चैत्र शुक्ल प्रतिपदा पर लाखों ने लगाई गंगा में डुबकी, स्नान के लिए हरकी पैड़ी पर उमड़े श्रद्धालु; अन्य घाटों पर कम रही संख्या

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा पर हर की पैड़ी में उमड़ा श्रद्धालुओं का हुजूम।

Haridwar Ganga Snan News चैत्र शुक्ल प्रतिपदा और विक्रमी नववर्ष 2078 पर ब्रह्ममुहूर्त से ही गंगा घाट गुलजार हो गए हैं। यहां स्नान के लिए श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ा। भोर होने के साथ ही बड़ी तादाद में श्रद्धालु हर की पैड़ी पहुंच रहे हैं।

Raksha PanthriTue, 13 Apr 2021 07:23 AM (IST)

जागरण संवाददाता, हरिद्वार।Haridwar Ganga Snan News हरिद्वार में चैत्र शुक्ल प्रतिपदा पर लाखों श्रद्धालुओं ने विभिन्न गंगा घाटों पर स्नान किया। आधी रात से ही श्रद्धालु हरकी पैड़ी पर पहुंचने लगे थे। हालांकि अन्य घाटों पर संख्या अपेक्षाकृत कम रही। स्नान को देखते हुए मेला प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे। प्रशासन के अनुसार शाम सात बजे तक चार लाख 47 हजार श्रद्धालु स्नान कर चुके थे।  इसके अलावा ऋषिकेश, देवप्रयाग और उत्तरकाशी समेत कई स्थानों पर श्रद्धालुओं ने गंगा में पुण्य की डुबकी लगाई।

सोमवार को शाही स्नान के चलते हरकी पैड़ी पर आम श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित था। ऐसे में सोमवती अमावस्या पर शाही स्नान के चलते जो श्रद्धालु ब्रह्मकुंड में डुबकी नहीं लगा पाए थे, उन्होंने चैत्र प्रतिपदा पर अपनी अभिलाषा पूरी की। श्रद्धालु आधी रात के बाद हरकी पैड़ी स्थित ब्रह्मकुंड में स्नान को पहुंचने लगे। ब्रह्ममुहू्र्त से भोर होने तक हरकी पैड़ी समेत आसपास के घाट श्रद्धालुओं से पट गए। हालांकि, इस वर्ष श्रद्धालुओं की संख्या बीते वर्षों की अपेक्षा कम रही। श्रद्धालुओं ने सूर्यदेव को जल अघ्र्य देकर शक्तिस्वरूपा मां दुर्गा का पूजन भी किया। जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया, श्रद्धालुओं की संख्या में बढ़ने लगी। 

पुलिस महानिरीक्षक (कुंभ मेला) संजय गुंज्याल ने बताया कि शहर में स्थिति सामान्य रही। यातायात संचालन में किसी तरह की कोई समस्या देखने को नहीं मिली। 

नहीं सुनाई दी कोरोना गाइडलाइन का पालन करवाने की अपील 

कुंभ के पहले शाही स्नान के दौरान हरकी पैड़ी पर मेला अधिष्ठान की ओर से श्रद्धालुओं से लगातार कोरोना गाइडलाइन का अनुपालन करने की अपील की जा रही थी। मंगलवार को चैत्र प्रतिपदा पर हुए पर्व स्नान के दौरान इस तरह की कोई अपील नहीं सुनाई दी। श्रद्धालु भी घाटों पर देर तक गंगा में डुबकियां लगाते रहे।

यह भी पढ़ें- शाही स्नान पर दिखी अखाड़ों और नागाओं की अवधूती शान, हर-हर गंगे से गूंजे घाट; तस्वीरों में देखें आस्था का सैलाब

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.