हरिद्वार में संतों से वार्ता करने गए अपर मेलाधिकारी को पीटा, घटना के बाद अखाड़ा परिषद ने गठित की जांच कमेटी

हरिद्वार में संतों ने गुरुवार देर शाम अपर मेला अधिकारी पर हमला कर पुलिसकर्मी को भी पीट दिया।

अव्यवस्था से नाराज बैरागी अणि अखाड़े के संतों से वार्ता करने गए अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह को कुछ हमलावरों ने पीट दिया। बांयी आंख के नीचे चोट लगने से वह घायल हो गए। घटना बैरागी कैंप स्थित श्री पंच निर्मोही अणि अखाड़े में हुई।

Sumit KumarThu, 01 Apr 2021 08:09 PM (IST)

जागरण संवाददाता, हरिद्वार: अव्यवस्था से नाराज बैरागी अणि अखाड़े के संतों से वार्ता करने गए अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह को कुछ हमलावरों ने पीट दिया। बांयी आंख के नीचे चोट लगने से वह घायल हो गए। घटना बैरागी कैंप स्थित श्री पंच निर्मोही अणि अखाड़े में हुई। बीच-बचाव कराने आए पीआरडी के जवान को भी बुरी तरह से पीटा गया। जिससे वह बेहोश हो गए। अधिकारी के साथ पिटाई की घटना से मेला अधिष्ठान और पुलिस में हड़कंप मच गया। मेला आइजी संजय गुंज्याल सहित आला अफसरों ने घटना की जानकारी ली। पुलिस मामले की जांच कर रही है। वहीं, अखाड़ा परिषद की ओर से भी जांच कमेटी गठित की गई है।

इन दिनों कुंभ मेले के लिए देश भर से बैरागी संतों के हरिद्वार पहुंचने का सिलसिला चल रहा है। बैरागी अखाड़ों को कनखल के बैरागी कैंप में जगह दी गई है। श्री पंच निर्मोही अणि अखाड़े में गुरुवार शाम तक भी लाइट चालू नहीं हो पाई थी। जिससे अखाड़े के संत नाराज थे। अपर मेलाधिकारी हरबीर ङ्क्षसह गुरुवार शाम करीब सात बजे बैरागी कैंप पहुंचे और अखाड़े के श्रीमहंत राजेंद्र दास से वार्ता की। उसी दौरान अव्यवस्था को लेकर विवाद हो गया और कुछ हमलावरों ने अपर मेलाधिकारी की पकड़कर पिटाई कर दी। चश्मे का कांच टूटकर बांयी आंख के नीचे लगने से हरबीर ङ्क्षसह जख्मी को गए। बीच बचाव कराने आए पीआरडी के एक जवान को भी हमलावरों ने पीट दिया। जिससे वह बेहोश हो गया। घटना की सूचना मिलते ही मेला आइजी संजय गुंज्याल, मेला एसएसपी जन्मेजय खंडूरी, एसएसपी हरिद्वार सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस सहित आला अधिकारी मौके पर पहुंचे।

यह भी पढ़ें- तीन पूर्व कर्मचारियों ने फर्जी दस्तावेज बनाकर अपने नाम की फर्म की जमीन, मुकदमा दर्ज

घायल अपर मेलाधिकारी से घटना की जानकारी जुटाने के साथ ही संतों से भी वार्ता की गई। कुंभ मेला आइजी संजय गुंज्याल ने बताया कि पूरे मामले की जांच कराई जा रही है। जबकि अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने बताया कि निर्मोही अणि अखाड़े के अलावा सभी 12 अखाड़ों के एक-एक प्रतिनिधि को मिलाकर एक जांच कमेटी बना दी गई है। जो तीन दिन में घटना और उसके कारणों की जांच कर अपनी रिपोर्ट देगी। इसी रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

हमले के बाद चालू हुई लाइट

अपर मेलाधिकारी पर हमले की घटना के बाद ऊर्जा निगम सहित पूरा मेला अधिष्ठान सक्रिय हो गया। आनन-फानन में ऊर्जा निगम की टीम मौके पर पहुंच गई और करीब एक घंटे बाद अखाड़े की लाइट चालू हो गई। 

यह भी पढ़ें- सायरन लगाकर बाजार में कार दौड़ाना पड़ा महंगा, चालक को पुलिस ने धरा

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.