ देर बाद दो लोग वहां आ धमके और मोहित से अभद्रता करने लगे। इनमें से एक ने खुद को राशि का पति अनंत वर्मा उर्फ चीनू वर्मा बताया तथा दूसरे ने ससुर वीरेंद्र बताया। ये युवक को दुष्कर्म के झूठे मुकदमे का डर दिखाकर दो लाख रुपये मांगने लगे। मोहित ने उन्हें बताया कि वह अभी पढ़ाई कर रहा है और इतनी बड़ी रकम उसके पास नहीं है। जद्दोजहद के बाद 50 हजार रुपये पर सहमति बनने पर उन्होंने उसे जाने दिया। 

11 सितंबर को परिवार वालों ने फिर से फोन कर मोहित से उस दिन तय हुई रकम मांगी और न देने पर दुष्कर्म के मामले में फंसाने की धमकी दोहराई। इस पर वह रुड़की गंगनहर कोतवाली पहुंचा और उसने पुलिस को सारा किस्सा बताया। पुलिस ने योजनाबद्ध ढंग से मोहित गिरी के माध्यम से राशि के ससुर वीरेंद्र कुमार को रकम लेने के लिए रेलवे रोड स्थित एक रेस्टोरेंट पर बुला लिया। वीरेंद्र कुमार ने जैसे ही युवक से 50 हजार रुपये लिए तो पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया। एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि इसके बाद वीरेंद्र के बेटे अनंत वर्मा और बहू राशि को भी गिरफ्तार कर लिया गया। एसपी ने बताया कि पूरा परिवार काफी समय से युवकों को जाल में फंसाकर रकम ऐंठ रहा था। अभी तक करीब पांच लोगों से रकम ऐंठने की बात सामने आ चुकी है। गिरोह का शिकार बने युवकों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। 

इंस्पेक्टर के स्टार उतरवाने की धमकी

पुलिस ने जैसे ही अनंत वर्मा को गिरफ्तार किया तो वह पुलिस पर रौब दिखाने लगा। उसने इंस्पेक्टर प्रदीप बिष्ट के स्टार उतरवाने की धमकी दी, लेकिन जब पुलिस ने सख्ती दिखाई तो वह माफी मांगने लगा।

संपन्न युवकों को बनाते थे शिकार

आरोपित संपन्न परिवार के लोगों को शिकार बनाते थे। युवक भी महिला की चिकनी चुपड़ी बातों में आ जाते थे। रुड़की शहर के ही तीन युवकों से इस परिवार ने तीन लाख से अधिक की रकम ऐंठने का पता चला है। हरिद्वार और सहारनपुर के युवकों से ऐसा किए जाने की सूचनाएं मिल रही हैं। गिरफ्तार आरोपित वीरेंद्र शहर के एक नर्सिंग होम में एंबुलेंस चालक है, जबकि उसका बेटा  बेटा चालक है।

यह भी पढ़ें: फेसबुक पर दोस्ती कर शादीशुदा महिला के घर घुसा युवक, दुष्कर्म की कोशिश

यह भी पढ़ें: शादी का झांसा देकर एक युवक ने युवती से किया दुष्कर्म

यह भी पढ़ें: सिपाही पति ने दिया तलाक, ससुर-देवर ने बहू से किया दुष्कर्म 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.