ट्रैक्टर सीज करने पर किसानों का हाइवोल्टेज ड्रामा, आग लगाने की कोशिश; जानिए पूरा मामला

रात में तेज आवाज में स्पीकर बजाते हुए हाइवे से गुजर रहे किसान को सप्तऋषि चेक पोस्ट पर पुलिस ने रोक लिया। ट्रैक्टर सीज करने पर सुबह अकाली दल व भाकियू के नेता मौके पर पहुंच गए और हंगामा किया।

Raksha PanthriSun, 06 Jun 2021 10:28 PM (IST)
ट्रैक्टर सीज करने पर किसानों का हाइवोल्टेज ड्रामा, आग लगाने की कोशिश।

जागरण संवाददाता, हरिद्वार। रात में तेज आवाज में स्पीकर बजाते हुए हाइवे से गुजर रहे किसान को सप्तऋषि चेक पोस्ट पर पुलिस ने रोक लिया। ट्रैक्टर सीज करने पर सुबह अकाली दल व भाकियू के नेता मौके पर पहुंच गए और हंगामा किया। इस बीच युवक आपा खो बैठा और अपने ट्रैक्टर पर तेल छिड़क कर आग लगाने का प्रयास किया। पुलिस ने कार्रवाई चेतावनी देते हुए समझा-बुझाकर मामला शांत कराया।

पुलिस के मुताबिक, पथरी के दीनारपुर गांव निवासी सूबा सिंह ढिल्लो शनिवार की रात ट्रैक्टर पर श्यामपुर ऋषिकेश स्थित अपने घर जा रहा था। उसने तेज आवाज में ट्रैक्टर पर गाना बजाया हुआ था। हाइवे पर गश्त के दौरान सीओ अभय प्रताप सिंह और शहर कोतवाल अमरजीत सिंह ने इस बारे में सप्तऋषि चेक पोस्ट पर ट्रैक्टर रोकने के निर्देश दिए, जिस पर सप्तऋषि पुलिस चौकी प्रभारी सुनील रावत ने ट्रैक्टर रोक लिया और तेज आवाज में स्पीकर बजाने का कारण पूछा। साथ ही ट्रैक्टर के कागज भी मांगे। पुलिस ने ट्रैक्टर सीज कर दिया।

सुबह सूबा सिंह और उसके समर्थन में भारतीय किसान यूनियन अंबावत के प्रदेश अध्यक्ष विकास सिंह सैनी और शिरोमणि अकाली दल मान के प्रदेश अध्यक्ष जगजीत सिंह समेत किसान सप्तऋषि चौकी पर पहुंचे और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन करने लगे। हंगामे की सूचना पर सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह, शहर कोतवाल अमरजीत सिंह, एसएसआइ नंद किशोर ग्वाड़ी, मायापुर चौकी प्रभारी संजीत कंडारी आदि भी मौके पर पहुंच गए। इस बीच नोंक झोंक होने पर तैश में आकर सूबा सिंह ट्रैक्टर में आग लगाने के लिए तेल छिड़कने लगा। इससे अफरा तफरी मच गई।

चौकी प्रभारी सुनील रावत तुरंत ट्रैक्टर पर चढ़कर बैठ गए। उनका कहना था कि ट्रैक्टर सीज है और पुलिस की कस्टडी में है। इसलिए वह ट्रैक्टर को नुकसान नहीं पहुंचा सकता है। बाद में पुलिस और किसान नेताओं के बीच वार्ता होने पर सीओ सिटी ने कंपाउंड कर ट्रैक्टर छोड़ दिया। तब किसान वापस लौटे।

चौकी में बैठाने का आरोप, पुलिस ने नकारा

किसान सूबा सिंह ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उसे रात में चौकी में बैठाकर रखा। उसने बताया कि वह रात में चालान कर ट्रैक्टर छोड़ने का निवेदन कर रहा था। वहीं, चौकी प्रभारी सुनील रावत ने बताया कि युवक को पुलिस ने नहीं बैठाया था। पहले वह रात में ही ट्रैक्टर छोड़ने का दबाव बना रहा था। उसे कहा गया था कि सुबह सीओ स्तर से ट्रैक्टर छोड़ा जाएगा। इसलिए वह गाड़ी में बैठकर घर चला गया था।

यह भी पढ़ें- उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड के कई थानों की पुलिस को है रिजवान की तलाश, जानिए पूरा मामला

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.