-सरकारी स्कूल भी अतिक्रमण की जद में

जागरण संवाददाता, हरिद्वार: कनखल मोहल्ले के राजकीय प्राथमिक विद्यालय नंबर 16 भी अतिक्रमण हटाओ अभियान की जद में आ गया है। अतिक्रमण हटाओ दस्ते ने इस स्कूल की दीवार पर भी लाल निशान लगा दिया है। इससे शिक्षक बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं।

दरअसल, नगर निगम ने कनखल क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने के दौरान मकानों और दुकानों पर लाल निशान लगाने के साथ राजकीय प्राथमिक स्कूल की दीवार पर भी लाल निशान लगा दिया। पहले इस स्कूल में कोई दीवार नहीं होती थी। शिक्षकों के अनुरोध पर स्थानीय स्वयंसेवियों ने स्कूल के लिए दीवार बनाई, ताकि बच्चों की सुरक्षा को खतरा न हो और आवारा जानवर स्कूल में न घुसें। लेकिन लाल निशान लगने से शिक्षकों को बच्चों की चिंता जताने लगी है। शिक्षकों का कहना है कि यदि स्कूल की दीवार टूटती है तो असामाजिक तत्वों का स्कूल में जमघट लग जाएगा।

शिक्षकों और स्वयंसेवियों ने कनखल थानाध्यक्ष को पत्र लिखकर स्कूली बच्चों की सुरक्षा का हवाला देकर दीवार न ढहाने की गुहार लगाई है। पत्र देने वालों में प्रधानाध्यापिका बीना देवी, सहायक अध्यापक नीरज शर्मा, राखी आदि शामिल हैं। वहीं इस मामले में मुख्य नगर आयुक्त डॉ. ललित नारायण मिश्र का कहना है संबंधित पक्षों को लाल निशान लगाने के साथ ही नोटिस देकर आपत्ति दर्ज कराने के लिए 11 सितंबर तक की मोहलत दी गई थी। स्कूल की ओर से नगर निगम में कोई आपत्ति नहीं की है। ऐसे में अब अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई नियमानुसार जारी रहेगी। आश्रम के गेट पर लगा बोर्ड भी हटाया

बुधवार को कनखल क्षेत्र में शुरू किया गया अतिक्रमण हटाओ अभियान देर शाम तक झंडा चौक तक चला। शंकराचार्य चौक से झंडा चौक तक चले अभियान में विरोध के बावजूद जेसीबी गरजी। चाहे मंदिर का चबूतरा हो या स्कूल की दीवार या फिर आश्रम के गेट पर लगा बोर्ड सभी पर जेसीबी ने कहर ढाया। कनखल में स्थित जगदगुरू आश्रम के गेट पर लगे बोर्ड को भी नगर निगम की टीम ने हटवा दिया। मुख्य नगर आयुक्त डॉ. ललित नारायण मिश्र का कहना है उच्च न्यायालय के निर्देश पर चले अभियान में करीब चार किलोमीटर शंकराचार्य चौक से झंडा चौक तक 150 चिह्नित अतिक्रमण हटवाया गया है। गुरुवार को भी टीम अतिक्रमण हटाएगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.