स्वच्छ सर्वेक्षण की टाप सौ शहरों की सूची में एक रैंक से चूक गया रुड़की

भारत सरकार की ओर से कराए गए स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में रुड़की देश के टाप-100 शहरों में आने से चूक गया। रुड़की ने स्वच्छ शहर की 101 रैंक हासिल की है। हालांकि उत्तराखंड में रुड़की शहर स्वच्छता में दूसरे नंबर पर रहा है। पिछले साल के मुकाबले रुड़की का प्रदर्शन बहुत बेहतर रहा है।

JagranSat, 20 Nov 2021 08:04 PM (IST)
स्वच्छ सर्वेक्षण की टाप सौ शहरों की सूची में एक रैंक से चूक गया रुड़की

संवाद सहयोगी, रुड़की : भारत सरकार की ओर से कराए गए स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में रुड़की देश के टाप-100 शहरों में आने से चूक गया। रुड़की ने स्वच्छ शहर की 101 रैंक हासिल की है। हालांकि उत्तराखंड में रुड़की शहर स्वच्छता में दूसरे नंबर पर रहा है। पिछले साल के मुकाबले रुड़की का प्रदर्शन बहुत बेहतर रहा है।

कोरोना संक्रमण के चलते इस बार स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 जनवरी के बजाए मार्च में शुरू हुआ था। नगर निगम रुड़की का अभी तक स्वच्छ सर्वेक्षण में बेहतर प्रदर्शन रहा है। तीन बार रुड़की प्रदेश में प्रथम स्थान पर आ चुका है। इस बार के सर्वेक्षण को लेकर थोड़ी बैचेनी थी। जिसका कारण इस बार क्षेत्र बड़ा होना। लेकिन, स्वच्छता को लेकर की गई मेहनत ने पूरी तस्वीर बदल दी।

दोपहर के समय जैसे ही स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 के परिणामों की घोषणा हुई तो नगर निगम के महापौर गौरव गोयल, नगर आयुक्त नूपुर वर्मा, सहायक नगर आयुक्त चंद्रकांत भट्ट व एसपी गुप्ता आदि सहित सभी पार्षदों व कर्मचारियों के चेहरे खिल उठे। एक दूसरे को बधाई देने का दौर शुरू हो गया। महापौर, पार्षद व अधिकारियों ने कर्मचारियों तथा शहर वासियों को इसके लिए बधाई दी। निगम में त्योहार जैसा माहौल हो गया। मिठाई बांटकर खुशियां मनाई गई।

---------

निगम के लिए चुनौतियों से भरा था सर्वेक्षण

रुड़की : इस बार नगर निगम रुड़की के लिए स्वच्छ सर्वेक्षण किसी चुनौती से कम नहीं था। इसका एक बड़ा कारण यह था कि सर्वेक्षण में इस बार निगम के नए क्षेत्र शामिल थे। यह सभी क्षेत्र देहात वाले थे। क्षेत्रफल में भी निगम का आकार दोगुने से अधिक था। जबकि पिछले सर्वेक्षण में 20 वार्ड थे। जनसंख्या भी 1.18 लाख थी। जबकि इस बार का सर्वेक्षण 40 वार्डों में था। जनसंख्या 1.82 लाख थी। निगम के पास संसाधनों में भी ज्यादा इजाफा नहीं था। लेकिन, इस सब के बाद भी निगम अधिकारियों व कर्मचारियों की अच्छी मेहनत के चलते स्वच्छ सर्वेक्षण में पहले के मुकाबले और अधिक सुधार हुआ। हालांकि रैंक 130 से 101 हो गई और प्रदेश में स्थान दूसरा रहा।

-------

स्वच्छ सर्वेक्षण में अब तक रुड़की की स्थिति

वर्ष रैंक

2021 101

2020 130

2019 281

2018 158

2017 218

--------------

स्वच्छ सर्वेक्षण में नगर निगम रुड़की का बहुत अच्छा प्रदर्शन रहा है। इसके लिए शहर की जनता, निगम के अधिकारी, कर्मचारी व पार्षद सभी बधाई के पात्र हैं। वर्ष 2022 के स्वच्छ सर्वेक्षण में और सुधार होगा। उम्मीद ही नहीं, बल्कि पूरा यकीन है कि रुड़की पहले स्थान पर आएगा।

गौरव गोयल, महापौर, नगर निगम रुड़की।

----

इस बार के स्वच्छ सर्वेक्षण में निगम के अधिकारी व कर्मचारियों ने बहुत अधिक मेहनत की है। शहर वासियों का भी भरपूर सहयोग मिला है। जबकि इस बार का सर्वेक्षण 40 वार्ड पर था। क्षेत्र बड़ा हो गया था और संसाधन सीमित थे। लेकिन, जिस लगन और मेहनत से कार्य हुआ है। वह सराहनीय है।

नूपुर वर्मा, नगर आयुक्त, रुड़की।

-----------

स्वच्छ सर्वेक्षण रैंक में सुधार होना बहुत अच्छी बात है। प्रदेश की राजधानी व रुड़की की रैंक में ज्यादा अंतर नहीं है। जबकि, प्रदेश के अन्य शहरों की रैंक में काफी अंतर है। इसका श्रेय निगम कर्मचारियों और शहर की जनता को जाता है। उनकी जागरूकता और मेहनत के कारण ही यह संभव हो पाया है।

चंद्रकांत भट्ट, सहायक नगर आयुक्त, नगर निगम रुड़की।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.