एनएचएम कर्मियों की हड़ताल, जांच को भटके मरीज

ाष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कर्मचारियों ने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत सोमवार को हड़ताल रखी। कर्मचारी एकत्रित होकर प्रदर्शन के लिए देहरादून पहुंचे। हड़ताल के कारण अस्पताल की स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित रही। इससे मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

JagranMon, 08 Nov 2021 05:53 PM (IST)
एनएचएम कर्मियों की हड़ताल, जांच को भटके मरीज

संवाद सहयोगी, रुड़की: राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कर्मचारियों ने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत सोमवार को हड़ताल रखी। कर्मचारी एकत्रित होकर प्रदर्शन के लिए देहरादून पहुंचे। हड़ताल के कारण अस्पताल की स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित रही। इससे मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। सबसे ज्यादा दिक्कत पैथोलाजी, एक्स-रे और डीइआइसी में उपचार को आए मरीजों को उठानी पड़ी।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से जुड़े कर्मचारियों ने नौ सूत्रीय मांगों को लेकर चार माह पहले हड़ताल की थी। शासन ने उस समय चार मांगों को मान लिया था। साथ ही पांच मांगों के लिए आश्वासन दिया था, लेकिन आश्वासन के चार माह बाद भी लंबित मांगों पर कोई विचार न होने से परेशान एनएचएम कर्मियों ने सोमवार को सामूहिक रूप से अवकाश रखा। सिविल अस्पताल रुड़की में पैथोलाजी लैब, डीईआइसी, डिजिटल एक्सरे आदि में एनएचएम के 28 चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी तैनात हैं। संगठन के आह्वान पर अस्पताल के सभी एनएचएम कर्मियों ने हड़ताल रखी। संगठन की रुड़की शाखा अध्यक्ष रोशनी नौटियाल ने बताया कि एनएचएम कर्मी अन्य राज्यों की तरह उत्तराखंड में भी एनएचएम कर्मियों के लिए एचआर पालिसी लागू करने, मेडिकल व नान मेडिकल स्टाफ की अलग-अलग श्रेणी निर्धारित करने सहित चार मांग कर रहे हैं।

वहीं, एनएचएम कर्मचारियों की हड़ताल के चलते सबसे ज्यादा असर डीईआइसी और पैथोलाजी लैब पर पड़ा। यह दोनों पूरी तरह से बंद रहे। इसके चलते जो मरीज बच्चों के उपचार को लेकर अस्पताल आए, वह निराश लौट गए। इसी तरह पैथोलाजी लैब में सभी स्वास्थ्य कर्मचारी एनएचएम से होने के चलते लैब की सेवाएं पूरी तरह से बंद रही। वहीं टीबी की जांच भी नहीं हो सकी। इससे 100 से अधिक मरीज निराश होकर लौट गए। सिविल अस्पताल रुड़की के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. संजय कंसल ने बताया कि एनएचएम कर्मियों की हड़ताल के कारण मरीजों को जांच आदि में असुविधा हुई है।

----

अस्पताल में निजी लैब के काउंटर पर लगी मरीजों की भीड़

सिविल अस्पताल रुड़की में पैथोलाजी लैब बंद रही। इससे मरीज जांच को इधर-उधर भटकते रहे। हालांकि अस्पताल में एक निजी लैब का काउंटर खुला हुआ है। अस्पताल से इसका अनुबंध हुआ है। इस काउंटर पर भी मरीजों की निश्शुल्क जांच होती है। अस्पताल की लैब बंद होने के चलते निजी लैब के इस काउंटर पर मरीजों की लंबी कतार लगी रही। लैब के कर्मचारियों ने बताया कि प्रतिदिन औसतन 10 से 20 मरीज ही जांच को आते हैं, जबकि सोमवार को 61 मरीजों के ब्लड सैंपल लिए गए।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.