किसानों का अपमान नहीं होगा बर्दाश्त: हरीश रावत

किसानों का अपमान नहीं होगा बर्दाश्त: हरीश रावत

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने किसान पद यात्रा के दौरान कहा कि केंद्र सरकार जिस तरह से किसानों के ऊपर तीन काले बिलों को थोपने का काम कर रही है यह बिल्कुल भी सही नहीं है।

JagranWed, 24 Feb 2021 05:26 PM (IST)

संवाद सूत्र, झबरेड़ा: पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने किसान पद यात्रा के दौरान कहा कि केंद्र सरकार जिस तरह से किसानों के ऊपर तीन काले बिलों को थोपने का काम कर रही है, यह बिल्कुल भी सही नहीं है। किसानों के हित में इन कानूनों को वापस लेना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि किसानों का अपमान किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

कांग्रेस की ओर से बुधवार को तीन नए कृषि कानून के विरोध में किसान पद यात्रा निकाली गई। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने ग्राम कुंजा बहादुरपुर स्थित शहीद राजा विजय सिंह के चित्र पर फूल माला चढ़ाकर पद यात्रा शुरू की। इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि 1822 में राजा विजय सिंह के नेतृत्व में किसानों ने अंग्रेजी शासकों के खिलाफ एक लंबी लड़ाई लड़ी थी। आज राजा विजय सिंह के पदचिह्नों पर चलकर किसानों की लड़ाई लड़ी जा रही है। उन्होंने कहा कि त्रिवेंद्र सरकार ने अभी तक किसानों के गन्ने का मूल्य निर्धारित नहीं किया है, जो सरासर किसानों के साथ अन्याय है। हरिद्वार कुंभ मेले की अवधि घटाने पर भी वे सरकार पर बरसे। उन्होंने कहा कि यह हरिद्वार कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं का अपमान है। उन्होंने किसान विरोधी बिल वापस लेने के लिए एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। किसान पद यात्रा कुंजा बहादुरपुर से शुरू होकर बालेकी, यूसुफपुर, अमरपुर से होते हुए इकबालपुर शुगर मिल गेट पर आकर संपन्न हुई। पद यात्रा में भगवानपुर विधायक ममता राकेश, कलियर विधायक फुरकान अहमद, किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व राज्य मंत्री सुशील राठी, जिला किसान कांग्रेस कमेटी रुड़की जिलाध्यक्ष सेठपाल परमार, युवा नेता अभिषेक राकेश, जिला पंचायत उपाध्यक्ष राव अफाक, पूर्व राज्य मंत्री अयाज अहमद, ठाकुर वीरेंद्र सिंह, डा. पहल सिंह सैनी, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष रश्मि चौधरी, प्रधान अरविद सुनहरा आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.