Haridwar Kumbh 2021: श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी में विधि-विधान से स्थापित की गई धर्म ध्वजा

श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी में विधि-विधान से स्थापित की गई धर्म ध्वजा।

Haridwar Kumbh Mela 2021 कुंभ मेले को लेकर इन दिनों अखाड़ों में धार्मिक गतिविधियां चल रही हैं। आज श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी में धर्म ध्वजा स्थापित की गई। सबसे पहले धर्म ध्वजा की विधि-विधान और मंत्रोच्चारण से पूजा की गई।

Raksha PanthriSun, 28 Feb 2021 01:56 PM (IST)

जागरण संवाददाता, हरिद्वार: Haridwar Kumbh Mela 2021 कनखल स्थित श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी की छावनी में धर्मध्वजा स्थापना कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि कुंभ भारतीय संस्कृति का शिखर पर्व है। इससे प्रभावित होकर कई देशों के लोग भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति को अपना रहे हैं। कहा कि भावी पीढ़ी को संस्कारवान बनाना प्रत्येक व्यक्ति का कर्तव्य है। श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी के सचिव महंत रवींद्रपुरी ने कहा कि धर्मध्वजा के सानिध्य में भारतीय संस्कृति की रक्षा के लिए महामंडलेश्वर और नागा संन्यासियों को दीक्षा प्रदान की जाएगी। आह्वान अखाड़े के राष्ट्रीय महामंत्री श्रीमहंत सत्यगिरि ने कहा कि कुंभ पूरे विश्व के सनातन प्रेमियों का मेला है, जो विश्व में एकता एवं अखंडता को कायम रखता है। इस मौके पर महंत हनुमान बाबा, महंत निर्मलदास, स्वामी शरदपुरी, महंत देवेंद्र शास्त्री, श्रीमहंत साधनानंद, मुखिया महंत भगतराम, महंत जगतार मुनि, महंत दामोदर दास, महंत जसङ्क्षवदर ङ्क्षसह, श्रीमहंत गिरजानंद सरस्वती, महंत शंकरानंद  समेत जिलाधिकारी सी.रविशंकर, मेलाधिकारी दीपक रावत, अपर मेला अधिकारी हरबीर ङ्क्षसह, मेला आइजी संजय गुंज्याल, एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस, सीओ सिटी अभय प्रताप आदि मौजूद रहे।

श्रीशंभू अटल अखाड़े में स्थापित हुई धर्मध्वजा

कनखल स्थित श्रीशंभू पंचायती अटल अखाड़े के चरण पादुका मंदिर के पास रविवार को वेद मंत्रोच्चार के बीच अखाड़े की 78 फीट ऊंची धर्मध्वजा स्थापित कर दी गई। स्थापना से पूर्व पांच ब्राह्मणों ने 24 घंटे की अनवरत पूजा-अर्चना की और फिर धर्मध्वजा का अभिषेक व प्राण प्रतिष्ठा हुई। इस मौके पर अटल अखाड़े के श्रीमहंत बलराम गिरि ने कहा कि नौ मार्च को अखाड़े की पेशवाई निकाली जाएगी। जबकि, महाशिवरात्रि पर्व पर 11 मार्च को सभी सातों संन्यासी अखाड़े पूरे वैभव और शान-ओ-शौकत के साथ एक शाही स्नान करेंगे।

धर्मध्वजा स्थापना समारोह को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि धर्मध्वजा कुंभ आयोजन की प्रतीक है। कुंभ को लेकर अखाड़े अपनी-अपनी तैयारी कर रहे हैं और इसी क्रम में धर्मध्वजा स्थापित हो रही हैं। कहा कि संन्यासी अखाड़ों के लिए महाशिवरात्रि पर्व का कुंभ स्नान सबसे बड़ा होता है। राज्य सरकार ने भी पहले इसे शाही स्नान घोषित किया था, लेकिन अब इसे पर्व स्नान के तौर पर ले रही है। जबकि, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद और सभी संन्यासी अखाड़े इसे शाही स्नान के तौर पर ले रहे हैं और उसी अनुरूप इस दिन स्नान भी करेंगे।

यह भी पढ़े- Haridwar Kumbh 2021: कुंभ मेले के लिए एसओपी जारी, पंजीकरण अनिवार्य; इन बातों का भी रखें ध्यान

महामंत्री हरिगिरि ने सभी से कोरोना महामारी को लेकर सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील की। मेलाधिकारी दीपक रावत ने कहा कि कुंभ मेला छोटी अवधि के लिए ही सही, पर दिव्य एवं भव्य होगा। इस मौके पर महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रङ्क्षवद्र पुरी, अटल अखाड़े के श्रीमहंत सत्यम गिरि, श्रीमहंत सनद पुरी, श्रीमहंत शरदपुरी, श्रीमहंत शशिपुरी, श्रीमहंत प्रेम गिरि, सचिव मंशा पुरी, श्रीमहंत सुंदर गिरि, श्रीमहंत पवन गिरि, श्रीमहंत मंगतपुरी, श्रीमहंत पुरुषोत्तम गिरि सहित बड़ी संख्या संत-महात्मा उपस्थित थे। 

यह भी पढ़ें- Haridwar Kumbh Mela 2021: अखाड़ा परिषद ने दूर की बैरागी अणियों की नाराजगी

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.