World AIDS Day 2021: एड्स से बचाव के लिए विशेष प्रयास करने वालों को सीएम धामी ने किया सम्‍मानित, जानिए क्‍या बोले

World AIDS Day 2021 विश्‍व एड्स दिवस पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने एड्स से बचाव के लिए विशेष प्रयास करने और जागरूकता लाने वालों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। उन्‍होंने कहा कि लोग को जागरूक करने के साथ-साथ सशक्त बनाने की भी आवश्यकता है।

Sumit KumarWed, 01 Dec 2021 04:37 PM (IST)
सीएम धामी ने एड्स से बचाव के लिए विशेष प्रयास करने, जागरूकता लाने वालों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

राज्‍य ब्‍यूरो, देहरादून। World AIDS Day 2021 विश्‍व एड्स दिवस पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने एड्स से बचाव के लिए विशेष प्रयास करने और जागरूकता लाने वालों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।  इस दौरान उन्‍होंने राज्य में शत-प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य समय पर पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। वहीं, कोविड से बचाव के लिए कड़े कदम उठाने के लिए कहा है। कहा कि आज का दिन हमें एड्स जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे लोग के साथ एकजुटता के साथ खड़ा के लिए प्रेरित करता है। बुधवार को सुभाष रोड स्थित होटल में विश्व एड्स दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी शामिल हुए।

इस दौरान उन्‍होंने कहा कि लोग को जागरूक करने के साथ-साथ सशक्त बनाने की भी आवश्यकता है, जिससे वे एचआइवी के प्रभाव से खुद को समय रहते बचा सकें। इस बीमारी और इसके इलाज में परामर्श महत्वपूर्ण प्रक्रिया है। एचआइवी के बारे में सटीक, पूर्ण और सुसंगत जानकारी प्रदान करने और इसके इलाज पर जोर देने के लिए लगातार प्रयास होने चाहिए। एड्स के प्रति प्रदेश के गांव-गांव और दूरस्थ इलाकों में भी जागरूकता अभियान लगातार चलते रहने चाहिए। यह एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी है और हम सभी को मिलकर इसे निभाना होगा। राज्य सरकार लगातार इस दिशा में काम कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज हम एक और गंभीर बीमारी कोविड का सामना कर रहे हैं। कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर एवं जागरूकता इसके नियंत्रण के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा कि राज्‍य की कठिन भौगोलिक परिस्थितियां होने के बाद भी भी राज्य में निर्धारित लक्ष्य से दो माह पूर्व शत प्रतिशत कोविड की पहली डोज लग चुकी है। जल्द ही कोविड की दूसरी डोज का लक्ष्य भी पूर्ण किया जायेगा। कोविड पर प्रभावी नियंत्रण के लिए सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए गए हैं। स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने में राज्य में काफी प्रयास किए गए हैं। राज्य में निश्‍शुल्क जांच योजना के तहत 207 प्रकार की पैथेलाजिकल जांचों की निश्‍शुल्क सुविधा दी जा रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार द्वारा स्वास्थ्य के क्षेत्र में स्वतंत्र भारत की सबसे बड़ी योजना आयुष्मान भारत चलाई जा रही है।

यह भी पढ़ें- यहां बिना स्टाफ सुस्त पड़ी एड्स के खिलाफ लड़ाई, ज्यादातर लटका रहता है ताला; दवा के लिए भटकते हैं मरीज

स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने कहा कि एचआइवी-एड्स के प्रसार को रोकने के लिए प्रदेश में हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। राज्य में लगभग 4800 लोग एचआइवी संक्रमित है, जिनको राज्य में स्थापित 07 एआरटी केंद्रों में निश्‍शुल्क उपचार एवं परामर्श की सुविधा प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि एड्स के प्रति जागरूकता के लिए आमजन की सहभागिता भी सुनिश्चित करनी होगी। उन्होंने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य सुविधाओं की मजबूती के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। प्रदेश में एक लाख लोगों का मोतियाबिंद का निश्‍शुल्क आपरेशन करेंगे और उनको चश्मे भी देंगे। डायलिसिस के रोगियों को हास्पिटल ले जाने व डायलिसिस होने के बाद घर तक ले जाने की व्यवस्था सरकार ने की है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। डाइबिटीज के मरीजों को अस्पतालों में इंसुलिन के इंजेक्शन फ्री में दिए जाएंगे। इस मौके पर विधायक खजान दास, भाजपा नेता विनय गोयल, सचिव स्वास्थ्य डा. पंकज कुमार पाण्डेय, परियोजना निदेशक सोनिका, महानिदेशक स्वास्थ्य डा. तृप्ति बहुगुणा, अपर परियोजना निदेशक डा. सरोज नैथानी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें-थोड़ी सी सावधानी और डायबिटीज से बच सकते हैं आप, जानें- लक्षण और बचाव के तरीके; इनका जांच कराना जरूरी

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.