बसपा के नए प्रदेश प्रभारी के सामने भिड़े दावेदारों के समर्थक

ुनाव से पहले टिकट बंटवारे को लेकर बहुजन समाज पार्टी में जूतम पैजार की नौबत आ गई है। शिवालिक नगर स्थित बसपा प्रदेश कार्यालय पर सोमवार को नए प्रदेश प्रभारी के स्वागत समारोह में उनके सामने ही टिकट के दावेदारों के समर्थक आपस में भिड़ गए।

JagranMon, 08 Nov 2021 09:46 PM (IST)
बसपा के नए प्रदेश प्रभारी के सामने भिड़े दावेदारों के समर्थक

जागरण संवाददाता, हरिद्वार: चुनाव से पहले टिकट बंटवारे को लेकर बहुजन समाज पार्टी में जूतम पैजार की नौबत आ गई है। शिवालिक नगर स्थित बसपा प्रदेश कार्यालय पर सोमवार को नए प्रदेश प्रभारी के स्वागत समारोह में उनके सामने ही टिकट के दावेदारों के समर्थक आपस में भिड़ गए। कार्यकत्र्ताओं में जमकर कुर्सियां चली। दावेदारों के समर्थकों ने एक-दूसरे पर जमकर हाथ साफ किए। बसपा के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने बमुश्किल मामले को शांत किया।

बसपा हाईकमान ने पार्टी के पूर्व प्रदेशध्यक्ष डा. मेघराज जरावरे को नया प्रदेश प्रभारी बनाकर उत्तराखंड भेजा है। बताया जा रहा है कि जरावरे को अब तक के बनाए गए सभी प्रभारियों में संगठन की ओर से सबसे अधिक ताकत देकर भेजा गया है। बसपा के शिवालिक नगर स्थित प्रदेश कार्यालय पर सोमवार को डा. मेघराज जरावरे का स्वागत कार्यक्रम रखा गया था। इससे अनेक स्थानों पर कार्यकत्र्ताओं की ओर से उनका जोरदार स्वागत किया गया था। बताया जा रहा है कि स्वागत कार्यक्रम के दौरान आसन्न विस चुनाव के टिकट वितरण को लेकर भी चर्चा शुरू हुई। स्वागत समारोह के समापन से पहले कुछ विधानसभा सीटों से टिकट के प्रबल दावेदारों और अन्य दावेदारों के समर्थकों में कहासुनी हो गई। कार्यालय का माहौल गर्मा गया।

पार्टी कार्यकत्र्ताओं के अनुसार, देखते ही देखते मोनू राणा और जितेंद्र के समर्थकों ने वहां रखी कुर्सियां उठाकर एक-दूसरे पर फेंकनी शुरू कर दी। इससे वहां अफरा-तफरी मच गयी। कई ने बैठक से खुद को बचाते निकलने में भलाई समझी। इस दौरान बसपा के कुछ वरिष्ठ पदाधिकारियों ने मामला शांत कराया। इस दौरान पार्टी के ही किसी कार्यकत्र्ता ने हंगामे की वीडियो अपने मोबाइल में बना ली। जो इंटरनेट मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। पूर्व विधायक मोहम्मद शहजाद सहित वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में पूरा हंगामा हुआ। सूत्र बताते हैं कि कुछ कार्यकत्र्ताओं की शिकायत थी कि पुराने और कर्मठ कार्यकत्र्ताओं को नजरअंदाज किया जा रहा है। बसपा सुप्रीमो मायावती से इसकी शिकायत किए जाने की बात कही जा रही थी।

-----------

दो कार्यकत्र्ता और उनके समर्थक आपस में भिड़ गए थे। इस मामले को पार्टी की अनुशासन समिति में रखा जाएगा। बसपा अनुशासित पार्टी है। समिति के निर्णयों के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

डा. मेघराज जरावरे, प्रदेश प्रभारी, बसपा

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.